लखनऊ यूनिवर्सिटी ने जारी किया फरमान, वैलेंटाइन डे के दिन छात्रों की एंट्री पर लगाया बैन । Lucknow university banned entry of any student on 14 february

वैलेंटाइन डे पर लखनऊ यूनिवर्सिटी का संस्कारी फरमान, कैंपस में छात्रों की एंट्री बैन

यूनिवर्सिटी ने एक एडवाइजरी जारी कर कहा कि पाश्चात्य संस्कृति से प्रभावित हो कर कुछ छात्र 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाते हैं इसलिए इस दिन महाशिवरात्रि पर्व की छुट्टी रहेगी और कोई भी छात्र कैंपस में नहीं आएगा.

By: | Updated: 13 Feb 2018 11:21 AM
Lucknow university banned entry of any student on 14 february

लखनऊ: एक तरफ जहां प्यार करने वालों पर इन दिनों वैलेंटाइन वीक का बुखार सिर चढ़कर बोल रहा है तो वहीं लखनऊ यूनिवर्सिटी ने प्रेमियों के खिलाफ संस्कारी फरमान जारी किया है. यूनिवर्सिटी ने एक एडवाइजरी जारी कर कहा कि पाश्चात्य संस्कृति से प्रभावित हो कर कुछ छात्र 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाते हैं इसलिए इस दिन महाशिवरात्रि पर्व की छुट्टी रहेगी और कोई भी छात्र कैंपस में नहीं आएगा. यूनिवर्सिटी ने बात यहीं तक नहीं की, बल्कि यह भी कहा कि अगर कोई इस दिन विश्वविद्यालय परिसर में घूमता पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.





यह फरमान यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर विनोद सिंह ने जारी किया है. 10 फरवरी को जारी की गई इस एडवाइजरी में यह भी कहा गया है कि विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों के माता-पिता भी इस बात का खयाल रखें कि कोई भी छात्र इस दिन यूनिवर्सिटी में न आए. इस दिन लड़के या लड़की को किसी भी प्रकार के गिफ्ट देने या लेने पर भी रोक लगा दी गई है. अगर लड़का या लड़की परिसर में घूमते हुए पाया जाता है तो उस पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी.


बता दें कि देश भर के कई कट्टर धार्मिक संगठन वैलेंटाइन डे का विरोध करते हैं और इसे पाश्चात्य संस्कृति का नाम देते हैं. पिछले कई सालों में वैलेंटाइन के मौके पर प्रेमियों को पीटने और उन्हें डराने-धमकाने की मामले सामने आए हैं. बजरंग दल जैसे संगठन इसमें अग्रणी भूमिका रहे हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Lucknow university banned entry of any student on 14 february
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story देश के पुलिस बल में हैं महज 7.28 फीसद महिलाएं, कैसे होगा पीएम मोदी का सपना साकार?