भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ प्रदर्शन में आज अन्ना के साथ होंगे केजरीवाल

By: | Last Updated: Tuesday, 24 February 2015 2:42 AM

नई दिल्ली: भूमि अधिग्रहण अध्यादेश को लेकर जंतर मंतर पर घरना दे रहे अन्ना हजारे के आंदोलन में आद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी टीम शामिल होगी. आज केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी धरने पर अन्ना के साथ जंतर-मंतर पर बैठेंगे.

 

कल महाराष्ट्र सदन में अन्ना और केजरीवाल के बीच मुलाकात हुई थी. मुलाकात के बाद सिसोदिया ने बताया, ‘‘हमने दिल्ली चुनाव नतीजों के बारे में चर्चा की। हमने भूमि अधिग्रहण अध्यादेश और हजारे को आप कैसे समर्थन दे सकेगी, इस पर भी चर्चा की.’’

 

करीब तीन साल पहले भ्रष्टाचार के खिलाफ अपने आंदोलन से संप्रग सरकार को हिलाकर रख देने वाले प्रख्यात समाजसेवी अन्ना हजारे ने आज केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लाए गए भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ अपना दो दिवसीय धरना शुरू किया और आरोप लगाया कि मोदी सरकार सिर्फ उद्योगपतियों की हितैषी है.

 

दिल्ली के जंतर-मंतर से 77 साल के गांधीवादी नेता हजारे ने ऐलान किया कि देश भर में पदयात्रा के समापन पर तीन से चार महीनों में स्थानीय रामलीला मैदान से एक ‘‘जेल भरो आंदोलन’’ शुरू किया जाएगा.

 

भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के मुद्दे पर हजारे ने कहा कि चुनावों के दौरान बीजेपी ने ‘‘अच्छे दिन’’ का वादा किया था पर अच्छे दिन तो सिर्फ उद्योगपतियों के आए हैं.

 

उन्होंने कहा, ‘‘यह जमीन हड़पने की कोशिश है. ऐसा काम अंग्रेज किया करते थे. आज की सरकार अंग्रेजों के शासन से भी बदतर है . अंग्रेजों ने भी किसानों के साथ इतना अन्याय नहीं किया.’’

 

पिछले साल 29 दिसंबर को सरकार ने अध्यादेश लाकर भूमि अधिग्रहण कानून में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए थे जिसमें भूमि अधिग्रहण के लिए पांच क्षेत्रों में किसानों की सहमति प्राप्त करने की धारा को हटाना भी शामिल है . ये पांच क्षेत्र हैं औद्योगिक कॉरीडोर, पीपीपी परियोजनाएं, ग्रामीण आधारभूत ढांचा, सस्ते आवास और रक्षा. हजारे से अलग होने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) बनाकर राजनीति में कदम रखने वाले केजरीवाल ने करीब दो साल बाद गांधीवादी नेता से मुलाकात की और धरना में हिस्सा लेने की अपनी इच्छा जताई . उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से जब पूछा गया कि क्या केजरीवाल का हजारे के मंच पर जाना सही रहेगा, इस पर वह कन्नी काटते नजर आए . हालांकि, हजारे ने पहले कहा था कि प्रदर्शनकारियों के साथ बैठने के लिए ‘आप’ के नेताओं का स्वागत है .

 

इससे पहले, जंतर मंतर पर अपने संबोधन में हजारे ने कहा, ‘‘2013 के भूमि अधिग्रहण कानून के मुताबिक जब तक जमीन अधिग्रहित किए जाने वाले गांव के 70 फीसदी किसान सहमति नहीं देते तब तक जमीन का अधिग्रहण नहीं किया जा सकता था . लेकिन इस सरकार ने इस प्रावधान को हटा दिया . यह उद्योगपतियों के फायदे के लिए किया गया .’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘चुनावों से पहले लोगों को ‘अच्छे दिन’ के वादे किए गए, उन्होंने विश्वास किया और उन्हें वोट दिया. आज वे किसानों से जबरन उनकी जमीन छीन रहे हैं. इसलिए ‘अच्छे दिन’ उद्योगपतियों के लिए हैं, न कि आम लोगों के लिए .’’ हजारे ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हार का सामना इसलिए करना पड़ा क्योंकि उसने ‘‘अच्छे दिन का वादा किया था, पर ये तो सिर्फ बड़े-बड़े उद्योगपतियों के आए .’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि आप लोगों ने :बीजेपी ने: चुनाव से पहले लोगों से सिर्फ झूठे वादे किए . काला धन लाकर हर एक के बैंक खाते में 15-15 लाख रूपए देने का वादा किया . इस गलत वादे से एक लहर पैदा हो गई . 15 लाख तो भूल जाइए, एक भी शख्स को 15 हजार रूपए तक नसीब नहीं हुए .’’ ‘‘अन्यायपूर्ण एवं अलोकतांत्रिक कानून’’ के लिए केंद्र को आड़े हाथ लेते हुए हजारे ने कहा कि अध्यादेश तुरंत वापस लिया जाना चाहिए .

 

उन्होंने कहा, ‘‘आजादी के बाद ऐसा पहली बार हुआ है कि मौजूदा सरकार में जमीन अधिग्रहण पर अध्यादेश लाने के बाद किसान इतनी नाइंसाफी का सामना कर रहे हैं .’’

 

हजारे ने कहा कि प्रदर्शन स्थल पर वह आम आदमी पार्टी :आप: या कांग्रेस के साथ मंच साझा नहीं करेंगे, लेकिन दोनों पार्टियों का कोई भी सदस्य आम लोगों के साथ विरोध प्रदर्शन में शामिल हो सकता है . उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें मंच साझा नहीं करने दिया जाएगा क्योंकि यदि मैं उन्हें इसकी इजाजत दूंगा तो यह पार्टी का कार्यक्रम बन जाएगा . वे आम लोगों के साथ शामिल हो सकते हैं . उन्हें कोई नहीं रोकेगा .’’ हजारे ने कहा, ‘‘26 जनवरी 1950 को गणतंत्र का रूप लेकर देश की जनता मालिक बनी थी और सरकार उसकी सेवक बनी थी . पर अब भूमिकाएं बदल गई हैं . सेवक अब मालिक बन गए हैं .’’ इस मौके पर नर्मदा बचाओ आंदोलन से जुड़ी सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर ने कहा कि वह देश के हर जिले तक इस आंदोलन को ले जाएंगे .

 

हजारे ने इसे ‘‘आजादी की दूसरी लड़ाई’’ करार दिया .

 

उन्होंने कहा, ‘‘आप किसानों की सहमति के बगैर उनकी जमीन कैसे ले सकते हैं ? भारत कृषि प्रधान देश है . सरकार को किसानों के बारे में सोचना चाहिए . भूमि अध्यादेश अलोकतांत्रिक है .’’ उन्होंने कहा, ‘‘सरकार किसानों के हितों की उपेक्षा नहीं कर सकती . यह भारत के लोगों की सरकार है न कि इंग्लैंड या अमेरिका की . लोगों ने सरकार बनाई है .’’ इसे काफी गंभीर मुद्दा करार देते हुए हजारे ने कहा कि अगर सरकार ने किसानों की मांग पर ध्यान नहीं दिया तो वह पूरे देश में आंदोलन करेंगे और फिर तुरंत रामलीला मैदान लौटेंगे .

 

हजारे ने कहा, ‘‘गांवों के लोगों को संशोधन के बारे में अब भी पता नहीं है . अब हम हर राज्य एवं हर जिले के लोगों को अध्यादेश के प्रावधानों से अवगत कराएंगे . हर जिले में जाना जरूरी है .’’ उन्होंने कहा कि देश के जिले एवं प्रखंड स्तर पर तीन..चार महीने की पदयात्रा के बाद यहां के रामलीला मैदान से ‘‘जेल भरो’’ आंदोलन की शुरूआत की जाएगी .

 

हजारे ने कहा, ‘‘जेल तो मेरे लिए गहने की तरह है . हमें सजने-संवरने के लिए सोना या चांदी की जरूरत नहीं है . हम सच्चाई की लड़ाई लड़ रहे हैं . और नाइंसाफी से लड़ने के लिए हमें जेल जाने के लिए तैयार रहना होगा . लाठी खानी पड़ेगी, जेल जाना पड़ेगा .’’ पाटकर ने कहा, ‘‘हमें विकास के लिए रालेगण सिद्धि मॉडल की जरूरत है न कि गुजरात मॉडल की जहां सौराष्ट्र प्यासा रह गया है .’’

 

यह भी पढ़ें-

जानें: आखिर क्यों आंदोलन कर रहे हैं अन्ना हजारे? 

जनता के नहीं आए अच्छे दिन, फिर आएंगे रामलीला मैदान 

#RahulOnLeave के साथ ट्विटर पर उड़ रही राहुल गांधी की खिल्ली 

भूमि अधिग्रहण कानून में जरूरी सुधार किये गए हैं : राष्ट्रपति  

भूमि अधिग्रहण बिल में बदलाव कर सकती है मोदी सरकार! 

मोदी सरकार को अन्ना की धमकी, मांगे नहीं मानी गई तो चार महीने बाद जेल भरो आंदोलन 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Kejriwal to participate in Anna’s protest
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई
गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'
मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'

नागपुर: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता मनमोहन वैद्य ने कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल...

गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत
गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में बच्चों की मौत का सिलसिला...

मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा
मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने साल 2016 के जाट आंदोलन के दौरान सोनीपत के निकट मुरथल में...

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में 133 की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में 133 की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017