बीजेपी के राज में कलाम बने राष्ट्रपति, कार्यकाल की कुछ खास बातें

By: | Last Updated: Monday, 27 July 2015 4:39 PM
kalam as a president

नई दिल्लीः 1997 में भारत के सर्वाच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित मिसाइल मैन डॉ0 कलाम 25 जुलाई 2002 को भारत के ग्यारहवें राष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित हुए. वे 25 जुलाई 2007 तक इस पद पर रहे.

 

किसी ने इसे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(एनडीए) का गुजरात दंगों के बाद उठाया गया कदम माना तो किसी को यह चिंता सता रही थी कि कहीं कलाम एनडीए की रबर स्टैंप न बन जाए.

 

अख़बार उनके फ़िल्मी सितारों जैसे बालों पर टिप्पणियाँ कर रहे थे तो आम जनता आश्चर्यचकित थी. उस वक्त पूरा भारत गुजरात दंगो से चर्चा में था. हिन्दू और मुसलमान के बीच बढ़ते दायरे और आने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने उन्हें राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बना दिया.

 

इन्हें भारतीय जनता पार्टी समर्थित एन॰डी॰ए॰ घटक दलों ने अपना उम्मीदवार बनाया था जिसका वामदलों के अलावा समस्त दलों ने समर्थन किया. 18 जुलाई 2002 को डॉक्टर कलाम को नब्बे प्रतिशत बहुमत द्वारा ‘भारत का राष्ट्रपति’ चुना गया था और इन्हें 25 जुलाई 2002 को संसद भवन के अशोक कक्ष में राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई गई. इस संक्षिप्त समारोह में प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, उनके मंत्रिमंडल के सदस्य तथा अधिकारीगण उपस्थित थे. इनका कार्याकाल 25 जुलाई 2007 को समाप्त हुआ

 

यूं तो डॉक्टर अब्दुल कलाम राजनीतिक क्षेत्र के व्यक्ति नहीं थे लेकिन राष्ट्रवादी सोच और राष्ट्रपति बनने के बाद भारत की कल्याण संबंधी नीतियों के कारण इन्हें कुछ हद तक राजनीतिक दृष्टि से सम्पन्न माना गया.

 

अपना कार्यकाल खत्म करने के बाद उन्होंने दोबारा चुनाव न लड़ने का फैसला किया और जाते-जाते पत्रकार वार्ता में एपीजे अब्दुल कलाम ने कहा था, “मैं कहीं नहीं जा रहा हूँ. मैं भारत के एक अरब लोगों के साथ ही रहूँगा.”

 

यह जवाब और इसकी सच्चाई में ही कुछ ऐसी बात है जो कलाम को एक अलग रुतबा देती है.

 

कार्यकाल

लेकिन पाँच साल बाद जब अब्दुल कलाम राष्ट्रपति पद का अपना कार्यकाल पूरा कर रहे हैं तो चर्चा का विषय कुछ और ही हैं.

 

आज बात हो रही है उनकी सादगी की, सच्चाई की और राजसी शानो-शौकत वाले राष्ट्रपति भवन को आम आदमी के लिए खोल देने की.

 

अब्दुल कलाम के राष्ट्रपति पद के कार्यकाल का आकलन करने पर बिहार में राष्ट्रपति शासन के लिए उनकी अनुमति ने खलबली मचाई थी. ये ग़लत और ज़ल्दबाज़ी में लिया गया फ़ैसला था जिसे बाद में सर्वोच्च न्यायालय ने बदल भी दिया.

 

कलाम ने अपने कार्यकाल के दौरान भारतीय राजनीतिक व्यवस्था की दाँव-पेचों में उलझने की कोशिश नहीं की.

 

बतौर राष्ट्रपति अपने कार्यकाल में कलाम को 21 दया याचिकाओं में से 20 के संबंध में कोई फैसला नहीं करने को लेकर आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा. कलाम ने अपने पांच साल के कार्यकाल में केवल एक दया याचिका पर कार्रवाई की और बलात्कारी धनंजय चटर्जी की याचिका को नामंजूर कर दिया जिसे बाद में फांसी दी गयी थी.

 

कांग्रेस पार्टी की तरफ से ये बयान आते थे कि “कलाम के रूप में हमें राष्ट्रपति पद पर एक ऐसा व्यक्ति मिला जो हमेशा भारत के विकास की चिंता करता रहा. राजनीति में कुछ लोग किसी को भी विवादास्पद बना देते हैं लेकिन कुल मिलाकर मैं यही कहूँगा कि उनका कार्यकाल साफ़-सुथरा ही रहा.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: kalam as a president
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

  नई दिलली: राजधानी दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में महिला से छेड़खानी का एक सनसनीखेज मामला...

आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त
आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त

गुरुवार को एडीआर के एक कार्यक्रम में चुनाव आयुक्त ने कहा, जब चुनाव निष्पक्ष और साफ सुथरे तरीके...

भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया
भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया

नई दिल्ली: डोकलाम को लेकर चीन से तनातनी के बीच भारत को जापान का समर्थन मिला है. जापान ने डोकलाम...

2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा
2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा

नई दिल्ली: दिल्ली की आप सरकार तेजाब हमलों के उन मामलों पर विचार करेगी, जो सरकार की 2015 में...

बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने  बच्चे को जन्म दिया
बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने बच्चे को जन्म दिया

चंडीगढ़: बलात्कार पीड़ित एक 10 साल की लड़की ने कल अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया. लड़की के...

‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां
‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां

नई दिल्ली:  लगभग एक दर्जन से ज्यादा विपक्षी पार्टियों ने कल एक मंच पर आकर आरएसएस पर तीखा हमला...

गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई
गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'
मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'

नागपुर: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता मनमोहन वैद्य ने कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल...

गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत
गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में बच्चों की मौत का सिलसिला...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017