मैथिली भोजपुरी अकादमी के सियासी इस्तेमाल पर मैथिली भोजपुरी मंच ने उठाए सवाल

By: | Last Updated: Wednesday, 19 August 2015 3:03 PM

नई दिल्ली: आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सम्मान समारोह मैथिली-भोजपुरी अकादमी में किया. इस समारोह का मैथिली भोजपुरी मंच ने खुलकर विरोध किया है.

 

इस मंच का कहना है कि दिल्ली में अलग राजनीतिक सांस्कृतिक परंपरा कायम करने के दावे के साथ गठित आम आदमी पार्टी की सरकार ने अब इस मंच का भी सियासी इस्तेमाल शुरू कर दिया है. केजरीवाल के राजनीतिक दोस्त नीतीश कुमार को इसके मंच से बिहार सम्मान मिलना इसका बड़ा उदाहरण है.

 

नीतीश-केजरीवाल के कार्यक्रम के दौरान मैथिली महासभा ने किया हंगामा 

 

मैथिली भोजपुरी मंच ने विरोध जताते हुए कहा है, ‘भोजपुरी मैथिली अकादमी सिर्फ बिहार मूल के लोगों का ही प्रतिनिधित्व नहीं करती., करोड़ो भोजपुरी भाषी जनता झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में निवास करती है और वहां के भी काफी लोग दिल्ली में रहते हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि अकादमी ने झारखंड केसीएम रघुवर दास या यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को क्यों नहीं आमंत्रित किया. बिहार में विधानसभा चुनाव के मौके पर नितिश कुमार के बुलाए जाने का राजनीतिक अर्थ लगाया ही जाएगा और इसका मकसद भी यही है. अगर इसका विरोध नहीं किया गया तो इससे गलत परंपरा बनेगी. फिर भी यह राजधानी के लाखों पूर्वांचली लोगों का अपमान है. मैथिली भोजपुरी मंच इसका खुलकर विरोध करता है.’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Kejriwal_Nitish_Maithili Bhojpuri Academy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: arvind kejriwal Nitish Kumar
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017