भारत की सीमा पर हमले के लिए बढ़ते युद्ध टैंक का सच

भारत की सीमा पर हमले के लिए बढ़ते युद्ध टैंक का सच

डेढ़ मिनट के इस वीडियो में ताबड़तोड़ युद्ध के टैंक जाते हुए दिखाई दे रहे थे. दावा है कि ये टैंकर भारत पर हमले के लिए चीन ने रवाना किए हैं. लोग कह रहे हैं कि चीन की सेना बीजिंग से ल्हासा की तरफ जा रही है.

By: | Updated: 24 Jul 2017 10:26 PM

नई दिल्ली: चीन की सेना ने एक बार फिर भारत को युद्ध की धमकी दी है. चीनी सेना सीमा पर अपनी सेना की संख्या भी बढ़ाने वाली है लेकिन सोशल मीडिया पर वीडियो के जरिए दावा है कि चीन इस बार सिर्फ धमकी नहीं दे रहा है बल्कि उसने टैंक भी सीमा पर युद्ध के लिए भेजने शुरू कर दिए हैं. इस वीडियो को सही बताने के लिए दावे के मुताबिक ये सारे टैंक भारत-चीन सीमा पर युद्ध के लिए जा रहे हैं.


क्या दिख रहा है वायरल वीडियो में ?
डेढ़ मिनट के इस वीडियो में ताबड़तोड़ युद्ध के टैंक जाते हुए दिखाई दे रहे थे. दावा है कि ये टैंकर भारत पर हमले के लिए चीन ने रवाना किए हैं. लोग कह रहे हैं कि चीन की सेना बीजिंग से ल्हासा की तरफ जा रही है. वीडियो में पहाड़ों से घिरी सड़क पर तेजी से कुछ युद्ध टैंक जाते दिखते हैं. हर टैंक पर तीन-चार जवान तैनात हैं. टैंकों के बीच में एक दो गाड़ियां भी गुजरती है लेकिन टैंकों का तांता सा दिखाई देता है.



क्या है वायरल हो रहे वीडियो का सच?
एबीपी न्यूज़ ने वायरल हो रहे वीड़ियो की पड़ताल की. पड़ताल में पता चला कि सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर ये वीडियो इंटेल क्रैब ने जारी किया है. हमने इंटल क्रैब के बारे में जानकारी जुटाई. इंटल क्रैब ने अपने बारे में दावा किया वो अमेरिका की ऐसी वेबसाइट है जो दुनिया भर के सैन्य हलचलों पर नजर रखती है और उनका विश्लेषण भी करती है.


इसके बाद हम इंटेल क्रैब की वेबसाइट पर पहुंचे तो वहां चीन और भारत विवाद की तमाम खबरों का लेखा-जोखा भरा पड़ा था. यानि ऐसी वेबसाइट थी जो दुनिया की सैन्य हलचल पर नजर बनाए हुए थी.


वायरल वीडियो में हाइवे पर मैकेनाइजड व्हीकल जिन्हें इंफंट्री कॉम्बेट व्हीकल (आईसीवी) भी कहते है तेजी से दौड़े जा रहे हैं. एक उल्टी दिशा से आ रही गाड़ी ये वीडियो बना रही है. पहली नजर में ऐसा लगता है कि यै टैंक सड़क पर दौड़ रहे हैं लेकिन ग्राफिक्स की तरह लग रहे इस वीडियो को गौर से देखने पर पता चलता है कि ये सैनिकों को ले जाने वाली गाड़ियां हैं.


भारत की साइबर सिक्योरिटी से जुड़े सूत्रों ने एबीपी न्यूज को बताया कि ये वीडियो जरूर चीनी सेना का है लेकिन ये डोकलाम विवाद से पहले का वीडियो है. डोकलाम इलाका ल्हासा से करीब 750 किलोमीटर की दूरी पर है. यानि वीडियो का ताजा विवाद से कोई संबंध नहीं है और ये पहली बार नहीं है जब से भारत-चीन विवाद गर्माया है कई दावे होते रहे हैं.


इसलिए हमारी पड़ताल में भारत की सीमा पर हमले के लिए बढ़ते चीन के युद्ध टैंकों का दावा करने वाला वायरल वीडियो झूठा साबित हुआ है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story SSC CHSL Tier I: एसएससी ने जारी किया एडमिट कार्ड, ऐसे करें डाउनलोड