जानिए, राम नाथ कोविंद को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाने के 6 कारण

जानिए, राम नाथ कोविंद को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाने के 6 कारण

नई दिल्ली: जिस का नाम कहीं चर्चा में नहीं था वही शख्स अब देश का अगला राष्ट्रपति होने जा रहा है. पीएम मोदी की चौंकाने वाली राजनीति जारी है. सवाल उठता है कि आखिर बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद में मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने क्या देखा कि उन्हें एनडीए का राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया.

विपक्ष के कुछ दल यही कहते रहे हैं कि बीजेपी को ऐसे शख्स का नाम प्रस्तावित करना चाहिए जो राजनीतिक व्यक्ति हो. इस हिसाब से कोविंद सटीक बैठते हैं. विपक्ष को आशंका थी कि बीजेपी संग के दबाव में संघ से गहराई से जुड़े किसी आदमी को आगे बढ़ा सकती है. हालांकि कोविंद के बिहार का राज्यपाल चुने जाने पर आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव ने उन्हें संघ का बताकर आलोचना की थी लेकिन कोरी-कोली समाज की सेवा कर चुके कोविंद की घेरेबंदी करने में लालू सफल नहीं हो सके थे.

खैर, कोविंद राजनीतक व्यक्ति है. वह दो बार राज्यसभा के सांसद रह चुके हैं. वह मोरारजी देसाई के प्रधानमंत्री काल में उनके निजी सचिव भी रह चुके हैं. राज्यसभा में रहते हुए जाहिर है कि वह बहुत सी समितियों कमेटियों की अध्यक्षता भी कर चुके होंगे. अब उनके राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनने से कुछ विपक्षी दलों की मांग पूरी हो जाती है.

दो, कोविंद अनुसूचित जाति से आते हैं. कोरी कोली समाज का प्रतिनिधित्व करते हैं. पिछले कुछ समय से बीजेपी दलित समाज में सेंध लगाने की कोशिश कर चुकी है. यूपी में संघ भी ऐसे ही प्रयास करता रहा है. वह यूपी के कानपुर से है और बिहार के राज्यपाल है. जाहिर है कि उनके नाम को आगे कर के मोदी ने 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए यूपी और बिहार दोनों को ही साधने की कोशिश की है. इसके साथ ही देश भर के दलित समाज को भी संदेश दिया है.

तीन , पिछले लोक सभा चुनावों में यूपी और बिहार की कुल 120 सीटों में से बीजेपी और उनके साथियों ने 104 सीटें जीती थी. मोदी और अमित शाह अच्छी तरह से जानते हैं कि अगर उन्हें 2019 में फिर से सत्ता में आना है तो उसे यूपी बिहार के प्रदर्शन को दोहराना होगा. ऐसे में कोविंद का राष्ट्रपति बनना एक बड़ा कारक साबित हो सकता है.

चार , बीजेपी अपने उम्मीदवार को भारी मतों से जिताना चाहती है. वैसे तो राष्ट्रपति बनने के लिए करीब साढ़े पांच लाख वोटों की जरुरत होती है और पिछले चुनावों में प्रणव मुखर्जी को साढे सात लाख वोट मिले थे. इस बार बीजेपी अपने उम्मीदवार को आठ लाख के आसपास वोट दिलाना चाहती है. उसे लगता है कोविंद के दलित होने के कारण उनका विरोध करना कुछ विपक्षी दलों के लिए मुमकिम नहीं हो सकेगा.

पांच , दलित वोट बैंक को साधने की कोशिश में कोविंद का नाम न सिर्फ बीजेपी को वोट दिला सकता है बल्कि उसकी छवि को भी चमका सकता है. सियासी कमजोरी के दौर से गुजर रही मायावती को और ज्यादा कमजोर कर सकता है. इसमें भी बीजेपी की ही सियासी सेहत और ज्यादा सुधरती है.

छह , कोविंद यूपी से हैं तो क्या मुलायम और मायावती उनका विरोध कर पाएंगे. कोविंद बिहार के राज्यपाल हैं और कोरी कोली समाज के हैं तो क्या नीतीश कुमार उनका विरोध कर पाएंगे….क्या बीजेडी को इस नाम पर एतराज होगा….शायद नहीं.

First Published:

Related Stories

सीएम योगी की मुखबिर योजना: लिंग परिक्षण करने वाले अस्पतालों का नाम बनाए और ईनाम पाएं
सीएम योगी की मुखबिर योजना: लिंग परिक्षण करने वाले अस्पतालों का नाम बनाए और...

लखनऊ: कन्या भ्रूण ह्त्या रोकने के लिए योगी सरकार ने एक नया उपाय सोचा है. अब ऐसे लोगों को ईनाम...

दलितों को विभाजित करने के लिए मीरा कुमार को विपक्ष ने बनाया राष्ट्रपति उम्मीदवार: सीएम योगी
दलितों को विभाजित करने के लिए मीरा कुमार को विपक्ष ने बनाया राष्ट्रपति...

नई दिल्ली: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि विपक्ष ने मीरा कुमार को अपना राष्ट्रपति...

इस बार विचारधारा के आधार पर राष्ट्रपति चुनाव लड़ेगा विपक्ष
इस बार विचारधारा के आधार पर राष्ट्रपति चुनाव लड़ेगा विपक्ष

नई दिल्ली: राष्ट्रपति पद के लिए 17 जुलाई को होने वाले चुनाव में विपक्ष ने धर्मनिरपेक्षता में...

एबीपी न्यूज़ पर आज दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज़ पर आज दिनभर की बड़ी खबरें

राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने अपना नामांकन दाखिल कर दिया. इस मौके...

IN DETAIL: क्या एक वक्त में दो नावों की सवारी कर रहे हैं नीतीश कुमार...?
IN DETAIL: क्या एक वक्त में दो नावों की सवारी कर रहे हैं नीतीश कुमार...?

नई दिल्ली: एक ओर जहां विपक्ष के नेता मिल बैठकर राष्ट्रपति पद के चुनाव पर चर्चा कर रहे हैं वहीं...

15 मिनट में पहुंचता है पिज्जा, फायर ब्रिगेड की गाड़ी 5 घंटे में भी नहीं पहुंचती: सिद्धू
15 मिनट में पहुंचता है पिज्जा, फायर ब्रिगेड की गाड़ी 5 घंटे में भी नहीं...

चंडीगढ़: पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पिज्जा की डिलीवरी 15 मिनट में हो...

पीएम मोदी के अमेरिका दौरे से पहले पाक को बड़ा झटका, गैर नाटो सहयोगियों की लिस्ट से हट सकता है नाम
पीएम मोदी के अमेरिका दौरे से पहले पाक को बड़ा झटका, गैर नाटो सहयोगियों की...

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी के अमेरिका दौरे से पहले अमेरिका ने पाकिस्तान को बड़ा झटका दिया है....

स्मार्ट सिटी के लिए 30 और शहरों के नाम का एलान, क्या आपका शहर है इस लिस्ट में
स्मार्ट सिटी के लिए 30 और शहरों के नाम का एलान, क्या आपका शहर है इस लिस्ट में

नई दिल्ली: सरकार ने तीसरे चरण में आज 30 और शहरों को स्मार्ट सिटी के लिए चुना है. इसे पहले दो चरणों...

राष्ट्रपति चुनाव: मोदी-शाह की मौजूदगी में कोविंद ने भरा नामांकन, बोले- 'दलगत राजनीति से ऊपर है पद'
राष्ट्रपति चुनाव: मोदी-शाह की मौजूदगी में कोविंद ने भरा नामांकन, बोले- 'दलगत...

नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए की तरफ से उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने अपना नामांकन...

एक क्लिक में जानिए राष्ट्रपति चुनाव को लेकर हर सवाल के जवाब, A टू Z
एक क्लिक में जानिए राष्ट्रपति चुनाव को लेकर हर सवाल के जवाब, A टू Z

नई दिल्ली: राष्ट्रपति का पद देश का सर्वोच्च पद होता है. 25 जुलाई को देश को नया राष्ट्रपति मिलने...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017