उत्तराखंड: दो दिन से हो रही बारिश से बढ़ा गंगा का जल स्तर, हरिद्वार में हाई अलर्ट

By: | Last Updated: Friday, 26 June 2015 4:51 PM
Kedarnath_State disaster response force (SDRF)_rescue

फाइल फोटो

नई दिल्ली: उत्तराखंड में दो दिन से हो रही लगातार बारिश से गंगा नदी का भी जल स्तर बढ़ गया है. जिलाधिकारी हरिद्वार ने हाई अलर्ट घोषित कर दिया और सम्बंधित सभी अधिकारियो को निर्देश जारी किये गए.

 

गंगा में भारी मात्रा में शिल्ट आने के कारण हरकी पौड़ी जाने वाली नहर को बंद कर दिया गया. इससे पश्चिमी उत्तर प्रदेश और दिल्ली में  पीने का पानी और सिंचाई के लिए संकट आ सकता है.

 

सिंचाई विभाग के अधिशाषी अभियंता एम् के सिंह का कहना है कि हम लगातार गंगा के जल स्तर पर निगाह रखे हुए है इस समय गंगा खतरे के निशान से 60 सेंटीमीटर नीचे बह  रही है वही हरकी पौड़ी पर भागीरथी बिंदु से जल लगातार आता रहेगा जिस से हरकी पौड़ी पर श्रद्धालुओं को कोई भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

 

उत्तराखंड में फंसे श्रद्धालुओं को निकालने का काम शुरू

 

सालाना चारधाम यात्रा के दौरान उत्तराखंड में खराब मौसम के कारण फंसे श्रद्धालुओं के लिए राहत एवं बचाव का कार्य राज्य सरकार ने शुक्रवार को शुरू कर दिया. अधिकारियों ने मामले की जानकारी दी. राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान गुरुवार सुबह से भारी बारिश हुई है. वहीं मौसम विभाग ने मानसूनी बारिश से राहत मिलने के कोई संकेत नहीं दिए हैं.

 

तीर्थयात्रा के विभिन्न मार्गो पर फंसे श्रद्धालुओं को बाहर निकालने और उनकी सहायता करने के लिए भारतीय वायुसेना (आईएएफ) के पांच हेलीकॉप्टरों को तैनात किया गया है. इसके अलावा मूसलाधार बारिश में क्षतिग्रस्त और बह गए पुलों की मरम्मत के लिए कई सैनिकों को रवाना किया गया है.

 

जिले के अधिकारियों ने कहा कि राज्य आपदा राहत बल (एसडीआरएफ) ने भी गोविंदघाट, घंघारिया, गुप्तकाशी और चमोली जिले में कई अन्य स्थानों पर राहत अभियान शुरू किए हैं. चमोली स्थित लक्ष्मण गंगा पुल को भारी नुकसान हुआ है और इसकी मरम्मत का कार्य जारी है.

 

2013 की तबाही में सर्वाधिक नुकसान पहुंचाने वाली अलकनंदा नदी एक बार फिर उफान पर है.  बद्रीनाथ राजमार्ग पर लंबागढ़ के पास 100 मीटर का मार्ग पानी में बह गया है, इससे पर्यटक और स्थानीय लोग रास्ते में फंस गए हैं.

 

बद्रीनाथ में 1500 श्रद्धालु रुके हुए हैं, जबकि 800 श्रद्धालु खराब मौसम के कारण हेमकुंड साहिब के रास्ते में फंसे हुए हैं. अधिकारियों ने बताया कि सोनप्रयाग में भारी बारिश में एक पुल बह गया और गंगोत्री राजमार्ग बंद कर दिया गया.

 

अधिकारियों ने यह भी बताया कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत स्वयं स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. साथ ही उन्होंने बताया कि राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता श्रद्धालुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करनी है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Kedarnath_State disaster response force (SDRF)_rescue
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017