जम्मू कश्मीर में बाढ़ से आधारभूत ढांचे को 6,000 करोड़ रूपये का नुकसान

By: | Last Updated: Sunday, 14 September 2014 5:54 AM

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में एक सदी से अधिक समय की सबसे भयावह बाढ़ से सार्वजनिक आधारभूत ढांचे को भारी नुकसान पहुंचा है और अधिकारियों का कहना है कि राज्य को इस ढांचे के पुनर्निर्माण के लिए कम से कम 5,000 करोड़ रूपये की जरूरत होगी.

 

राज्य सरकार के राजस्व, राहत, पुनर्वास विभाग के सचिव विनोद कौल ने प्रेट्र को बताया कि पुलों, सड़कों, अस्पतालों और अन्य सरकारी इमारतों जैसे सार्वजनिक आधारभूत ढांचे को अनुमानत: 5,000 से 6,000 करोड़ रूपये तक का नुकसान पहुंचा है.

 

कौल ने बताया कि पिछले हफ्ते राज्य के दौरे पर आए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को दी गई जानकारी में सार्वजनिक ढांचे को अनुमान के हिसाब से करीब 1,000 करोड़ रूपये का नुकसान बताया गया था.

 

बहरहाल, उस समय श्रीनगर शहर बाढ़ से अप्रभावित था.

 

उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में भारी नुकसान हुआ है क्योंकि यहां अधिकतर सरकारी इमारतें बाढ़ से प्रभावित हुई हैं.

 

चार जिलों, अनंतनाग, कुलगाम, शोपियां और पुलवामा में फैले दक्षिण कश्मीर के अधिकांश हिस्से सितंबर के शुरूआती दिनों में बाढ़ की चपेट में आए थे, वहीं श्रीनगर शहर का 60 फीसदी हिस्सा 7 सितंबर को झेलम के रौद्र रूप का शिकार बना.

 

शहर के पांच अस्पतालों को झेलम के कहर के चलते काफी नुकसान पहुंचा है. इनमें काका सराय स्थित एसएमएचएस अस्पताल, वजीरबाग स्थित लल्ला देद अस्पताल, बेमिना स्थित एसकेआईएमएस अस्पताल, बाराजुला स्थित हड्डी एवं जोड़ अस्पताल और सोनावर स्थित जीबी पंत अस्पताल शामिल हैं. बाढ़ से कम से कम 50 छोटे और बड़े पुल नष्ट हो गए हैं तथा कई महत्वपूर्ण सड़कें काफी लंबाई तक पानी में बह गईं हैं.

 

उक्त रिपोर्टें श्रीनगर के बाढ़ की चपेट में आने से पहले की अवधि की हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: jammu_kashmir_flood
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017