किसानों की समस्या सुनने के बजाय फेसबुक पर लड़कियां देख रहे थे साहब

By: | Last Updated: Monday, 26 October 2015 9:56 AM
Madhya pradesh: controversial statement of minister

भोपाल: एक तरफ देश में किसानों की बुरी दुर्दशा है जिसके कारण किसानों की ख़ुदकुशी के मामले बढ़ते जा रहे हैं. बढ़ती मंहगाई के लिए भी खेती की दुर्दशा को जिम्मेदार मन जा रहा है.

ऐसे में मध्य प्रदेश के दो मामले सरकार के मंत्री और अधिकारियों की किसानो के प्रति असंवेदनशीलता को दर्शाते हैं.

 

पहला मामला मध्य प्रदेश के मुरैना का है. यहां एडीजीपी सुशोभन बनर्जी सूखा पीड़ित किसानों की समस्याएं सुन रहे थे लेकिन वहीं बैठे एसडीएम अजय कटेसरिया और सर्वेश यादव फेसबुक पर लड़कियां देख रहे थे.

 

वहीं दूसरे मामले में मध्यप्रदेश सरकार की मंत्री कुसुम मेहदेले ने किसानों की खुदकुशी को लेकर एक विवादित बयान दिया है. मंत्री के अनुसार किसान सूखे की वजह से खुदकुशी नहीं करते.

 

एमपी की ग्रामोद्योग मंत्री कुसुम मेहदेले ने कहा है कि जब जवान बेटे की मौत पर कोई खुदकुशी नहीं करता, सूखा उससे बड़ा संकट तो नहीं है. हलांकि उन्होंने माना कि किसान खुदकुशी कर रहे हैं लेकिन जवान बेटे की मौत से जोड़कर कहा कि किसान खुदकुशी न करें.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Madhya pradesh: controversial statement of minister
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017