गलत RTI दिखा जीतेंद्र तोमर ने CM केजरीवाल को भी 'टोपी' पहनाई, AAP से हो सकती है छुट्टी

By: | Last Updated: Friday, 12 June 2015 4:21 AM

नई दिल्ली: फर्जी डिग्री केस में फंसे दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जीतेंद्र तोमर की मुश्किलें और बढ गई हैं. फर्जी डिग्री दिखाने वाले दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जीतेंद्र तोमर ने खुद को बेगुनाह साबित करने के लिए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल केजरीवाल को भी धोखा दिया था.

 

जब फर्जी डिग्री विवाद में सफाई देने के लिए तोमर मुख्यंत्री अरविंद केजरीवाल से मिले थे तो उन्हें गलत RTI दिखाई थी.

 

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट को रीट्वीट करके तोमर की इस कहानी का खुलासा किया है और कहा है कि तोमर से केजरीवाल नाराज हैं.

 

मनीष सिसोदिया ने रीट्वीट किया है, ”फर्जी डिग्री के आरोपों के बाद जीतेंद्र तोमर ने अपनी सफाई में केजरीवाल को जो RTI दिखाई थी वो फर्जी निकली. केजरीवाल तोमर से नाराज हैं. ”

 

पार्टी से निकाले जा सकते हैं तोमर

सूत्रों के मुताबिक खबर है कि जीतेंद्र तोमर को आम आदमी पार्टी से निकाला जा सकता है. उनकी आप से छुट्टी तय है. आम आदमी पार्टी ने तोमर का मामला जांच के लिए पार्टी के आंतरिक लोकतंत्र को भेज दिया है. इस मामले में पार्टी में एक बैठक हो चुकी है.

 

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी आम आदमी पार्टी पर हमला करते हुए ट्वीट किया है, ”जो केंद्र पर दिल्ली में इमरजेंसी जैसे हालात पैदा करने के आरोप लगा रहे थे वो अब जीतेंद्र तोमर द्वारा गुमराह करने के कारण नाखुश हैं.”

 

गौरतलब है दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जीतेंद्र तोमर अपनी दो डिग्रियों को लेकर विवादों में हैं और 4 दिन की पुलिस हिरासत में हैं. फिलहाल तोमर खुद को बचाने के लिए अलग-अलग विश्वविद्यालयों में पुलिस के साथ जा रहे हैं.

 

सिसोदिया के इस रीट्वीट से ऐसा लग रहा है कि आम आदमी पार्टी अब तोमर का बचाव नहीं करना चाहती और पार्टी का चेहरा बचाने की कोशिश कर रही है. 

 

फ़र्ज़ी डिग्री विवाद में गिरफ्तार किये गए दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जीतेन्द्र सिंह तोमर को आज दिल्ली पुलिस बिहार के मुंगेर और भागलपुर ले जाकर पूछताछ की जाएगी.

जीतेंद्र तोमर को कोर्ट ने नहीं दी जमानत 

इससे पहले उत्तर प्रदेश के फैजाबाद स्थित अवध विश्वविद्यालय में तोमर को ले जाकर पूछताछ की गई, जहाँ सूत्रों के मुताबिक वो संतोषजनक जवाब नहीं दे पाये.

 

उल्लेखनीय है कि तोमर का दावा है कि उन्होंने डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय से स्नातक और भागलपुर के तिलका मांझी विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री ली है. वहीँ सूचना के कानून के तहत मिली जानकारी के मुताबिक विश्वविद्यालय इससे साफ़ इंकार कर रहे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: kejriwal_jitender_tomar_fake_rti
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017