'गिलानी को अगर पासपोर्ट चाहिए तो उन्हें स्वीकार करना चाहिए कि वह भारतीय हैं'

By: | Last Updated: Wednesday, 20 May 2015 6:58 PM
Jammu and Kashmir_Peoples Democratic Party_Bharatiya Janata Party_Syed Ali Geelani.

कश्मीर के अलगाववादी नेता सैय्यद अली शाह गिलानी

श्रीनगर: सहयोगी भाजपा की आपत्तियों को नजरअंदाज करते हुए पीडीपी ने आज कहा कि वह अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी को ‘‘मानवीय’’ आधार पर पासपोर्ट देने का आग्रह करेगी. वहीं नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि इसे मुद्दा क्यों बनाया जा रहा है जब उन्हें पहले भी पासपोर्ट दिया गया है.

 

पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा, ‘‘इस मुद्दे को मानवीय आधार पर निपटना होगा और हम मामले को केंद्रीय गृह मंत्रालय के समक्ष उठाएंगे .’’ कट्टरपंथी हुर्रियत धड़े के नेता गिलानी ने सउदी अरब में अपनी बीमार बेटी से मुलाकात करने के लिए पासपोर्ट जारी करने का आवेदन दिया है. मुख्य धारा के कई नेताओं ने अलगाववादी नेता को पासपोर्ट जारी किए जाने की अपील की है.

 

इस मुद्दे पर पीडीपी अध्यक्ष के बयान पर नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने आश्चर्य जताया कि क्या यह सत्तारूढ़ दलों के बीच ‘‘तय मैच’’ है जिसमें महबूबा ‘‘योद्धा’’ के तौर पर उभरने का प्रयास कर रही हैं .

 

उमर ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘यह कौन सी बड़ी बात है ? गिलानी को 2011 में भी पासपोर्ट नहंी दिया गया था फिर महबूबा योद्धा के तौर पर क्यों उभरने का प्रयास कर रही हैं .’’ राज्य सरकार में पीडीपी की सहयोगी भाजपा ने कहा है कि गिलानी को अपनी ‘‘देश विरोधी गतिविधियों’’ के लिए माफी मांगनी चाहिए और स्वीकार करना चाहिए कि वह भारतीय हैं अगर उन्हें भारतीय पासपोर्ट चाहिए .

 

गिलानी के पासपोर्ट पर भाजपा-पीडीपी में मतभेद

 

जम्मू एवं कश्मीर के सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के बीच एक बार फिर मतभेद सामने आए हैं. ताजा मामला अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी के पासपोर्ट से संबंधित है. पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती जहां गिलानी को पासपोर्ट जारी करना चाहती हैं, वहीं भाजपा इसका सख्ती से विरोध कर रही है.

 

गिलानी ने अपनी पत्नी और बेटे के साथ पासपोर्ट के लिए आवेदन दिया है, ताकि वह सऊदी अरब में रह रही अपनी बीमार बेटी को देखने जा सकें. महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि वह इस मामले पर नजर रखेंगी, ताकि गिलानी को पासपोर्ट मिल सके, क्योंकि यह एक मानवीय मुद्दा है. हालांकि इस मामले में आखिरी फैसला गृहमंत्रालय को लेना है.

 

वरिष्ठ पीडीपी नेता और सांसद तारिक हमीद कर्रा भी गिलानी को पासपोर्ट देने के समर्थक हैं. वहीं, भाजपा का कहना है कि गिलानी को केवल एक ही शर्त पर पासपोर्ट दिया जा सकता है कि वह राज्य के भारत में विलय को स्वीकार कर लें और देश के संविधान के प्रति अपनी निष्ठा व्यक्त करें.

 

भाजपा के प्रवक्ता खालिद जहांगीर ने संवाददाताओं को बताया, “जब तक आप यह स्वीकार नहीं करते कि आप भारत के नागरिक हैं और भारत के संविधान में आपकी निष्ठा है तब तक आप भारतीय पासपोर्ट के लिए कैसे आवदेन कर सकते हैं.”

 

गिलानी को वर्ष 2007, 2008 और 2011 में एक साल के लिए सीमित पासपोर्ट जारी किया गया था, लेकिन उस दौरान उन्होंने सऊदी अरब का दौरा नहीं किया था.

 

गिलानी की पत्नी और उनका बेटा मंगलवार को यहां स्थित क्षेत्रीय पासपोर्ट दफ्तर गए थे. गिलानी के अलगाववादी संगठन के सूत्रों ने बताया कि वह औपचारिकताएं पूरी नहीं कर सकते, क्योंकि उन्हें नजरबंद रखा गया है.

 

पुलिस महानिदेशक के. राजेंद्र कुमार ने हालांकि इस दावे को खारिज किया है कि गिलानी को नजरबंद रखा गया है. महबूबा मुफ्ती ने यह भी कहा कि मीरवाइज उमर फरूख, शब्बीर शाह और मुहम्मद यासीन मलिक जैसे अन्य अलगाववादी नेताओं को भारतीय पासपोर्ट दिया गया है और उनमें से दो नेता विदेशी दौरा करते रहे हैं.

 

गिलानी को पासपोर्ट के लिए उचित प्रक्रिया का पालन किया जाना चाहिए : कांग्रेस

 

कांग्रेस ने आज कहा कि हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्टरंपथी धड़े के नेता सैयद अली शाह गिलानी को अपनी बीमार बेटी सउदी अरबिया से मिलने जाने के वास्ते पासपार्ट जारी करने के सिलसिले में उनके आवेदन पर निर्णय लेने के समय उचित प्रक्रिया का पालन किया जाना चाहिए.

 

कांग्रेस महासचिव शकील अहमद ने श्रीनगर में कहा, ‘‘एक निर्धारित प्रक्रिया है जिसका किसी भी व्यक्ति को पासपोर्ट जारी करने के दौरान पालन किया जाना चाहिए. ’’ उनसे जब यह पूछा गया कि क्या कांग्रेस गिलानी को पासपोर्ट जारी किए जाने के पक्ष में है, उन्होंने कहा, ‘‘मैं व्यक्तिगत मामलों से वाकिफ नहीं हूं. ’’

 

जब उनसे कश्मीर में 15 अप्रैल को त्राल में गिलानी की रैली के दौरान पाकिस्तान का झंडा लहराये जाने के बारे में पूछा गया तो कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘अपनी जमीन पर किसी अन्य देश का झंडा लहराना अच्छा नहीं है . ’’ जम्मू में कांग्रेस प्रवक्ता ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘इस मामले पर केंद्र और राज्य सरकारों को चर्चा करनी चाहिए. सरकारों को उनकी गतिविधियों पर विचार करना चाहिए और फिर इस संबंध में निर्णय लेना चाहिए. ’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे कारण नहीं मालूम है कि क्यों गिलानी को पासपोर्ट से वंचित किया गया. यदि कोई व्यक्ति अपनी बेटी से मिलने के लिए या किसी बीमारी के इलाज के लिए या किसी रिश्तेदार की शादी में शामिल होने के लिए विदेश जाने के लिए पासपोर्ट चाहता है तो इस पर निर्णय लेना सरकारों का काम है. ’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Jammu and Kashmir_Peoples Democratic Party_Bharatiya Janata Party_Syed Ali Geelani.
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017