Karnataka Assembly Election 2018: ticket distribution becomes bone of contention

कांग्रेस ने अपने कई मौजूदा विधायकों के काटे टिकट, पार्टी समर्थकों ने किया जमकर बवाल

कर्नाटक विधानसभा में जिन-जिन मौजूदा विधायकों के टिकट कटे हैं, उनके समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है. टिकट बंटवारे पर भाई-भतीजावाद के आरोप लग रहे हैं, जिससे पार्टी नेताओं में खासी नाराज़गी जाहिर की है.

By: | Updated: 16 Apr 2018 02:09 PM
Karnataka Assembly Election 2018: ticket distribution becomes bone of contention

बेंगलुरु: कांग्रेस ने कर्नाटक विधानसभा चुनावों के लिए कुल 224 में से 218 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नामों का एलान कर दिया है. जिन-जिन मौजूदा विधायकों के टिकट कटे हैं, उनके समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है. टिकट बंटवारे पर भाई-भतीजावाद के आरोप लग रहे हैं, जिससे पार्टी नेताओं में खासी नाराज़गी जाहिर की है.


तिपतुर विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक सढ़ाक्षरी का टिकिट काटे जाने से नाराज उनके समर्थकों ने प्रदर्शन किया. उनके समर्थकों ने आज तिपतुर बंद का आह्वान किया और पार्टी को चेतावनी दी कि अगर मौजूदा विधायक को टिकिट नहीं मिला तो पंचायत से लेकर जिला स्तर तक कांग्रेस के सभी छोटे बड़े नेता सामूहिक इस्तीफा दे देंगे.


सढ़ाक्षरी की जगह इस बार पार्टी ने JDS छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाले बी नंजामरी को टिकिट दिया है. हावेरी के हुनगल से मौजूदा विधायक मनोहर ताशीलदार का भी टिकट काटा गया है. टिकट न दिए जाने से नाराज उनके समर्थक जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं. इस सीट पर टिकट की आस लगाए चंद्रप्पा जालधर के समर्थकों ने भी हंगामा किया.


नेलमंगला में कांग्रेस के पूर्व मंत्री अंजनामूर्ति के समर्थक प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बार उन्हें टिकट मिलने की उम्मीद थी लेकिन उनकी जगह बेंगलुरु के पूर्व मेयर नारायण स्वामी को टिकिट दिया गया है. कर्नाटक के टुमकुर जिले में कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आरोप है कि अच्छे लोगों को टिकट नही दिया गया है. राष्ट्रीय राजमार्ग-4 को जाम किया गया.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Karnataka Assembly Election 2018: ticket distribution becomes bone of contention
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजिन्दर सच्चर का निधन, 'सच्चर कमेटी' के रहे थे अध्यक्ष