supreme court, Judge B S Loya, anuj, inquiry,

जज लोया के बेटे ने पिता की मौत की जांच से किया इनकार, कहा- 'किसी पर कोई शक नहीं'

जब अनुज से पूछा गया कि क्या उनके पिता की मौत के मामले की जांच कराई जाए तो उनका सीधा कहना था कि उन्हें जब किसी पर संदेह नहीं है तो जांच की बात कहां से आती है. हालांकि, अनुज जिस तरह मीडिया में पेश हुए, वो परेशान लग रहे थे.

By: | Updated: 14 Jan 2018 08:27 PM
Judge B S Loya’s son says, I have no doubt and no need of inquiry
मुंबई/नई दिल्ली: सीबीआई के स्पेशल जज रहे बीएच लोया की संदिग्ध परिस्थियों की मौत के मामले में आज पहली बार उनके बेटे अनुज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और अपने पिता की मौत को लेकर किसी पर आरोप लगाने से साफ इनकार किया. अनुज ने अपने पिता लोया की मौत की जांच को भी खारिज किया.

अनुज ने मीडिया के सामने कहा, "मैं साफ करना चाहता हूं कि मौत के तुरंत के बाद हम लोग सदमे में थे, तब हम लोगों को संदेह था, लेकिन अब अपने पिता की मौत को लेकर किसी पर कोई आरोप नहीं हैं. हमारे परिवार को भी कोई संदेह नहीं है."

इसके साथ ही अनुज ने मीडिया से अनुरोध किया कि उनके परिवार को परेशान नहीं किया जाए. अनुज का कहना था कि उनका परिवार अब इस सदमे से बाहर निकलना चाहता है, लेकिन ऐसी चर्चाओं से वो तकलीफ में चले जाते हैं.

अनुज ने हाथ जोड़कर कहा, "मेरी गुजारिश है कि हमें न परेशान किया जाए और न हमें मुसीबत में डाला जाए."

जब अनुज से पूछा गया कि क्या उनके पिता की मौत के मामले की जांच कराई जाए तो उनका सीधा कहना था कि उन्हें जब किसी पर संदेह नहीं है तो जांच की बात कहां से आती है. हालांकि, अनुज जिस तरह मीडिया में पेश हुए, वो परेशान लग रहे थे.



आपको बता दें कि बीएच लोया के बेटे की प्रेस कॉन्फ्रेंस ऐसे वक्त हुई है, जब शुक्रवार को जज लोया और दूसरे मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ बगावत कर दी है. जजों के पास केस भेजने के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को मनमाना बताया गया है.

याद रहे कि जज लोया की मौत के मामला पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई, जिसे कल यानि सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में इसकी सुनवाई होनी है.

आपको बता दें कि जज बीएच लोया की मौत एक दिसंबर 2014 में संदिग्घ परिस्थियों में हो गई थी. तब मौत की वजह हार्ट अटैक से बताई गई थी. जब जज लोया की मौत हुई उस वक्त वो सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे थे.

जज लोया की मौत का मुद्दा मीडिया में आने बाद बॉम्बे हाई कोर्ट लॉयर्स एसोसिएशन ने लोया की मौत की जांच की मांग की है. इसे लेकर उन्होंने एक जनवरी 2018 को हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में थे अमित नाईक 

loya 6

खास बात ये है कि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में नाईक नाईक एंड कंपनी के अमित नाईक भी मौजूद थे. नाईक 2004 से मुंबई में लॉ फर्म चला रहे हैं. उनके लॉ फर्म का दफ्तर नरीमन प्वाइंट में है. ये कंपनी बैंकक्रप्सी, रियल स्टेट, कॉरपोरेट लॉ और डिजिटल प्लेटफॉर्म को लेकर काम करती है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Judge B S Loya’s son says, I have no doubt and no need of inquiry
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story लाभ का पद मामले में केजरीवाल के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द, ये रही पूरी लिस्ट