जेपी को उनकी 38वीं पुण्यतिथि पर दी गई श्रद्धांजलि

जेपी को उनकी 38वीं पुण्यतिथि पर दी गई श्रद्धांजलि

इंदिरा को चुनौती देकर 1974 में सम्पूर्ण क्रांति की शुरूआत करने वाले जेपी का जन्म 11 अक्तूबर, 1902 को बिहार के सिताबदीयारा में हुआ था. आठ अक्तूबर, 1979 में उनके निधन के बाद 1999 में उन्हें मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया.

By: | Updated: 08 Oct 2017 10:29 PM

नई दिल्ली: भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के खिलाफ ‘सम्पूर्ण क्रांति’ का आह्वान कर विद्यार्थियों को इस बदलाव से जोड़ने वाले जयप्रकाश नारायण ऊर्फ जेपी को उनकी 38वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी गयी.


सम्पूर्ण क्रांति के दौरान जेपी के साथ जुड़े रहे और उनके शिष्य माने जाने वाले उपभोक्ता कार्य, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने ट्वीट किया है, ‘‘भारत रत्न, लोकनायक श्री जय प्रकाश नारायण जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धासुमन. आपके क्रांतिकारी विचार सदैव हम सबका मार्गदर्शन करते रहेंगे!’’







धर्मेन्द्र प्रधान ने ट्वीट किया है, ‘‘भारतीय राजनीति के युग पुरूष ‘लोकनायक’ जयप्रकाश नारायण की पुण्यतिथि पर भावपूर्ण नमन.’’








केन्द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट किया है, ‘‘महान नेता, स्वतंत्रता सेनानी और पूर्ण क्रांति का आह्वान करने वाले लोकनायक जय प्रकाश नारायण जी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि.’’


मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया है, ‘‘भारतीय लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा के लिए सम्पूर्ण क्रांति का आह्वान करने वाले लोकनायक जयप्रकाश नारायण को पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि.’’






इंदिरा को चुनौती देकर 1974 में सम्पूर्ण क्रांति की शुरूआत करने वाले जेपी का जन्म 11 अक्तूबर, 1902 को बिहार के सिताबदीयारा में हुआ था. आठ अक्तूबर, 1979 में उनके निधन के बाद 1999 में उन्हें मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गुजरात चुनाव: पीएम के अभिवादन पर कांग्रेस को आपत्ति, मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने दिए जांच के आदेश