‘केएफसी, सागर रत्ना, बीकानेरवाला के खाद्य पदार्थो के नमूनो की गुणवत्ता खराब’

By: | Last Updated: Friday, 5 December 2014 4:56 PM

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार के खाद्य सुरक्षा विभाग ने आज दिल्ली उच्च न्यायालय के समक्ष कहा कि राजधानी स्थित खाने-पीने की तीन लोकप्रिय दुकानों से लिये गये चावल एवं अन्य खाद्य पदाथरें के नमूने असुरक्षित और खराब गुणवत्ता वाले पाये गये.

 

विभाग के विशेष अधिकारी द्वारा दिये गये हलफनामे में कहा गया है कि खाने की चीजों में कृत्रिम रंग की मौजूदगी से ये चीजें उपभोग के लिये ‘असुरक्षित’ हैं.

 

हलफनामा मुख्य न्यायाधीश जी रोहिणी तथा न्यायाधीश आर एस इंडला की पीठ के समक्ष दायर किया गया. इसमें कहा गया है कि केएफसी के कनाट प्लेस में सिंधिया हाउस स्थित रेस्तरां से जनवरी 2013 से अक्तूबर 2014 तक ‘रिजो राइस’ के नमूने लिये गये और इसमें कृत्रिम रंग पाये गये.

 

अधिकारी एस के गुप्त ने कहा, ‘‘जीटीबी नगर में मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर 2 स्थित सागर रत्ना रेस्तरां से लिये गये चावल के नमूने भी स्वास्थ्य के लिये असुरक्षित पाये गये.’’ हलफनामे के अनुसार नेताजी सुभाष प्लेस में आईटीएल टावर स्थित बीकानेरवाला रेस्तरां से लिये गये फल एवं सब्जी चटनी के नमूने भी खराब गुणवत्ता के पाये गये.

 

हालांकि केएफसी तथा सागर रत्ना ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि उनके उत्पाद खाने के लिये सुरक्षित हैं.

 

अदालत एक याचिका पर सुनवाई कर रही है जिसमें कृत्रिम रंग एवं खतरनाक कीटनाशकों वाले फल एवं सब्जियों की बिक्री पर तत्काल प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया गया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: KFC_Sagar-Ratna_Bikanerwala_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017