यहां जानें A टू Z, कैसे होता है राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव

राष्ट्रपति पद का चुनाव सांसदों और विधायकों के चुनाव की तरह नहीं होता, यही वजह है कि इसकी प्रक्रिया लोगों को आसानी से समझ में नहीं आती, इसलिए एबीपी न्यूज अपने पाठकों के लिए इस चुनाव की पूरी प्रक्रिया को आसान लफ्जों में समझाने की कोशिश कर रहा है.

Know, full process of President Elections, how to elect president in India

नई दिल्ली: आज राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए वोटिंग होनी है. देश के सबसे बड़े पद पर कौन बैठेगा इसका फैसला 20 जुलाई को हो जाएगा. उम्मीदवारों की बात करें तो एनडीए की ओर से रामनाथ कोविंद इस पद के लिए चुनावी मैदान में हैं, तो वहीं यूपीए ने कांग्रेस नेता और लोकसभा की स्पीकर रह चुकीं मीरा कुमार को अपनी ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है.

राष्ट्रपति पद का चुनाव सांसदों और विधायकों के चुनाव की तरह नहीं होता, यही वजह है कि इसकी प्रक्रिया लोगों को आसानी से समझ में नहीं आती, इसलिए एबीपी न्यूज अपने पाठकों के लिए इस चुनाव की पूरी प्रक्रिया को आसान लफ्जों में समझाने की कोशिश कर रहा है.

राष्ट्रपति चुनाव के लिए सबसे पहले उम्मीदवार को तय समय के भीतर चुनाव आयोग में अपना नामांकन भरना जरूरी होता है.

किस पद्दति से होता है राष्ट्रपति पद का चुनाव ?

हमारे देश में राष्ट्रपति का चुनाव एक इलेक्टोरल कॉलेज करता है, इसके सदस्यों का प्रतिनिधित्व वेटेज होता है.

नामांकन के लिए कितने प्रस्तावक हैं जरूरी ?

राष्ट्रपति पद का नामांकन भरने के लिए उम्मीदवार के पास मतदाताओं में से 50 प्रस्तावकों और उतने ही अनुमोदकों के हस्ताक्षर का होना जरूर होता है.

जमानत राशि कितनी भरनी पड़ती है ?

इस चुनाव में अपना नामांकन भरने के लिए उम्मीदवारों को चुनाव आयोग के पास अपने नामांकन पत्र के साथ 15000 रुपये जमानत राशि के तौर पर में जमा कराना होता है.

किसे है वोट देने का अधिकार?

राष्ट्रपति के चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के सांसदों के साथ-साथ देश के सभी विधानसभा और विधान परिषद के चुने हुए सदस्य वोट दे सकते हैं. यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि इस पूरी प्रक्रिया में नोमिनेटेड सदस्यों को वोट देने का अधिकार नहीं होता है.

कैसे तय होता है प्रतिनिधियों के वोटों का वेटेज ?

लोकसभा और राज्यसभा के कुल सदस्यों की संख्या को मिला दिया जाए तो इसका आंकड़ा 776 पहुंच जाता है. यानि 776 सांसद इसमें वोट दे सकते हैं. इन सांसदों के पास कुल 5,49,408 वोट हैं, जबकि पूरे देश में 4120 विधायक हैं, जिनके पास 5,49, 474 वोट हैं. इस तरह कुल वोट 10,98,882 हैं और जीत के लिए आधे से एक ज्यादा यानी 5,49,442 चाहिए हाते हैं.

विधायक के मामले में जिस राज्य का विधायक हो उसकी 1971 की जनगणना के हिसाब से आबादी देखी जाती है. आबादी को चुने हुए विधायकों की संख्या से भाग दिया जाता है, अब जितना रिजल्ट आए उसकों 1000 से भाग किया जाता है. अब जो आंकड़ा हाथ लगता है, वही उस राज्य के एक विधायक के वोट का मूल्य होता है.

सांसदों के वोटों की वेटेज का गणित अलग है. चुने हुए लोकसभा और राज्यसभा के सांसदों के वोटों का मूल्य फिक्स होता है. एक सांसद के वोट का मूल्य 708 होता है.

UP के विधायकों के मतों का मूल्य है सबसे ज्यादा

राज्य विधानसभाओं में उत्तर प्रदेश के विधायकों का सर्वाधिक मत मूल्य 83,824 है. यह प्रति विधायक 208 मतों का आंकड़ा है. वहीं, सिक्किम विधानसभा में सबसे कम मत मूल्य 224 है और यह प्रति विधायक सात मतों का आंकड़ा है.

कब होगी वोटों की गिनती?

20 जुलाई को वोटों की गिनती होनी है.

कब होगा शपथ ग्रहण ?

25 जुलाई को शपथ ग्रहण समारोह होगा. देश के चीफ जस्टिस नए राष्ट्रपति को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Know, full process of President Elections, how to elect president in India
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

2000 की विदाई और 200 की मुंह दिखाई का सच
2000 की विदाई और 200 की मुंह दिखाई का सच

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर हर रोज कई फोटो, मैसेज और वीडियो वायरल होते हैं. इन वायरल फोटो, मैसेज और...

सिक्किम सेक्टर में गतिरोध के बीच डोभाल और यांग ने की मुलाकात
सिक्किम सेक्टर में गतिरोध के बीच डोभाल और यांग ने की मुलाकात

बीजिंग: सिक्किम सेक्टर में भारत-चीन गतिरोध के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और...

गुजरात में दिलचस्प हुआ राज्यसभा चुनाव, अहमद पटेल की मुश्किलें बढ़ीं
गुजरात में दिलचस्प हुआ राज्यसभा चुनाव, अहमद पटेल की मुश्किलें बढ़ीं

नई दिल्ली: गुजरात कांग्रेस के तीन विधायक बलवंत सिंह राजपूत, तेजस्वी पटेल और पीआई पटेल आज...

ब्रेकअप के बाद महिलाएं आपसी सहमति से बनाए गए संबंधों को बलात्कार बता देती हैं: HC
ब्रेकअप के बाद महिलाएं आपसी सहमति से बनाए गए संबंधों को बलात्कार बता देती...

नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा है कि जब कोई संबंध टूटता है तब महिलाएं आपसी सहमति से बनाए गए...

दहेज उत्पीड़न के झूठे मुकदमों से बचाने के लिए SC ने दिए अहम दिशा निर्देश, हर ज़िले में बनेगी फैमिली वेलफेयर कमिटी
दहेज उत्पीड़न के झूठे मुकदमों से बचाने के लिए SC ने दिए अहम दिशा निर्देश, हर...

नई दिल्ली:  दहेज उत्पीड़न के झूठे मुकदमों से लोगों को बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने अहम दिशा...

बीजेपी के साथ गठबंधन को लेकर जेडीयू में असहजता, शरद यादव नाखुश !
बीजेपी के साथ गठबंधन को लेकर जेडीयू में असहजता, शरद यादव नाखुश !

नई दिल्ली: बिहार में सत्तारूढ़ जेडीयू का एक धड़ा महागठबंधन से बाहर निकलने और बीजेपी के साथ नई...

नीतीश के साथ आने से मजबूत हुई बीजेपी, 2019 में मोदी के सत्ता में आने की संभावना हुई प्रबल
नीतीश के साथ आने से मजबूत हुई बीजेपी, 2019 में मोदी के सत्ता में आने की संभावना...

नई दिल्ली: देश में उत्तर, पश्चिम और पूर्व में हर तरफ बीजेपी का बेस मजबूत हो रहा है. साथ ही...

एनडीए के शासन में केंद्र सरकार के दफ्तरों में वर्क कल्चर बदला है: नरेंद्र मोदी
एनडीए के शासन में केंद्र सरकार के दफ्तरों में वर्क कल्चर बदला है: नरेंद्र...

रामेश्वरम: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केन्द्र सराकार के दफ्तरों में काम कर रहे सरकारी...

लालू को नए महागठबंधन की उम्मीद, कहा- ममता, अखिलेश, मायावती सब एक मंच पर आएंगे
लालू को नए महागठबंधन की उम्मीद, कहा- ममता, अखिलेश, मायावती सब एक मंच पर आएंगे

रांची: आरजेडी सुप्रीमो बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को एक नए महागठबंधन की...

एबीपी न्यूज-सी वोटर सर्वे: 74 फीसदी लोगों ने माना गठबंधन टूटने के लिए लालू जिम्मेदार
एबीपी न्यूज-सी वोटर सर्वे: 74 फीसदी लोगों ने माना गठबंधन टूटने के लिए लालू...

नई दिल्ली: बिहार में नीतीश कुमार ने अपने इस्तीफे के 15 घंटे के भीतर ही बीजेपी के सहयोग से एक बार...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017