Kathua rape case Lawyer Facing Threats From Jammu Bar wants case transferred to other State

कठुआ गैंगरेप: धमकियों से परेशान वकील ने कहा, केस की सुनवाई दूसरे राज्य में ट्रांसफर के लिए SC जाएंगे

कठुआ गैंगरेप कांड में पीड़ित पक्ष की वकील दीपिका सिंह राजावत ने एबीपी न्यूज़ से कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट जाएंगे और निवेदन करेंगे की केस को दूसरे राज्य में ट्रांसफर किया जाए. हमारे सबूतों को देखा जाए. हमें धमकियां मिल रही है.

By: | Updated: 15 Apr 2018 02:52 PM
Kathua rape case Lawyer Facing Threats From Jammu Bar wants case transferred to other State

जम्मू: कठुआ गैंगरेप कांड में पीड़ित पक्ष की वकील दीपिका सिंह राजावत केस की सुनवाई दूसरे राज्य में करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करेंगी. महिला वकील का दावा है कि गैंगरेप केस के आरोपियों को बचाने वाले उन्हें लगातार धमकियां दे रहे हैं.


दीपिका सिंह राजावत ने एबीपी न्यूज़ से कहा, ''हम सुप्रीम कोर्ट जाएंगे और निवेदन करेंगे की केस को दूसरे राज्य में ट्रांसफर किया जाए. हमारे सबूतों को देखा जाए. हमें धमकियां मिल रही है.''


इससे पहले शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ की बार एसोसिएशनों के कुछ वकीलों द्वारा दीपिका सिंह राजावत को गैंगरेप पीड़िता के परिवार के तरफ से पेश होने से कथित रूप से रोकने की घटना का स्वत: संज्ञान लिया था.


चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की खंडपीठ ने एसोसिएशन के सदस्यों को निर्देश दिया कि वे सुनिश्चित करें कि पीड़ित परिवार न्याय से वंचित नहीं हो और उनके लिए कोई बाधा नहीं खड़ी की जाए.


अदालत ने बार काउंसिल ऑफ इंडिया, जम्मू-कश्मीर बार काउंसिल, जम्मू बार एसोसिएशन और कठुआ जिला बार एसोसिएशन को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है क्योंकि अदालत के यह ध्यान में लाया गया था कि वकीलों ने आरोपपत्र दाखिल करने में बाधा पैदा की थी.



जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले के रासना जंगल में जनवरी में घोड़ों को चराने गई आठ साल की लड़की लापता हो गई थी. उसका शव एक हफ्ते बाद बरामद किया गया.


बीजेपी MLA कुलदीप सिंह सेंगर का दावा, मैं रेप के समय कानपुर में था


जांच में खुलासा हुआ है कि उसे एक मंदिर के अंदर बंधक बना कर रखा गया था और उसके साथ दुष्कर्म से पहले नशीली दवाएं दी गई और उसकी हत्या कर दी गई.


कठुआ गैंगरेप के बाद यह मामला सांप्रदायिक रंग ले चुका है. जम्मू में आरोपियों को बचाने के लिए नारे लगे. पिछले महीने हिंदू एकता मंच द्वारा आरोपी सात लोगों के समर्थन में कठुआ के हीरानगर इलाके में रैली निकाली गई थी. इस रैली में बीजेपी के दो मंत्री शामिल हुए थे. हालांकि अब विवाद बढ़ने के बाद बीजेपी के दोनों मंत्रियों को इस्तीफा देना पड़ा.


सूरत, कठुआ, उन्नाव रेप केस: निर्भया की मां बोली- बलात्कारियों को फांसी पर लटकाना चाहिए

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Kathua rape case Lawyer Facing Threats From Jammu Bar wants case transferred to other State
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पश्चिम बंगाल में आधार मजबूत करने के लिए असीमानंद की मदद ले सकती है बीजेपी