Kashmiri pandit and Anupam Kher

Kashmiri pandit and Anupam Kher

By: | Updated: 12 Apr 2015 05:06 PM

नई दिल्ली: कश्मीरी पंडितों को आज देश में मिली एक नई आवाज़. और ये आवाज़ देने वाला वह चेहरा है बॉलीवुड का चर्चित जाना माना नाम अनुपम खेर. जो खुद को एक विस्थापित कश्मीरी पंडित मानता है.

 

कश्मीरी पंडितों के लिए काम करने वाली संस्था रूट्स इन कश्मीर के नाम से आज दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया जिसमें अनुपम खेर ने अपनी बात रखी. अनुपम खेर ने कहा की वह हज़ारों कश्मीरी पंडितों के तरह ही वह चाहतें हैं की कश्मीरी पंडितों को अलग से बसाया जाए. उन्होंने कहा की मोदी सरकार जिस स्मार्ट सिटी की बात करते हैं क्यों न उसकी पहली मिसाल कश्मीर में कश्मीरी पंडितों के लिए स्मार्ट सिटी बना कर रखी जाए.

 

अपनी इस सोच के पीछे उन्होंने वजहें भी गिनाई. उनका कहना है कि अगर कश्मीरी पंडितों को सबके साथ रहने को कहा जाता है तो वह भय के साये में ही हमेशा जियेंगे. जिन लोगों ने उनको अपने ही देश में बेघर किया, जिनकी वजह से 25 सालों तक कई कश्मीरी पंडित रिफ्यूजी कहलाने को मज़बूर हुए, उनके साथ रहने की बात कोई भला कैसे कह सकता है.

 

गौरतलब है कि पिछले दिनों देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीरी पंडितों को अलग से टाउनशिप में बसने को लेकर अपन पक्ष रखा था. जिसके बाद अलगवादी गुटों ने इसका सख्त विरोध किया था. कश्मीर में बीजेपी और पीडीपी की सरकार है और राज्य की पीडीपी सरकार को भी केंद्र का ये रुख मंज़ूर नहीं.

 

अनुपम खेर ने ये भी कहा कि उन्हें ऐसी ताक़तों पर ध्यान नहीं देना चाहिये क्योंकि कुछ मुट्ठी भर लोग हैं. उन्होंने ये भी कहा कि धरा 370 भी खत्म होना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने जोड़ा कि वह चाहेंगे कि प्रधानमंत्री इस मुद्दे पर कश्मीरी पंडितों का भी पक्ष सुने.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मुंबई में 240 करोड़ में बिका लक्जरी फ्लैट, 4,500 स्क्वायर फीट की एरिया में फैला हुआ है