बोफोर्स मामले की सुनवाई से अलग हुए जस्टिस खानविलकर, दूसरी बेंच का होगा गठन | justice khanwilkar recuses from hearing of bofors case

बोफोर्स मामले की सुनवाई से अलग हुए जस्टिस खानविलकर, दूसरी बेंच का होगा गठन

दिल्ली हाईकोर्ट ने 31 मई 2005 को फैसला सुनाते हुए मामले के सभी आरोपियों के खिलाफ सभी आरोप खारिज कर दिए थे.

By: | Updated: 13 Feb 2018 04:29 PM
justice khanwilkar recuses from hearing of bofors case

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस ए एम खानविलकर ने राजनीतिक रूप से संवेदनशील 64 करोड़ रुपये के बोफोर्स भुगतान मामले की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया है. जस्टिस खानविलकर, चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ का हिस्सा थे. उन्होंने मामले की सुनवाई से अलग रहने का विकल्प चुनने का कोई कारण नहीं बताया है.


इस पीठ में जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ भी शामिल थे. पीठ ने कहा है कि 28 मार्च को मामले की सुनवाई के लिए नई पीठ का गठन किया जाएगा. दिल्ली हाईकोर्ट ने 31 मई 2005 को फैसला सुनाते हुए मामले के सभी आरोपियों के खिलाफ सभी आरोप खारिज कर दिए थे.


बीजेपी नेता अजय अग्रवाल ने अदालत के इस आदेश को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी, जिसकी सुनवाई इस पीठ को करनी थी. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की दूसरी बेंच इस मामले में अब 28 मार्च को सुनवाई करेगी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: justice khanwilkar recuses from hearing of bofors case
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story SSC CHSL Tier I: एसएससी ने जारी किया एडमिट कार्ड, ऐसे करें डाउनलोड