मुजफ्फरनगर दंगा : नेताओं को क्लीनचिट के बाद राजनीति गरमाई

By: | Last Updated: Monday, 7 March 2016 10:20 AM
Local officials, intel agencies to blame for Muzaffarnagar Riots

(फाइल फोटो)

नई दिल्ली/लखनऊ : सन 2013 में यूपी के मुजफ्फरनगर में हुए दंगों की जांच कर रहे जस्टिस विष्णु सहाय जांच आयोग ने दंगे के लिए अखिलेश सरकार समेत राजनीतिक दल के नेताओं को क्लीन चिट दे दी है. रिपोर्ट में दंगों के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया गया है. अब इसे लेकर राजनीति गरमा गई है. कांग्रेस ने इस पर तेवर कड़े कर लिए हैं.

क्लीन चिट मिलने पर कांग्रेस समर्थक शहजाद पूनावाला ने बड़ा सवाल उठाया है. आपके चैनल ABP न्यूज से बातचीत करते हुए दंगों में याचिकाकर्ता रहे पूनावाल ने कहा कि ये ‘गुजरात मॉडल ऑफ क्लीन चिट’ है. बीएसपी नेता सुधींद्र भदौरिया ने कहा है कि यूपी में अशांति का माहौल है. उन्होंने कहा कि सरकार लोगों को सुरक्षा को लेकर लापरवाह है.

अधिकारियों की लापरवाही को दंगे फैलने का जिम्मेदार ठहराने के साथ रिपोर्ट में इंटेलिजेंस की नाकामी को भी बड़ी चूक माना गया है. जांच आयोग ने 2013 में दंगों के वक्त मुजफ्फरनगर के एसएसपी रहे सुभाष चंद्र दुबे और लोकल इंटेलिजेंस इंस्पेक्टर प्रबल प्रताप सिंह को सीधे जिम्मेदार बताया है. इसके अलावा जिले के तत्कालीन डीएम कौशल राज शर्मा की भूमिका की जांच की बात रिपोर्ट में है.

आयोग के मुताबिक कादिर राणा, संगीत सोम के खिलाफ मामला अभी पुलिस में दर्ज है और उसकी जांच चल रही है. इसलिए दोनों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा सकती. यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खान ने इशारों ही इशारों में मुजफ्फरनगर दंगों के लिए बीजेपी को दोषी ठहराया है. आजम खान मीडिया को भी दोष देने में पीछे नहीं रहे.

हालांकि, बीजेपी अब भी मुजफ्फरनगर दंगों को अखिलेश सरकार की सबसे बड़ी विफलता करार दे रही है. जांच आयोग की रिपोर्ट में सोशल मीडिया और प्रिंट मीडिया की भूमिका पर भी सवाल उठाया गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि दंगों के बारे में बढ़ा-चढ़ाकर और झूठी अफवाह फैलाने में सोशल मीडिया और प्रिंट मीडिया की भूमिका थी लेकिन उन्हें दंगे के लिए दोषी नहीं माना जा सकता. अगस्त-सितंबर 2013 में यूपी के मुजफ्फऱनगर में भीषण दंगे हुए थे, जिनमें 68 लोगों की मौत हुई थी. दंगे नहीं रोक पाने को लेकर अखिलेश सरकार की किरकिरी हुई थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Local officials, intel agencies to blame for Muzaffarnagar Riots
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017