Journalist vinod verma is sent into police custody for 31 october।पत्रकार विनोद वर्मा को 31 अक्तूबर तक पुलिस हिरासत में भेजा गया

पत्रकार विनोद वर्मा को 31 अक्तूबर तक पुलिस हिरासत में भेजा गया

ब्लैकमेलिंग और जबरन वसूली के एक कथित मामले में गाजियाबाद से गिरफ्तार किए गए पत्रकार विनोद वर्मा को एक स्थानीय अदालत ने 31 अक्तूबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है. उन्हें छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया था.

By: | Updated: 30 Oct 2017 09:53 AM
Journalist vinod verma is sent into police custody for 31 october

रायपुर: ब्लैकमेलिंग और जबरन वसूली के एक कथित मामले में गाजियाबाद से गिरफ्तार किए गए पत्रकार विनोद वर्मा को एक स्थानीय अदालत ने 31 अक्तूबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है. उन्हें छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया था.


वर्मा के वकील फैजल रिजवी ने बताया कि कल रात गाजियाबाद से ट्रांजिट रिमांड पर लाये गये वर्मा को आज शाम ज्युडीशियल मजिस्ट्रेट एस पी त्रिपाठी की अदालत में पेश किया गया. उन्होंने बताया कि अदालत ने उन्हें 31 अक्तूबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है.


वहीं बचाव पक्ष के वकील के मुताबिक पत्रकार ने सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत एक अर्जी देते हुए यह दावा किया कि उन्हें फंसाया गया है.


रिजवी ने बताया कि वर्मा ने आरोप लगाया है कि छत्तीसगढ़ के दो प्रभावशाली मंत्रियों ने उनके खिलाफ साजिश रची और उनके पास से कोई सीडी जब्त नहीं हुई है. वकील ने यह भी बताया कि पुलिस हिरासत में विनोद वर्मा की जान को खतरा है.


मालूम हो कि शुक्रवार को गाजियाबाद में गिरफ्तार किए जाने के बाद वर्मा ने कहा था कि छत्तीसगढ़ के एक मंत्री के खिलाफ उनके पास एक सेक्स टेप है इसलिए उन्हे गिरफ्तार किया जा रहा है. वहीं रायपुर पुलिस के मुताबिक प्रकाश बजाज द्वारा दर्ज करायी गई एक शिकायत के आधार पर वर्मा को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ ब्लैकमेलिंग और जबरन वसूली का मामला दर्ज किया गया है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Journalist vinod verma is sent into police custody for 31 october
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गुजरात और हिमाचल में जीतने के बाद 2019 का प्लान बनाने में जुटी बीजेपी