Jammu Kashmir police Says Army man joins Terrorist outfit hizbul mujahideen

हिज्बुल मुजाहिद्दीन में शामिल हुआ सेना का सिपाही, आर्मी ने नहीं की पुष्टि

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि सेना के सिपाही मीर इदरेश सुल्तान शोपियां से शनिवार को लापता हो गए थे. जिसके बाद वह हिजबुल मुजाहिदन से जुड़ गये.

By: | Updated: 17 Apr 2018 11:54 AM
Jammu Kashmir police Says Army man joins Terrorist outfit hizbul mujahideen

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में सेना का एक सिपाही और दो अन्य शख्स कथित तौर पर आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन (एचएम) में शामिल हो गया. किसी सेना के जवान के हिज्बुल में शामिल होने का यह संभवत: पहला मामला है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सेना के सिपाही मीर इदरेश सुल्तान दक्षिण कश्मीर के शोपियां से शनिवार को लापता हो गया था. जिसके बाद रविवार को मीर का एक कथित फोटो सोशल मीडिया पर सामने आया, जिसमें वह एके-47 राइफल के साथ नजर आ रहा है.


शोपियां जिले के सिपाही मीर इदरेश सुल्तान बिहार के कटिहार में सेना की जम्मू-कश्मीर लाइट इन्फेंट्री (जेएकेएलआई) इकाई में तैनात था और उसे झारखंड भेजा जाना था. इस बात से वह नाराज चल रहे थे.


पुलिस अधिकारियों के अनुसार वह 12 अप्रैल को अपने गांव पहुंचा था और शनिवार को वह लापता हो गया. उसके पिता मोहम्मद सुल्तान मीर ने सोमवार को थाने में संपर्क किया और पुलिस से कहा कि उनका बेटा लापता है.


पुलिस अधिकारियों ने बताया कि वह अन्य दो स्थानीय युवक के साथ हिजबुल मुजाहिदन से जुड़ गया है. वैसे आधिकारिक रुप से इसकी पुष्टि नहीं हुई है और पुलिस ने गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज की है. उसने इसकी सूचना सेना के अधिकारियों को दे दी है.


अधिकारियों के अनुसार पुलिस यह पता लगाने के लिए उसके कॉल रिकार्ड एवं अन्य गतिविधियों को खंगाल रही है कि कहीं वह राष्ट्रविरोधी तत्वों के संपर्क में तो नहीं था. सेना का कहना है कि वह ‘लापता’ है और किसी आतंकवादी संगठन में उसके शामिल होने की कोई पुष्टि नहीं हुई है.


बेटा हिज्बुल में हुआ शामिल, मां बोली- देशद्रोही को मारकर उसकी लाश जानवरों के सामने डाल दें

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Jammu Kashmir police Says Army man joins Terrorist outfit hizbul mujahideen
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पश्चिम बंगाल में आधार मजबूत करने के लिए असीमानंद की मदद ले सकती है बीजेपी