कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां 25 दिसंबर को पाकिस्तान आयेंगे : विदेश कार्यालय-Kulbhushan Jadhav's wife and mother will arrive in Pakistan on December 25: Foreign Office

कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां 25 दिसंबर को पाकिस्तान आयेंगे: पाक विदेश विभाग

विदेश विभाग ने बताया कि जाधव की पत्नी और मां 25 दिसंबर को हवाई जहाज से पाकिस्तान पहुंचेंगे और उसी दिन वापस लौट जायेंगे. भारतीय उप उच्चायुक्त उनके साथ आने वाले राजनयिक होंगे.

By: | Updated: 24 Dec 2017 03:46 PM
Kulbhushan Jadhav’s wife and mother will arrive in Pakistan on December 25: Foreign Office

इस्लामाबाद: जासूसी के कथित आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां 25 दिसंबर को पाकिस्तान आयेंगे. पाकिस्तान के विदेश विभाग ने यह जानकारी दी. विदेश विभाग ने बताया कि जाधव की पत्नी और मां 25 दिसंबर को हवाई जहाज से पाकिस्तान पहुंचेंगे और उसी दिन वापस लौट जायेंगे. भारतीय उप उच्चायुक्त उनके साथ आने वाले राजनयिक होंगे.


विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘भारत ने सूचित किया है कि कमांडर जाधव की पत्नी और मां 25 दिसंबर को व्यावसायिक उड़ान से यहां आयेंगी और उसी दिन वापस लौट जायेंगी. इस्लामाबाद में भारतीय उप उच्चायुक्त उनके साथ रहने वाले राजनयिक होंगे.’’ पाकिस्तान ने 20 दिसंबर को जाधव की पत्नी और उनकी मां के लिये वीजा जारी किया था. पाकिस्तान ने इस बात पर भी सहमति जताई थी कि इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग का एक राजनयिक उनके साथ होगा.


ये है जाधव के अपहरण की पूरी कहानी


कुलभूषण जाधव ने भारतीय नौसेना में काम किया था. नौसेना की नौकरी छोड़ने के बाद जाधव 2003 में ईरान चले गए जहां कमिंगा ट्रेडिंग नाम की कंपनी शुरू करके स्क्रैप का बिजनेस करने लगे. ईरान में जाधव के बिजनेस के तौर तरीके लोगों की नजर में आने लगे. चाबहार ईरान पाकिस्तानी सीमा पर है और विदेशियों के अपहरण, फिरौती के धंधे के लिए बदनाम है.


जाधव बिजनेस बढ़ाने में लगे हुए थे. उसी दौरान उनका संपर्क ऐसे लोगों से हो गया जो हर तरीके के गोरखधंधे में लगे हुए थे. इसी दोस्ती यारी में जाधव के पास किसी बलूच नागरिक का ऐसा ऑफर आया कि जाधव लालच में आ गए. जिसके कुलभूषण जाधव ने बहुमूल्य ऑफर समझा वो असलियत में जाधव को फांसने की नापाक साजिश थी.


फिर क्या. जाधव किराए की कार लेकर ईरान के चाबहार से एक सहयोगी के साथ पाकिस्तान सीमा से सटे सरावन रवाना हुए. वहां उनकी कार में एक बलूच अलगाववादी भी बैठ गया. वही बलूच व्यक्ति जाधव को लेकर पाकिस्तान की सीमा में लेकर चला गया. एक घंटे तक कार चली. एक घंटे बाद कुलभूषण जाधव पाकिस्तान की पकड़ में थे.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Kulbhushan Jadhav’s wife and mother will arrive in Pakistan on December 25: Foreign Office
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story आधार नहीं है लाभ पहुंचाने के लिए सर्वश्रेष्ठ मॉडल: सुप्रीम कोर्ट