पैर गलाकर देश की रक्षा करने वाले जवान का सच

पैर गलाकर देश की रक्षा करने वाले जवान का सच

सोशल मीडिया पर दावा है कि पैर के तलवे पर चमड़ी छोड़ती तस्वीर उसी जवान की है जो बिना किसी बात की परवाह किए घंटों पानी में खड़ा रहा ताकि सीमा सुरक्षित रहे. दावे के मुताबिक तलवे से चमड़ी निकलती जा रही थी लेकिन जवान बिना किसी शिकन के मोर्चे पर तैनात था.

By: | Updated: 21 Jul 2017 08:56 PM

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर हर रोज कई फोटो, मैसेज और वीडियो वायरल होते हैं. इन वायरल फोटो, मैसेज और वीडियो के जरिए कई चौंकाने वाले दावे भी किए जाते हैं. ऐसी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इस तस्वीर के जरिए भी चौंकाने वाला दावा किया जा रहा है.


क्या है दावा कर रही है वायरल तस्वीर?
वायरल तस्वीर के दो हिस्से हैं एक में जवान घुटने तक पानी में खड़े होकर ड्यूटी कर रहा है और दूसरे हिस्से में जवान का गला हुआ पैर दिखाया जा रहा है. सोशल मीडिया पर दावा है कि पैर के तलवे पर चमड़ी छोड़ती तस्वीर उसी जवान की है जो बिना किसी बात की परवाह किए घंटों पानी में खड़ा रहा ताकि सीमा सुरक्षित रहे. दावे के मुताबिक तलवे से चमड़ी निकलती जा रही थी लेकिन जवान बिना किसी शिकन के मोर्चे पर तैनात था.


क्या है वायरल हो रही तस्वीर का सच ?
तस्वीर का सच जानने के लिए एबीपी न्यूज़ ने पड़ताल शुरू की. इंटरनेट पर पड़ताल करते हुए हम उस ट्विटर अकाउंट तक पहुंच गए जिससे ये तस्वीर पोस्ट की गई थी और ये ट्विटर अकाउंट बीएसएफ का था. सीमा सुरक्षा बल के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से वायरल हो रही तस्वीर 3 जुलाई को पोस्ट की गई थी. जवान की तस्वीर पोस्ट करते हुए बीएसएफ ने लिखा था, ''बारिश हो या बर्फ..सीमा के जवान दृढ़ सकंल्प के साथ सुरक्षा में तैनात रहते हैं.''


पड़ताल में पता चला कि असम के करीमगंज जिले में लोंगाई नाम की एक नदी गुजरती है जहां पिछले दिनों बाढ़ आई थी. लोंगाई नदी भारत-बांग्लादेश बार्डर पर पड़ती है इसलिए वहां निगरानी के लिए सीमा सुरक्षा बल के जवान मौजूद होते हैं, वायरल हो रही तस्वीर भी उसी समय की है.


गले हुए पैरों की तस्वीर का सच क्या है ?
जवान की तस्वीर तो मिल गई लेकिन गले हुए पैरों की तस्वीर कहीं नहीं मिल रही थी. पड़ताल आगे बढ़ी तो हमें एक वेबसाइट की खबर मिली. वेबसाइट से हमें गले हुए पैरों की तस्वीर के बारे में कुछ सुराग मिला. गले हुए पैर की तस्वीर को ढूंढते हुए हम सीन सिमसन नाम के शख्स के इंस्टाग्राम अकाउंट पर पहुंचे जिस पर ये तस्वीर पोस्ट की गई थी.


इस शख्स ने गले हुए पैरों की तस्वीर 15 सितंबर 2016 को पोस्ट की थी. जिस जवान की फोटो पोस्ट पोस्ट की गयी थी वो भारतीय सेना का जवान नहीं था.


भारतीय जवान भी लगातार पानी में खड़े रहते हैं तो उनके पैरों की ऐसी हालत हो जाती है लेकिन ये गले हुए पैर भारतीय सेना के जवान के नहीं हैं. हमारी पड़ताल में तस्वीर सच साबित हुयी है लेकिन गले हुए पैर भारतीय जवान के होने का दावा झूठा साबित हुआ है.

भारत से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर,गूगल प्लस, पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App
Web Title: पैर गलाकर देश की रक्षा करने वाले जवान का सच
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार

First Published:
Next Story गुजरात में कांग्रेस कार्यालय का ‘बीमा’ बना चुनावी मुद्दा, बीजेपी ने कसा ये तंज