जेएनयू पैनल ने उमर, अनिर्बान को नफरत बढ़ाने का ‘दोषी’ पाया

By: | Last Updated: Wednesday, 16 March 2016 8:50 AM
jnu panel finds umar and anirban involved in spreading hatred

नई दिल्ली: जेएनयू (जवाहर लाल यूनिवर्सिटी) के उच्च स्तरीय जांच पैनल ने देशद्रोह मामले में अभी न्यायिक हिरासत में जेल में बंद दो छात्रों उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को नफरत, जातिगत या क्षेत्रीय भावनाएं भड़काने या छात्रों के बीच कटुता फैलाने का ‘दोषी’ पाया है. उप महानिरीक्षक (कारागार) तिहाड़ जेल के जरिए अनिर्बान और उमर को भेजे गए कारण बताओ नोटिस में यूनिवर्सिटी ने उन्हें चार आरोपों के तहत ‘दोषी’ माना है.

जिन आरोपों के तहत अनिर्बान को दोषी माना गया है उस भेजे गए कारण बताओ नोटिस में जिक्र है, ‘‘यूनिवर्सिटी को गलत सूचना देना. सांप्रदायिक, जाति या क्षेत्रीय भावनाओं को भड़काना या छात्रों के बीच कटुता बढ़ाना.’’ अनिर्बान को भेजे नोटिस में कैंपस में किसी व्यक्ति का अनाधिकार प्रवेश या यूनिवर्सिटी परिसर के किसी हिस्से पर कब्जा करना या उसमें सहयोग करना का भी उल्लेख है. उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि उमर के खिलाफ भी वही आरोप लगाए गए हैं.

पांच सदस्यीय कमिटी ने यूनिवर्सिटी के नियमों और अनुशासनात्मक नियमों के उल्लंघन का ‘दोषी’ पाए जाने पर अनिर्बान और उमर समेत 21 छात्रों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: jnu panel finds umar and anirban involved in spreading hatred
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017