वायरल सच: फ्री के फोन में जियो की बंपर कमाई का सच !

वायरल सच: फ्री के फोन में जियो की बंपर कमाई का सच !

21 जुलाई को मुकेश अंबानी ने अपने फ्री के फोन का एलान किया और महज दो दिन बाद सोशल मीडिया पर पूरे हिसाब-किताब के साथ एक मैसेज आ धमका. इस मैसेज के जरिए जियो की चांदी दिखाई जा रही है.

By: | Updated: 25 Jul 2017 10:16 PM

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर कई तस्वीरें, वीडियो और मैसेज वायरल होते हैं. इसके साथ ही कई चौंकाने वाले दावे भी किए जाते हैं. मुकेश अंबानी के जियो फोन को लेकर भी सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है. मुकेश अंबानी ने कुछ दिन पहले ही मुफ्त इंटरनेट डाटा के बाद देश को एक और सपना दिखाया है. इस नए सपने का नाम जियो का मुफ्त फोन है. जियो की तरफ से 1500 रुपए की सिक्योरिटी मनी देकर स्मार्टफोन देने का वादा किया गया है. लेकिन सोशल मीडिया पर दावा है कि मुफ्त के फोन में जियो ने बंपर कमाई का इंतजाम कर लिया है. दावे के पीछे वो मैसेज है जिसमें कमाई का पूरा हिसाब-किताब भी पेश किया गया है.


21 जुलाई को मुकेश अंबानी ने अपने फ्री के फोन का एलान किया और महज दो दिन बाद सोशल मीडिया पर पूरे हिसाब-किताब के साथ एक मैसेज आ धमका. इस मैसेज के जरिए जियो की चांदी दिखाई जा रही है.


वायरल मैसेज का पहला दावा
मैसेज के मुताबिक ये मान लिया गया कि कम से कम 20 करोड़ लोग इस फोन को खऱीदेंगे. यानि 20 करोड़ लोग 1500 रुपए कंपनी को देंगे और इस तरह से कंपनी के पास 30 हजार करोड़ जमा हो जाएंगे.


वायरल मैसेज का दूसरा दावा
फोन रिचार्ज भी कराना होगा- कंपनी ने 153 रुपए रिचार्ज के लिए तय किए हैं. तो जब 20 करोड़ हर महीने 153 रुपए का रिचार्ज करवाएंगे तो कंपनी को  हर महीने रिचार्ज के लिए 20 करोड़ लोग कंपनी को 153 रुपए रुपए देंगे. तो साल भर में कंपनी को 36 हजार 720 करोड़ रुपए और मिलेंगे.


वायरल मैसेज का तीसरा दावा
तीसरे दावे के मुताबिक अगर हर साल 10 फीसदी नए ग्राहक जुड़ते हैं तीसरे साल 24 करोड़ ग्राहक अगर हर महीने 153 रुपए का रिचार्ज कराएंगे तो कंपनी को रिचार्ज से मिलने वाला पैसा = 44431 करोड़ हो जाएगा.


वायरल मैसेज का चौथा दावा
मैसेज में चौथा दावा ये है कि जिन 20 करोड़ लोगों ने 1500 रुपए देकर फोन खऱीदा था उससे कंपनी को 30 हजार करोड़ मिले. अब जियो अगर 30 हजार करोड़ पर 12 फीसदी रिटर्न लेगी. तो तीन साल में 10 हजार 800 करोड़ की शुद्ध कमाई होगी. यानि तीन साल में जियो के पास रिचार्ज से 44 हजार 431 करोड़ रुपए जमा होंगे. फोन खरीदने वाले ग्राहकों से 30 हजार करोड़ जमा होंगे और 12 फीसदी रिटर्न के 10 हजार 800 करोड़ मिलेंगे यानि जियो की तीन साल में कमाई होगी - 85 हजार 231 करोड़ रुपए.


वायरल मैसेज का पांचवां दावा
85 हजार 231 करोड़ की कुल कमाई में से जियो अपने 20 करोड़ ग्राहकों से लिए 30 हजार करोड़ वापस कर देगा. यानि सिर्फ फीचर फोन मुफ्त में बेचकर जियो 55 हजार 231 करोड़ की कमाई करेगा


ये कहानी यहीं पर खत्म नहीं होती. तीन साल बाद 2020 में जियो की कमाई का खाका भी पेश किया गया है. तीन साल बाद जब जिओ के 20 करोड़ उपभोक्ता हर महीने 303 रुपए का रिचार्ज करवाएंगे तो कंपनी को 72 हजार 720 करोड़ मिलेंगे. यानि फोन के 55 हजार 231 करोड़ और जियो उपभोक्ता के रिचार्च से 72 हजार 720 करोड़ रुपए. कुल कमाई- 1 लाख 27 हजार 591 करोड़ रुपए होगी. जिसे किसी भी इंडस्ट्री के रेवेन्यू से बहुत बड़ा बताया जा रहा है.



ये लंबा चौड़ा वायरल मैसेज यहां पर खत्म हो जाता है लेकिन दावा ये कर रहा है कि 1500 रुपए लेकर मुफ्त फोन बेचने के नाम पर जियो एक लाख 27 हजार 591 करोड़ की कमाई करेगी. इस मैसेज के अलावा एक दावा ये भी किया जा रहा है कि कंपनी मुफ्त का फोन देने वाली है इसलिए वो 28 फीसदी जीएसटी भी नहीं चुकाएगी और कंपनी के हजारों करोड़  बच जाएंगे.


लेकिन सवाल ये है कि वायरल मैसेज में लाखों करोड़ों की कमाई का जो आंकड़ा पेश किया गया है क्या वो सही है? एबीपी न्यूज संवाददाता शिशिर सिन्हा ने वायरल मैसेज का सच खंगालना शुरू किया. हमने कंपनी के सूत्रों से संपर्क किया. पड़ताल में कुछ मोटी बातें पता चलीं जो आपके लिए जानना बेहद जरूरी है.


पहली बात
मोबाइल हैंडसेट खऱीदने, उस पर टैक्स चुकाने और उसे ग्राहक तक पहुंचाने पर कंपनी का खर्च होगा. इस योजना की मार्केटिंग पर भी कंपनी को पैसे खर्च करने होंगे. ऐसे में पहला दावा गलत है कि जियो जो 1500 रुपए लोगों से लेगी वो सीधे उसके खाते में जमा हो जाएंगे.


दूसरी बात
कंपनी के मुताबिक जो भी पैसा ग्राहकों से लिया जा रहा है उसका इस्तेमाल पहले अलग-अलग तरह के खर्चों के लिए भी होना है. और तीन साल बाद ग्राहक को पैसा वापस करने का भी इंतजाम करना है.


तीसरी बात
हर हफ्ते 50 लाख मोबाइल देने का लक्ष्य रखा गया है. लेकिन ये इस बात पर निर्भर करेगा कि बाजार में मांग कितनी है और उसे कितना पूरा किया जा सकता है? इसलिए ये जरूरी नहीं कि हर हफ्ते जियो के 50 लाख मोबाइल हैंडसेट ग्राहकों तक पहुंचे.


वायरल मैसेज में कोरी कल्पना के आधार पर एक हिसाब बनाया गया है. जिसमें किसी भी तरह के खर्च को शामिल नहीं किया गया है. कंपनी को लाखों मोबाइल हैंडसेट बनाने में भी पैसे खर्च करने होंगे. कंपनी सूत्रों का कहना है कि जिस तरह के आंकड़े पेश किए गए हैं वो बिल्कुल ही आधारहीन हैं और आंकड़ों की ये तस्वीर व्यवाहारिक नहीं है. नियमों के मुताबिक जियो को हैंडसेट बनाने से लेकर खऱीदने तक 12 फीसदी जीएसटी चुकाना होगा.


हमारी पड़ताल में फ्री के फोन में जियो की बंपर कमाई का दावा करने वाला वायरल मैसेज झूठा साबित हुआ है.
k

भारत से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर,गूगल प्लस, पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App
Web Title: वायरल सच: फ्री के फोन में जियो की बंपर कमाई का सच !
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार

First Published:
Next Story प्रद्युम्न हत्याकांड: बस कंडक्टर अशोक मिली जमानत