अखलाक की हत्या के पीछे दंगों की साजिश थी- खुफिया रिपोर्ट

By: | Last Updated: Monday, 5 October 2015 9:15 AM

ग्रेटर नोएडा: खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक बिसाड़ा गांव में अखलाक की हत्या कोई हादसा नहीं, बल्कि इसके पीछे सांप्रदायिक दंगा भड़काकर मुजफ्फरनगर से ज्यादा बुरे हालात पैदा करना था.

 

टाइम्स ऑफ इंडिया ने खुफिया रिपोर्ट के आधार पर कहा कि आसपास के गांव में एक मस्जिद को भी तोड़ने की योजना थी. रिपोर्ट के मुताबिक प्रशासन की मुस्तैदी और गांववालों के बीच-बचाव से ये मामला आसपास के गांवों में फैलने से बच गया.

 

BLOG: अखलाक को अब ‘गिद्ध’ नोंच रहे हैं? 

अखबार ने खुफिया रिपोर्ट के आधार पर कहा है कि साथा चौरसी के पूरे इलाके में दंगा भड़काने की योजना थी.  बिसाड़ा गांव राजपूतों के गांवों से घिरा हुआ है, जिसे साथा चौरसी कहा जाता है. इन राजपूत गांवों के करीब में ही डासना और मसूरी गांव हैं, जहां बड़ी संख्या मुस्लिम आबादी बसती है.

 

खुफिया रिपोर्ट का कहना है कि अखलाक की हत्या के दूसरे दिन दादरी में एनटीपीसी के पास गोहत्या के खिलाफ प्रदर्शन इसी कड़ी का हिस्सा था.

 

साथा चौरासी गाज़ियाब लोकसभा का हिस्सा है, इसमें गाज़ियाबाद, गौतम बुद्धनगर, बुलंदशहर, मेरठ, बागपत और मुजफ्फरनगर के इलाके आते हैं. इन इलाकों में 60 ऐसे गांव हैं जहां सिसोदिया राजपूत का बर्चस्व है, जबकि 84 गावों में तोमर राजपूतों का बर्चस्व हैं. बिसाड़ा भी राजपूत बहुल गांव है.

 

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक अखलाक की हत्या का मामला सोमवार की रात 10.40 पर थाने में रिपोर्ट किया गया. पुलिस 10.50 पर पहुंची. पुलिस का कहना है कि अगर गांव वाले नहीं रोकते तो भीड़ पुलिस पर भी हमला कर देती.

 

11.10 बजे डिप्टी एसपी अनुराग सिंह पहुंचते हैं. उसके बाद एसपी संजय सिंह पहुंचते हैं. इस दौरान गौतम बुद्धनगर के पुलिस चीफ किरन एस को जानकारी दी गई. किरन एस रात 1 बजे बिसाड़ा गांव पहुंचे. डीएम 2.30 बजे पहुंचे और एसएसपी ने शांति के लिए गांव वालों से बात की.

 

रिपोर्ट में कहा गया है कि बिसाड़ा गांव में कुछ ऐसे ‘तत्व’ मौजूद थे जो गांव वालों को धर्म के नाम पर गुमराह कर रहे थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Lynching planned to stoke unrest: Intel
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017