यहां पढ़ें: किस जिले और किस जाति के हिस्से कितने मंत्री?

By: | Last Updated: Friday, 20 November 2015 2:08 PM
Lalu’s son Tejashwi become deputy cm

नई दिल्ली: नीतीश कुमार ने 28 मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है . नई सरकार में लालू यादव की छाप साफ दिख रही है . लालू ने जहां अपने दोनों बेटों को मंत्री बनाया है वहीं बेटों की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले नेताओं को भी मंत्री पद से नवाजा है .

 

वैशाली से सबसे ज्यादा मंत्री

सबसे ज्यादा मंत्री वैशाली जिले से बने हैं . वैशाली जिले में विधानसभा की 8 सीटें हैं . 6 सीटों पर महागठबंधन की जीत मिली थी . इनमें से 3 को मंत्री बनाया गया है . दो लालू के बेटे हैं जबकि तीसरे राजापाकड़ से जीते शिवचंद्र राम . महुआ सीट पर तेज प्रताप की जीत शिवचंद्र के बिना संभव नहीं थी . इसलिए लालू ने उन्हें भी बेटे की जीत का तोहफा दिया है . मंत्री बनाए गए आलोक मेहता भी महुआ के ही रहने वाले हैं . कोइरी वोटरों को लालू के बेटे के पुक्ष में एकजुट करने में आलोक ने अहम भूमिका निभाई थी . आलोक खुद को समस्तीपुर की उजियारपुर सीट से जीते ही तेज प्रताप को जितवाकर भी अपनी बिरादरी के नेता होने का लोहा मनवा दिया .

 

दरभंगा को भी बंपर दिया

दरभंगा जिले से भी तीन मंत्री बने हैं . अलीनगर के विधायक अब्दुल बारी सिद्दीकी, गौरा बौराम के विधायक मदन सहनी और दरभंगा से विधान परिषद के सदस्य मदन मोहन झा को मंत्री बनाया गया है . तीनों अलग अलग दलों से हैं .

 

किस जिले को क्या मिला ?

रोहतास से 2, समस्तीपुर से 2, सारण से 2 मंत्री बने हैं .सीमांचल में सिर्फ पूर्णिया से ही मंत्री बना है . यादव बहुल कोसी के तीनों जिले मधेपुरा, सहरसा और सुपौल से 1-1 मंत्री बने हैं . पूर्वी बिहार में मुंगेर, जमुई से भी 1-1 मंत्री बनाये गये हैं . मगध में जहानाबाद और औरंगाबाद से 1-1 मंत्री बने हैं. नीतीश के नालंदा से भी 1 मंत्री बना है . मधुबनी और बेगूसराय से भी 1-1 मंत्री बने हैं . मुजफ्फरपुर और बेतिया जिले से 1-1 मंत्री बनाये गये हैं .

 

इन जिलों को कुछ नहीं मिला

मोतिहारी, सीतामढ़ी, शिवहर, गोपालगंज, सीवान, अररिया, कटिहार, किशनगंज, भागलपुर, बांका, खगड़िया, लखीसराय, नवादा, आरा, पटना, अरवल, कैमूर, गया जिलों को निराशा हाथ लगी है . बिहार में कुल 38 जिलें हैं . यानी राज्य के आधा हिस्से को सरकार में शामिल नहीं किया गया है . जिन इलाके को मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है उस इलाके से महागठबंधन के करीब 70 विधायक आते हैं .

 

किस जाति को क्या मिला ?

सबसे ज्यादा यादव जाति से 7 मंत्री बने हैं . 5 दलित भी हैं . 4 अति पिछड़ा, 4 मुस्लिम, 4 सवर्ण, 3 कोइरी, 1 कुर्मी  (मुख्यमंत्री को छोड़कर )मंत्री बना है . सवर्णों में 2 राजपूत, 1 ब्राह्मण और 1 भूमिहार शामिल हैं . पिछली सरकार में मंत्री रहे सिर्फ 4 लोगों को इस कैबिनेट में जगह मिली है . 28 में से 17 लोग पहली बार मंत्री बने हैं . दो महिला भी पहली बार मंत्री बनी हैं . आरजेडी से अनीता देवी और जेडीयू से मंजू वर्मा को मंत्री बनाया गया है . कांग्रेस से कोई महिला मंत्री नहीं बनी हैं .

 

 

एबीपी न्यूज की खबर पर मुहर लगी. लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव उप मुख्यमंत्री बने.

 

नीतीश सरकार के मंत्री

नीतीश कुमार-मुख्यमंत्री

तेजस्वी यादव – उपमुख्यमंत्री और सड़क निर्माण मंत्री

 

तेज प्रताप को स्वास्थ्य मंत्रालय

 

अब्दुल बारी सिद्दकी-वित्त मंत्री

ललन सिंह- जलसंसाधन मंत्री

अवधेश सिंह-पशुपालन

विजेंद्र यादव-ऊर्जा

मदन मोहन झा- राजस्व मंत्री

 

 

आज पूरे दिन क्या हुआ?

 

नीतीश कुमार ने पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में शुक्रवार दोपहर दो बजे अपने तीसरे कार्यकाल के लिए पांचवीं बार सीएम पद की शपथ ली. नीतीश के साथ ही 28 सदस्यीय मंत्रिमंडल ने भी शपथ ली.

 

नीतीश के बाद आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद के दोनों बेटों तेजस्वी और तेज प्रताप ने बारी-बारी से मंत्री पद की शपथ ली. नीतीश के बाद लालू के छोटे बेटे तेजस्वी ने शपथ ली.

 

नीतीश पांचवीं बार बने सीएम, जानें मंत्रिमंडल का पूरा ब्यौरा 

शपथ ग्रहण समारोह में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, पूर्व पीएम एचडी देवगौड़ा, सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी सहित कई बड़ी राजनैतिक हस्तियां शामिल हुईं. पटना में कोहरे के कारण राहुल गांधी का विमान देर से लैंड किया, इसलिए राहुल पटना में पहुंचकर भी शपथ ग्रहण समारोह में शरीक नहीं हो सके.

 

पांचवीं बार सीएम बने नीतीश, लालू के बेटे तेजस्वी बनेंगे डिप्टी सीएम 

नीतीश ने पीएम मोदी को भी शपथ ग्रहण समारोह में आने के लिए दावत दी थी, लेकिन उनकी तरफ से केंद्रीय मंत्री वैंकया नायडू शरीक हुए.

 

इस शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी की सहयोगी दल शिवसेना और अकाली दल के नेता भी शरीक हुए. शिवसेना ने महाराष्ट्र सरकार में शामिल दो मंत्रियों को भेजा था तो पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर बादल खुद ही हाजिर हुए.

 

जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्लाह और फारुक अब्दुल्लाह भी शरीक हुए. लेकिन पड़ोसी राज्य यूपी के सीएम अखिलेश यादव शरीक नहीं हुए. अखिलेश की पार्टी ने बिहार चुनाव से पहले सीटों के बंटवारे को लेकर महागठबंधन से खुद को अलग कर लिया था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Lalu’s son Tejashwi become deputy cm
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017