J&K: अरनिया में रिहायशी इलाकों में पाकिस्तान की फायरिंग जारी, BSF का मुंहतोड़ जवाब

J&K: अरनिया में रिहायशी इलाकों में पाकिस्तान की फायरिंग जारी, BSF का मुंहतोड़ जवाब

एक अगस्त तक सीजफायर उल्लंघन के 287 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि साल 2016 में 228 बार पाकिस्तान ने युद्धविराम तोड़ा था.

By: | Updated: 22 Sep 2017 06:56 AM
जम्मू: अंतर्राष्ट्रीय मंच पर आतंकवाद को लेकर अपनी फजीहत के बाद भी पाकिस्तान सुधरने का नाम नहीं ले रहा है.  उसने कल देर रात एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है. रात 12 बजे के करीब पाकिस्तान की तरफ से जोरदार मोर्टार शेलिंग की गई है.

इस दौरान जम्मू और पुंछ जिलों में पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी और गोलाबारी में बीएसएफ के एक जवान और एक असैन्य व्यक्ति की जान चली गई और 12 अन्य घायल हो गए थे. पाकिस्तानी रेंजर्स ने 17 और 18 सितंबर की दरम्यानी रात अरनिया सेक्टर में बिना उकसावे के गोलीबारी की और बाद में मोर्टार दागे.

पाकिस्तान की तरफ से रिहाइशी इलाकों को निशाना बनाकर की जा रही शेलिंग का बीएसएफ के जवान मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं. कल दोपहर भी पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सेना के गश्ती दल पर गोलीबारी की थी, जिसमें एक सैनिक शहीद हो गया था.

शहीद को अंतिम विदाई आज

पाकिस्तान की तरफ से हुई गोलीबारी मे सेना के शहीद जवान राजेश खत्री का अंतिम संस्कार आज किया जाएगा. उससे पहले सुबह 9 बजे श्रीनगर में शहीद को श्रद्धाजलि दी जाएगी. इसके बाद पार्थिव शरीर सुबह 11 बजे एयरक्राफ्ट से वाराणसी भेजा जाएगा, जहां अंतिम संस्कार किया जाएगा. शहीद राजेश नेपाल के रहने वाले थे.

एक अगस्त तक सीजफायर उल्लंघन के 287 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि साल 2016 में 228 बार पाकिस्तान ने युद्धविराम तोड़ा था.

पाकिस्तान कभी आतंकियों को भारत भेजने के लिए घुसपैठ कराता है. तो कभी सीमा पार से फायरिंग करता है. अंतर्राष्ट्रीय मंच पर आतंकवाद को लेकर अपनी फजीहत करा चुका पाकिस्तान सुधरने को तैयार नहीं दिख रहा है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कल शाम चार बजे से ABP न्यूज पर देखिए गुजरात और हिमाचल का सबसे सटीक एग्जिट पोल