जानें, कौन हैं CJI पर सवाल उठाने वाले जस्टिस मदन भीमाराव लोकुर?

जानें, कौन हैं CJI पर सवाल उठाने वाले जस्टिस मदन भीमाराव लोकुर?

सुप्रीम कोर्ट के जज रहते हुए जस्टिस लोकुर ने बिहार में बगैर तलाक के कानूनी तौर पर पति से अलग रह रही पत्नी को गुजारा भत्ता देने का फैसला दिया था.

By: | Updated: 12 Jan 2018 08:52 PM
know about justice madan bhimarao lokur

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके ये बताना पड़ा कि सुप्रीम कोर्ट में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में चार सीनियर जज जस्टिस चलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन भीमाराव लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ मौजूद थे.


कौन हैं जस्टिस मदन भीमराव लोकुर?
चार जून 2012 को सुप्रीम कोर्ट के जज बने जस्टिस मदन भीमराव लोकुर ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री हासिल की. 1977 से दिल्ली हाईकोर्ट, सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की, 1997 में सीनियर वकील बने.


जानें, कौन हैं CJI पर सवाल उठाने वाले जस्टिस रंजन गोगोई?
जानें, कौन हैं चीफ जस्टिस पर सवाल उठाने वाले जस्टिस चलमेश्वर?


फरवरी 2010 से मई 2010 तक दिल्ली हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ जस्टिस रहे. गुवाहाटी, आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस रहे, 2012 में सुप्रीम कोर्ट के जज बने. 30 दिसंबर 2018 को जस्टिस मदन भीमराव सुप्रीम कोर्ट से सेवानिवृत्त होंगे


जज के तौर पर बड़े फैसले
सुप्रीम कोर्ट के जज रहते हुए जस्टिस लोकुर ने बिहार में बगैर तलाक के कानूनी तौर पर पति से अलग रह रही पत्नी को गुजारा भत्ता देने का फैसला दिया था. गृह मंत्रालय को ओपन जेल के कंसेप्ट पर बैठक करने का निर्देश दिया था.


सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों की तरफ से चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को लिखी चिट्ठी में क्या है?
जज विवाद पर बोले अटॉर्नी जनरल, उन्हें प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करनी चाहिए थी


SC के जजों में विवाद की एक वजह है जज लोया की मौत, जानें क्या है पूरा मामला?

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: know about justice madan bhimarao lokur
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story वीएचपी के संत सम्मेलन में बोले सीएम योगी, हिंदू धर्म जाति पर बंटेगा तो नहीं रहेगा सुरक्षित