गुजरात चुनाव: पहले चरण में कांग्रेस को जिताने वाले सर्वे का वायरल सच

गुजरात चुनाव: पहले चरण में कांग्रेस को जिताने वाले सर्वे का वायरल सच

गुजरात में पहले चरण के लिए वोटिंग हो चुकी है, दूसरे चरण के लिए 14 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे. 18 तारीख को नतीजे घोषित होंगे. सबसे तेज नतीजों के लिए देखना ना भूलें एबीपी न्यूज़

By: | Updated: 11 Dec 2017 10:23 PM
know truth of this viral survey

नई दिल्ली: गुजरात में अभी सिर्फ पहले चरण का मतदान हुआ है दूसरे चरण के लिए वोटिंग 14 दिसंबर को है. इस बीच कहा जा रहा है कि कांग्रेस पहले चरण की 89 सीटों में से 65 सीटें जीतने का दावा कर रही है.


दावा है कि 89 में 65 कांग्रेस को मिल रही हैं जबकि बीजेपी के खाते में सिर्फ 22 सीटें आ रही हैं यानि गुजरात के पहले चरण में कांग्रेस को बीजेपी से तीन गुना ज्यादा सीटों पर जीत मिल रही है.


क्या है पूरा मामला?
पूरा मसला कांग्रेस पार्टी के नेशनल मीडिया कॉर्डिनेटर रोहन गुप्ता के एक ट्वीट के बाद शुरू हुआ. रोहन गुप्ता ने ट्वीट किया, ''कांग्रेस जीत रही है, पहले चरण का मतदान कांग्रेस के पक्ष में जाता हुआ दिखाई दे रहा है. चाणक्य इंडिया का सबसे बड़ा और विश्वसनीय सर्वे बीजेपी के खिलाफ जनता का गुस्सा दिखा. GST, नोटबंदी और अलग-अलग आंदोलन की बीजेपी ने चुकाई भारी कीमत.''


सर्वे के साथ क्या दावा किया जा रहा है?
गुजरात के नक्शे पर पहले चरण की 89 सीटों पर हुए मतदान का गणित पेश किया गया है. जिसमें कांग्रेस को 65, बीजेपी को 22 और अन्य के खाते में दो सीटें दी गई हैं. इतना ही नहीं वोटों का प्रतिशत भी पेश किया गया है. कांग्रेस को 57 फीसदी वोट, बीजेपी को 40 फीसदी वोट. सीटों के इस गणित के बगल में लिखा है, ''परिवर्तन का आगाज, पहले चरण में कांग्रेस जीतेगी 65 सीटों से, 6 जिलों में बीजेपी का पूरा सफाया, गुजरात की 89 विधानसभा में 10,000 से भी ज्यादा बूथ पर लिया गया 1 लाख दस हजार सात सौ सात लोगों का प्रमाणित सर्वे.''


क्या है वायरल हो रहे सर्वे का सच?
आपको बता दें कि दो अलग-अलग चाणक्या हैं. टीवी चैनल के लिए सर्वे करने वाली एजेंसी का नाम टुडेज चाणक्या है, जबकि कांग्रेस के सर्वे पर चाणक्या इंडिया लिखा हुआ था.


कांग्रेस का ये सर्वे सुर्खिया बना तो टूडेज चाणक्या का खंडन भी सामने आ गया. टुडेज चाणक्या ने ट्वीट करते हुए कहा कि इस सर्वे से हमारा कोई संबंध नहीं है. हमने ऐसा कोई सर्वे जारी नहीं किया है.


कब चर्चा में आया था टूडेज चाणक्या?
सर्वे को लेकर चाणक्या का नाम सबसे पहले मशहूर तब हुआ था जब 2014 लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले चाणक्या ने बीजेपी को 300 से ज्यादा सीटें दी थीं. नतीजों के बाद चाणक्या के अनुमान पर मुहर लगी थी. और अब जब चाणक्या के नाम से ये सर्वे आया तो संदेश ये गया कि सर्वे करने वाली ये वही चाणक्या है जिसने 2014 में बहुमत के साथ मोदी सरकार बनने का दावा किया था.


खुलासे के बाद कांग्रेस ने क्या कहा?
कांग्रेस नेता रोहन गुप्ता ने कहा, ''इतने चैनलों के नाम देखे हैं, इंडिया टीवी है.. इंडिया टुडे है.क्या आप इन नामों को कॉमन बोलेंगे, हमने टुडे चाणक्या इस्तेमाल किया हो तो आपकी बात सही है. chanakyaindia.in किसी कंपनी का नाम नहीं है. हमने ये तो नहीं बोला कि टुडे चाणक्या है. धोखा तब होता जब हम इसको टुडे चाणक्या बोलते.''


एबीपी न्यूज की पड़ताल में क्या पता ?
कांग्रेस ने सर्वे नहीं बल्कि एक ऑनलाइन पोल किया है जो पहले से चल रहा है, ये सर्वे टुडेज चाणक्या ने नहीं बल्कि चाणक्या इंडिया डॉट इन नाम की वेबसाइट पर हुआ है. इसलिए गुजरात के पहले चरण के चुनाव में कांग्रेस को 89 में से 65 सीटें देने वाले सर्वे का दावा झूठा साबित हुआ है.


यहां देखें वीडियो



फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: know truth of this viral survey
Read all latest Gujarat Assembly Election 2017 News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story यूपी सरकार का प्रदेश में अवैध लाउडस्पीकरों पर कार्रवाई का आदेश