जम्मू कश्मीर में छह दशकों में सबसे भीषण बाढ़, मरने वालों की संख्या 48 हुई

By: | Last Updated: Friday, 5 September 2014 4:33 PM
jammu kashmir_flood_srinagar

जम्मू/श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में करीब छह दशकों में सबसे भीषण बाढ़ में आज 28 और लोगों की मौत हो गई. राज्य में स्थिति बिगड़ने के बीच सेना राहत अभियान में शामिल हुई. राज्य में बाढ़ के कारण सड़कों, दर्जनों पुलों, इमारतों तथा फसलों को नुकसान पहुंचा है.

 

बुधवार से जारी भारी बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति बिगड़ गई जिसमें अब तक 48 लोगों की मौत हो गई और जनजीवन प्रभावित हुआ. राज्य के स्कूल और कालेज सोमवार तक बंद हैं जबकि कश्मीर के विश्वविद्यालयों ने दो दिन के लिए सभी काम रोक दिये हैं.

 

जम्मू क्षेत्र के लगभग सभी 10 जिले प्रभावित हैं. झेलम नदी और कई अन्य नदियां उफान पर हैं जिससे कश्मीर के पांच जिलों के ज्यादातर इलाके जलमग्न हो गये हैं और इससे 10 लोगों की मौत हुई. घाटी के दस में से तीन अन्य जिले भी प्रभावित हुए हैं.

 

श्रीनगर में झेलम खतरे के निशान से 4 . 40 फुट उपर 22 . 40 फुट पर बह रही है जिससे शहर के कई क्षेत्र पानी में डूब गये हैं.

 

मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला बचाव अभियान पर नजर रखने के लिए रात में श्रीनगर के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में थे और उन्होंने आज दक्षिण कश्मीर के कई बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया.

 

उमर ने कल देर रात बरजुला के हड्डी अस्पताल से मरीजों को सुरक्षित निकालने के काम का भी निरीक्षण किया.

 

अधिकारियों ने कहा कि जम्मू क्षेत्र में आज 19 लोगों की मौत हुई और राजौरी जिले में कल 50 बारातियों के बहने से जुड़े बस हादसे के पांच पीड़ितों के शव बरामद हुए.

 

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि राजौरी जिले के थानामंडी में भूस्खलन में दबे एक घर में 10 लोगों की मौत हो गई. कुछ अन्य लोग लापता है तथा बचाव अभियान चल रहा है.

 

राजौरी जिले के सुंदरबनी और दरहाल इलाकों में दो और लोगों की मौत हो गई. जम्मू में यहां नहर से दो लोगों के शव मिले जो पानी में बह गये थे. रियासी में चार और उधमपुर जिले में एक व्यक्ति की मौत हुई है.

 

कश्मीर में आज चार लोगों के बह जाने से कुल संख्या 10 हो गई. मध्य कश्मीर के बडगाम जिले में सुखनाक नाला के पानी में आज तीन लोग बह गये जबकि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में विष्णु नाला में एक अन्य युवक डूब गया.

 

आज की मौतों के साथ, राज्य में बाढ़ और भूस्खलनों से मरने वालों की संख्या 48 हो गई.

 

जम्मू कश्मीर सरकार ने रेड अलर्ट जारी किया क्योंकि जम्मू क्षेत्र में सभी नदियां खतरे के निशान के उपर बह रही हैं. अधिकारियों ने कहा कि 60 छोटे और बड़े सड़क संपर्क टूट गये हैं और 30 पुल पानी में बह गये हैं जिससे राहत एवं बचाव अभियान प्रभावित हो रहा है.

 

एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि यह कश्मीर के हालिया इतिहास की सबसे भीषण बाढ़ है.

 

सेना ने जम्मू कश्मीर में खोजी, बचाव एवं राहत अभियानों के लिए सैनिकों के 85 कालम (हर कालम में 75 से 100 सैनिक) तैनात किये हैं और ढाई हजार से अधिक लोगों को अब तक बचाया गया है.

 

सेना ने पंजाब के अपने भठिंडा शिविर से राहत सामग्री के साथ दो एएन 32 विमान भेजे हैं.

 

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह कल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) जितेंद्र सिंह के साथ जम्मू के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: jammu kashmir_flood_srinagar
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017