क्या है बीजेपी कार्यकर्ता पर यूपी पुलिस के अत्याचार का सच?

By: एबीपी न्यूज़ | Last Updated: Friday, 17 February 2017 10:56 PM
क्या है बीजेपी कार्यकर्ता पर यूपी पुलिस के अत्याचार का सच?

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर एक वायरल वीडियो के जरिए दावा किया जा रहा है कि यूपी की पुलिस बीजेपी के कार्यकर्ताओं को बेरहमी से पीट रही है. चलिए जानते हैं क्या है बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर यूपी पुलिस के अत्याचार का सच.

44 सेकेंड के वायरल वीडियो को देखने के बाद सोशल मीडिया पर लोग कई तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं. दावा है कि यूपी पुलिस बीजेपी कार्यकर्ताओं पर अत्याचार कर रही है. लोग वीडियो शेयर करते हुए लिख रहे हैं, ‘यूपी पुलिस की गुंडागर्दी हद से ज्यादा, बीजेपी कार्यकर्ता को बाइक से उतारकर मार रहे हैं. इससे शर्म की बात क्या हो सकती है.’

ये दावा है..इस दावे के सच का पता हम लगाएंगे लेकिन उससे पहले 44 सेकेंड के इस वीडियो में क्या हो रहा है वो जानते हैं.

सबसे पहले वीडियो में बाइक पर एक शख्स बैठा दिख रहा है और उससे दो पुलिस वाले बात कर रहे हैं. वीडियो में तीसरे सेकेंड पुलिस वाला बाइक पर बैठे शख्स के हाथ से बीजेपी का झंडा छीनते हुए दिखाई देता है. बीजेपी का झंडा इसलिए क्योंकि उस पर कमल का निशान बना हुआ है. उसके बाद पुलिसवाला दो बार डंडा मारते हुए दिखता है फिर गाड़ी स्टैंड पर लगवाई जाती है और उस शख्स को सड़क के एक किनारे से दूसरे किनारे तक ले जाया जाता है.
viral mathura police pitai pkg 1702 6
सवाल ये है कि बाइक पर बैठा शख्स क्या वाकई बीजेपी का कार्यकर्ता है? ऐसा क्या हुआ था कि पुलिस वालों ने शख्स को डंडे से मारा? और 44 सेकेंड की ये तस्वीरें यूपी में किस जगह की है?

इन सवालों का जवाब जानने के एबीपी न्यूज ने वायरल वीडियो की पड़ताल शुरू की. इस वीडियो को शेयर करते हुए ये दावा भी किया गया था कि कहानी यूपी के मथुरा की है. इसलिए वायरल सच की टीम ने यूपी के मथुरा में पड़ताल शुरू की. पड़ताल में हमें कुछ और तस्वीरें भी मिली.

पड़ताल में सामने आया कि ये मामला 14 फरवरी का है. जब प्रदीप बंसल अपनी बाइक से बीजेपी जिलाध्यक्ष से मिलने जा रहे हैं. उनकी बाइक पर दो झंडे लगे हुए थे. एक तिरंगा था और दूसरा बीजेपी का झंडा. आगे क्या हुआ ये खुद प्रदीप बता रहे हैं…

प्रदीप के ने कहा, घटना 14 तारीख की है. जिलाध्यक्ष से मिलने जा रहा था. बाइक पर दो झण्डे लगे थे. चौकी इंचार्ज ने बाइक रुकवाकर अनुमति दिखाने को कहा. खींचकर बीजेपी का झण्डा उतारा और तिरंगा उतारने से दूसरे पुलिसवाले ने रोका, आपको सस्पेंड होना पड़ सकता है कहने पर मारपीट की और हवालात में बंद कर दिया.

प्रदीप बंसल के मुताबिक उन्होंने जब कृष्णा नगर चौकी इंचार्ज हरविंदर मिश्रा से कहा कि तिरंगे के अपमान पर सस्पेंड हो सकते हैं तो उनके साथ पुलिस वालों ने बदसलूकी की और रातभर थाने में बंद रखा.
viral mathura police pitai pkg 1702 3
लेकिन यहां ये जानना जरूरी था कि क्या बाइक पर किसी पार्टी का झंडा लगाने को लेकर कोई नियम है या नहीं. क्योंकि पुलिस ने प्रदीप बंसल की बाइक रोककर उनसे झंडा लगाने की अनुमति दिखाने को कहा था.

चुनाव आयोग में सलाहकार केजे राव ने कहा, ‘आदर्श आचार संहिता चुनाव खत्म होने और चुनाव का नतीजा घोषित होने तक लागू होती है. किसी एक जगह हो जाने के बाद भी नियम नहीं तोड़े जा सकते. यानि जिस दिन चुनाव आयोग चुनाव की तारीख की घोषणा करता है उस दिन से लेकर नतीजे घोषित होने तक.’

एबीपी न्यूज की पड़ताल में सामने आया है कि आचार संहिता के मुताबिक बिना अनुमति के बाइक पर किसी पार्टी का झंडा लगाकर नहीं घूम सकते. लेकिन यहां सवाल ये है कि अगर बिना इजाजत झंडा लगा भी था तो पुलिस को डंडा चलाने का अधिकार किसने दिया?
Viral 11
हमारी पड़ताल में वायरल वीडियो सच साबित हुआ है.

First Published: Friday, 17 February 2017 9:10 PM

Related Stories

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. EVM पर सवाल उठाने वालों पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने निशाना साधा. उन्होंने कहा कि EVM से चुने गए लोग ही...

सीएम योगी बोले- ‘जिन्हें कानून व्यवस्था में भरोसा नहीं वह लोग यूपी छोड़ दें’
सीएम योगी बोले- ‘जिन्हें कानून व्यवस्था में भरोसा नहीं वह लोग यूपी छोड़ दें’

गोरखपुर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मिशन उत्तम प्रदेश में लगे हैं. यूपी के मुख्यमंत्री बनने...

योगी के मंच पर दिखे पत्नी की हत्या के आरोपी विधायक अमनमणि त्रिपाठी
योगी के मंच पर दिखे पत्नी की हत्या के आरोपी विधायक अमनमणि त्रिपाठी

गोरखपुर: गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंच पर निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी...

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी परिसरों में तोड़फोड़ और आगजनी, चार लोग गिरफ्तार
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी परिसरों में तोड़फोड़ और आगजनी, चार लोग गिरफ्तार

इलाहाबाद: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी परिसर में लागू धारा 144 का उल्लंघन करने और यूनिवर्सिटी में चल...

महाराष्ट्र का ये गांव बनेगा भारत का पहला 'किताबों वाला गांव'
महाराष्ट्र का ये गांव बनेगा भारत का पहला 'किताबों वाला गांव'

मुंबई: सतारा जिले का एक गांव स्ट्रॉबेरी के लिए काफी लोकप्रिय है लेकिन अब यह गांव किताबों के...

सवाल उठाने वालों पर सीएम योगी का निशाना, कहा- EVM मतलब एवरी वोट फॉर मोदी
सवाल उठाने वालों पर सीएम योगी का निशाना, कहा- EVM मतलब एवरी वोट फॉर मोदी

गोरखपुर: यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद दूसरी बार अपने क्षेत्र गोरखपुर में सीएम योगी...

अगर समान नागरिक संहिता लागू हो गई तो उससे देश को क्या लाभ होगा?
अगर समान नागरिक संहिता लागू हो गई तो उससे देश को क्या लाभ होगा?

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज मुस्लिम समुदाय से अनुरोध किया कि वह यह सुनिश्चित करे कि तीन...

पानी पर मध्य प्रदेश की मंत्री का विवादास्पद बयान, कहा- प्रयोगशाला में नहीं बनता पानी
पानी पर मध्य प्रदेश की मंत्री का विवादास्पद बयान, कहा- प्रयोगशाला में नहीं...

भोपाल : एबीपी न्यूज पर मध्य प्रदेश में पानी के संकट की खबर दिखाए जाने के बाद भी लगता है कि मध्य...

सुशील मोदी के खिलाफ लालू यादव की 'बोफोर्स', कहा- उनके कारनामें करेंगे उजागर
सुशील मोदी के खिलाफ लालू यादव की 'बोफोर्स', कहा- उनके कारनामें करेंगे उजागर

पटना : बिहार में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यावद और बीजेपी नेता सुशील मोदी के बीच जुबानी जंग जारी...

UP की अदालतों में बड़ा फेरबदल, 400 न्यायिक अधिकारियों का तबादला
UP की अदालतों में बड़ा फेरबदल, 400 न्यायिक अधिकारियों का तबादला

इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश में निचली अदालतों में एक बड़ा उलटफेर करते हुए इलाहाबाद उच्च न्यायालय...