विरोध प्रदर्शन में आलगाववादियों के साथ आए कुछ कश्मीरी पंडित

By: | Last Updated: Saturday, 11 April 2015 4:09 AM

श्रीनगर: कश्मीर घाटी में रहने वाले कुछ कश्मीरी पंडित भी इस समुदाय के लिए प्रस्तावित अलग टाउनशिप के खिलाफ अलगाववादी जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए जिस दौरान यहां और बारामूला में हुए पथराव में आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए.

 

शिक्षाविद पंडित विशिन जी, पंडित मोती लाल भट, सामाजिक कार्यकर्ता कुमार जी वांचू, व्यापारी मोती लाल धर और इस समुदाय की कई महिलाओं ने यहां मैसुमा में जुम्मे की नमाज के बाद विरोध प्रदर्शन में जेकेएलएफ के अध्यक्ष मोहम्मद यासीन मलिक के साथ आए.

 

जेकेएलएफ के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘यह मार्च लाल चौक की ओर गया और उस दौरान लोग ‘संग संग जीयेंगे और संग संग मरेंगे’ के नारे लगा रहे थे.’’ कश्मीरी पंडितों ने संवाददाताओं से कहा कि पृथक बस्तियां बनाने की कोई जरूरत या उपयोगिता नहीं है. विशिन जी ने कहा, ‘‘इन बस्तियों से किसी को राजनीतिक लाभ मिल सकता है पंडितों को कभी कोई लाभ नहीं मिल सकता.’’

 

उन्होंने कहा कि केवल बहुसंख्यक समुदाय ही अल्पसंख्यकों की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकती है और अलग होमलैंड बनाने से समुदायों के बीच दूरियां और बढ़ेंगी. उन्होंने कहा, ‘‘मुसलमानों के मोहल्लों में रह रहे पंडितों को कोई खतरा नहीं है जो आज यहां हमारी उपस्थिति से स्पष्ट होता है.’’

 

मलिक ने कहा कि कश्मीरी पंडित, सिख और अन्य सभी धर्मावलंबी कश्मीरी समाज के अहम हिस्सा हैं और घाटी के मुसलमानों की भांति वे भी इस जमीन के मालिक हैं. उन्होंने कहा, ‘‘हम घाटी में उनकी वापसी का विरोध नहीं कर रहे हैं, हम अलग बस्तियों के नाम पर इस्राइली प्रकार की बस्तियां बसाकर घृणा की दीवार खड़ी करने की साजिश का विरोध कर रहे हैं.’’

 

बुदशाह चौक पर इस मार्च को कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने तितर बितर कर दिया. पुलिसकर्मियों ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए लाठी चार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े. बाद में कुछ युवकों ने पुलिस और अर्धसैनिक बलों पर पथराव किया जिससे दोनों पक्षों में करीब एक घंटे तक झड़प चली.

 

पुलिस ने कहा कि इलाके में सामान्य स्थिति बहाल कर दी गयी है और कोई घायल नहीं हुआ. बारामूला जिले से भी विरोध प्रदर्शन के दौरान पथराव होने की खबर है. जेकेएलएफ और हुर्रियत कांफ्रेंस समेत अलगाववादी संगठनों ने घाटी में कश्मीरी पंडितों के लिए अलग टाउनशिप के मुद्दे को लेकर विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया था.

 

मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने राज्य विधानसभा में स्पष्ट किया था कि कश्मीरी पंडितों के लिए अलग टाउनशिप की कोई योजना नहीं है लेकिन अल्पसंख्यक समुदाय की घाटी में वापसी के लिए कदम उठाए जाएंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Kashmiri Pandits join JKLF protest against separate township
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने साल 2016 के जाट आंदोलन के दौरान सोनीपत के निकट मुरथल में...

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट...

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017