जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात के लिए खोला गया

By: | Last Updated: Tuesday, 16 September 2014 5:58 AM
jammu_srinagar_nationa_highway-opened

नई दिल्ली: लगातार बारिश की वजह से भूस्खलन होने के बाद 13 दिन तक बंद रहे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को आज यातायात के लिए खोल दिया गया जिससे बाढ़ प्रभावित कश्मीर घाटी में राहत के लिए किए जा रहे प्रयासों में तेजी आएगी.

 

इस महत्वपूर्ण सड़क संपर्क की मरम्मत सीमा सड़क संगठन और सेना के इंजीनियरों ने की.

 

एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया ‘‘बीआरओ और सेना के इंजीनियरों के सतत प्रयासों के बाद जम्मू..श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को आज खोल दिया गया.’’ उन्होंने बताया कि उधमपुर स्थित सेना की नॉर्दन कमांड के मुख्यालय के चीफ इंजीनियर ने इंजीनियरों को तैनात किया और विशेष उपकरणों की मदद से, भूस्खलन का मलबा हटाया गया और सड़क की मरम्मत की गई. भूस्खलन कई जगह हुआ था.

 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया ‘‘रामबन जिले में राजमार्ग को भूस्खलन की वजह से बंद कर दिया गया था और इसका कुछ हिस्सा पानी में बह भी गया था. मरम्मत के बाद इसे यातायात के लिए पुन: खोल दिया गया.’’ रामबन जिले में 2 और 3 सितंबर की मध्य रात्रि को भूस्खलन की कई घटनाएं हुईं और अचानक बाढ़ आ गई जिससे इस राजमार्ग का 5 किमी हिस्सा बह गया और कई जगहों पर सड़क जलमग्न हो गई.

 

पुलिस अधिकारी ने बताया ‘‘राजमार्ग को सिर्फ हल्के मोटर वाहनों के लिए ही खोला गया है.’’ राजमार्ग पर 3000 से 4000 वाहन, खास कर आपूर्ति ले जा रहे ट्रक यातायात बंद होने की वजह से फंसे थे.

 

इससे पहले, सेना के इंजीनियरों ने 9 सितंबर को बाढ़ प्रभावित कश्मीर घाटी का लद्दाख से सड़क संपर्क बहाल किया था और 13 सितंबर को किश्तवाड़ होते हुए सिंथन दर्रा मार्ग की सफाई की थी. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि रामबन के समीप रामसू में हुआ भीषण भूस्खलन राजमार्ग खोलने में बड़ी बाधा था. इस जगह पर सड़क का 300 मीटर से अधिक हिस्सा पानी में बह गया और 80 डिग्री की ढलान वाली चट्टान रह गई थी.

 

उन्होंने बताया कि पहाड़ी वाले पूरे हिस्से को नए सिरे से खोदना पड़ा और 12 सितंबर को फिर से भूस्खलन हो गया जिसकी वजह से काम दोबारा करना पड़ा.

 

प्रवक्ता ने बताया ‘‘इंजीनियरों ने दिन रात अथक परिश्रम किया और पहाड़ी ढलान से नया रास्ता बनाया. बुधाल के समीप अंस नदी पर नया पुल बनाने के लिए काम चल रहा है जो दो दिन में पूरा हो जाएगा. सेना के कई पुल बनाए जा चुके हैं. भूस्खलन वाली 40 से अधिक जगहों को सैपर्स साफ कर चुके हैं.’’ सेना के इंजीनियरों को सैपर्स कहा जाता है.

 

उन्होंने बताया कि कई जगहों पर बिखरा मलबा हटाया जा रहा है और विभिन्न सड़कों की सफाई की जा रही है ताकि राज्य में सभी सड़कों पर यातायात बहाल हो सके.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: jammu_srinagar_nationa_highway-opened
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017