आईआईआईटी विधेयक को लोकसभा की मंजूरी

By: | Last Updated: Wednesday, 26 November 2014 3:05 PM
Lok Sabha passes IIIT Bill

नई दिल्ली: लोकसभा ने सूचना प्रौद्योगिकी शिक्षा में सुधार के लिए इससे संबंधित चार प्रमुख संस्थानों को एक अकेले प्राधिकार के अधीन लाने और इनके छात्रों को डिग्री मिलने में मदद देने संबंधी विधेयक को आज अपनी मंजूरी दे दी.

 

इस साल 26 मई को गठित नरेन्द्र मोदी सरकार के तहत लोकसभा से पारित होने वाला यह पहला शिक्षा संबंधी विधेयक है.

 

भारतीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी (आईआईआईटी) विधेयक 2014 पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि इन संस्थानों के छात्र अब डिग्री पा सकेंगे. उन्होंने कहा कि सरकार इन संस्थानों को अच्छे से अच्छे शिक्षक को आकषिर्त कराने का प्रयास करेगी.

 

उन्होंने कहा कि इस विधेयक के पारित होने से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ‘डिजिटल इंडिया’ का सपना साकार होगा.

 

जिन चार संस्थानोंे को इस प्राधिकार के तहत लाने का प्रावधान किया गया है उनमें आईआईआईटी इलाहाबाद, आईआईआईटी ग्वालियर, आईआईआईटी डिजाइन एवं मैनुफक्चरिंग जबलपुर और आईआईआईटी डिजाइन मैन्यूफैक्चरिंग कांचिपुरम शामिल हैं.

 

इस विधेयक के पारित हो जाने पर इन संस्थानों को स्वतंत्र दर्जा प्राप्त हो जायेगा और इससे इनके छात्रों को डिग्रियां मिल सकेंगी.

 

इस विधेयक को लोकसभा के पिछले सत्र अगस्त में पेश किया गया था. मूलत: यह विधेयक 2013 में पेश हुआ था लेकिन पंद्रहवीं लोकसभा के भंग होने के साथ ही यह भी निरस्त हो गया क्योंकि पिछली सरकार इसे पारित नहीं करवा सकी थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Lok Sabha passes IIIT Bill
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP IIIT lok sabha
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017