दिल्ली में 15 दिन के लिए मैगी बैन

By: | Last Updated: Wednesday, 3 June 2015 11:10 AM
Maggi ban in delhi for 15 days

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने मैगी पर बैन लगा दिया है . दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने नेस्ले कंपनी का पक्ष सुनने के बाद दिल्ली भर में मैगी बेचने पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने का फैसला किया है . दिल्ली में मैगी की बिक्री पर ये रोक पंद्रह दिनों तक जारी रहेगी . सरकार ने कंपनी को कहा है कि दिल्ली भर से तमाम स्टॉक हटाएं  मैगी बनाने वाली कंपनी नेस्ले इंडिया के अफसरों ने आज दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से मिलकर अपना पक्ष रखा. दिल्ली सरकार नेस्ले इंडिया के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया था.

 

बिग बाजार ने मैगी पर बैन लगाया, दिल्ली सरकार की जांच में भी मैगी फेल 

दिल्ली सरकार से केस दर्ज करने का आदेश जारी हुआ. तो मैगी इंडिया के अफसर भागे भागे दिल्ली पहुंचे. उन्होंने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि नेस्ले इंडिया ने स्वतंत्र जांच लेबोरेट्री में 600 नमूने और अपनी लेबोरेट्री में एक हजार नमूनों की जांच की. जांच रिपोर्ट में सारे नमूनों में शीशे की मात्रा तय सीमा से कम पाई गई.

 

दिल्ली में पिछले हफ्ते लिए गये मैगी नूडल्स के 13 नमूनों में से दस जांच में फेल हो गए. इसी के बाद  दिल्ली सरकार ने नेस्ले इंडिया पर हानिकारक प्रॉडक्ट बेचने और गलत ब्रैंडिंग का केस दर्ज करने का आदेश दिया है.

 

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि अगर मैडी नूडल्स में गड़बड़ी निकलती है तो इसका प्रचार करने वाले सितारों पर भी कार्रवाई होगी .

 

2 जून को बिहार के मुजफ्फरपुर की अदालत ने मैगी नूडल्स का प्रचार करने पर अभिनेता अमिताभ बच्चन, माधुरी दीक्षित और प्रीति जिंटा पर केस दर्ज करने का आदेश जारी कर दिया है.

 

केन्द्रीय भंडार ने दिल्ली से अपने आउटलेट से मैगी को हटा लिया है.

बिग बाजार ने नेस्ले मैगी को आज से बैन कर दिया है. बिग बाजार ने देश भर में अपने आउटलेट से मैगी को हटा लिया है और इसे नहीं बेचने का निर्णय लिया है. दिल्ली में अब केंद्रीय भंडार गृह में मैगी नहीं बिकेगी.

 

दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि प्रयोगशाला परीक्षण के दौरान मैगी के 13 में से 10 सैम्पल में तय मात्रा से ज्यादा लेड पाया गया.

बिग बाजार और केंद्रीय भंडार के स्टोर में नहीं बिकेगी मैगी 

दिल्ली सरकार केस करेगी. ग्लोबल फूड प्रोसेसिंग कंपनी नैस्ले की ‘मैगी’ खाद्य मानकों पर दिल्ली में भी फेल पाई गई है. दिल्ली में किए गए लैब टेस्ट में मैगी सेहत के लिए ठीक नहीं पाई गई. दिल्ली सरकार के बयान के मुताबिक मैगी के लिए गए 13 नमूनों में से 10 में लेड की मात्रा ज्यादा पाई गई है. इस रिपोर्ट के बाद दिल्ली सरकार ने नैस्ले के खिलाफ केस करने का फैसला किया है.

 

मैगी का प्रचार करने पर माधुरी को मिला नोटिस

 

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन बुधवार को नेस्ले के अधिकारियों से मुलाकात कर सकते है. केरल सरकार ने राज्य के अपने सभी आउटलेट्स पर मैगी बैन कर दी है. देश के दूसरे राज्यों में भी मैगी की जांच चल रही है. पश्चिम बंगाल खाद्य विभाग ने आज एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है जिसमें हाल ही में चल रहे मैगी विवाद पर चर्चा की जाएगी.

 

दिल्ली में मैगी के पैकेट्स में लेड की मात्रा सामान्य से अधिक पाये जाने पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कहा की इस मामले से जुड़ी सभी जानकारी रात भर में जुटाई जा रही है और इस पर बुधवार को कोई बड़ा फैसला लिया जायेगा. दिल्ली सरकार नेस्ले के खिलाफ केस दर्ज करा सकती है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन आज नेस्ले के अधिकारियों से मुलाकात कर सकते हैं.

 

मुंबई में  पास मैगी

मुंबई में लिए मैगी के दो सैंपल टेस्ट में पास हो गए हैं. इन सैंपल में जरूरत से ज्यादा लैड नहीं पाया गया. इसके साथ ही मैगी के और पैकेट ज्यादा सैंपल लेकर फिर से टेस्ट के लिए भेजे गए हैं. इनकी रिपोर्ट शुक्रवार शाम तक आने की उम्मीद है.

 

तीन बॉलीवुड सितारों के खिलाफ होगा केस दर्ज

बिहार की एक अदालत ने कल मैगी के ब्रांड एंबेसेडर.अमिताभ बच्चन, माधुरी दीक्षित एवं प्रीति जिंटा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने तथा आवश्यकता पड़ने पर सिने अभिनेताओं को गिरफ्तार करने के निर्देश दिये जबकि इस उत्पाद को लेकर नेस्ले इंडिया को कुछ अन्य राज्यों में भी समस्या का सामना करना पड़ रहा है.

 

इस बीच, केन्द्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने बिहार के आरा में संवाददाताओं से बातचीत में मैगी नूडल्स मामले का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार एक नया कानून लाने के लिए काम कर रही है जिसमें आवश्यक जिंसों एवं खाद्य पदाथरें के मामले में उपभोक्ताओं से धोखाधड़ी करने के मामलों से निबटने के लिए आजीवन कारावास का प्रावधान होगा. उन्होंने कहा कि आवश्यक जिंसों एवं खाद्य पदाथरें के प्रोत्साहन के लिए भ्रामक विज्ञापन करने वाले लोगों से निबटने के लिए आजीवन कारावास जैसे कड़े दंड का प्रावधान होगा.

 

बिहार के मुजफ्फरपुर में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रामचन्द्र प्रसाद ने काजी मोहम्मदपुर पुलिस थाने को निर्देश दिया कि वह दो नेस्ले अधिकारियों एवं तीन सितारों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करे और शिकायत की जांच करे.

 

अदालत ने पुलिस को यह भी निर्देश दिये कि जांच के दौरान यदि आवश्यकता पड़े तो गिरफ्तारी भी की जा सकती है. यह आदेश वकील सुधीर कुमार ओझा द्वारा दाखिल किये गये मामले की सुनवाई के दौरान दिया गया.

 

याचिका में नेस्ले के प्रबंध निदेशक मोहन गुप्ता, उसके संयुक्त निदेशक सबाब आलम तथा विभिन्न समय पर मैगी के विज्ञापन करने वाले अमिताभ बच्चन, माधुरी दीक्षित एवं प्रीति जिंटा के नाम लिये गये हैं.

 

शिकायतकर्ता ने दावा किया कि उसने मुजफ्फरपुर में लेनिन चौक की एक दुकान से 30 मई को मैगी नूडल्स खरीदे तथा वह उसे खाने के बाद बीमार पड़ गया. इसके चलते उसने नूडल्स के निर्माता नेस्ले तथा फिल्म सितारों के खिलाफ मामला दर्ज कर दिया.

 

यह मामला भारतीय दंड विधान की धारा 270 (हानिकारक कृत्य जिससे जीवन के लिए खतरनाक रोगों के संक्रमण फैलने का खतरा) 270 (हानिकारक भोजन या पेय की बिक्री), 276 (दवा की किसी अन्य दवा या नुस्खे के रूप में बिक्री) एवं 420 (धोखाधड़ी) के तहत दाखिल किया गया है.

 

केरल में उत्पाद हटाने के निर्देश

केरल में सरकारी स्टोरों से इस उत्पाद को हटाने के निर्देश दिये गये. इस बीच, हरियाणा ने भी इस खाद्य वस्तु के नमूने एकत्र करने का निर्देश दिया है.

 

केरल राज्य नागरिक आपूर्ति निगम, जिसे सप्लाइको के नाम से भी जाना जाता है, के राज्य भर में करीब 1400 स्टोर हैं.

 

नूडल्स में मोनोसोडियम ग्लूटमेट एवं जस्ता निर्धारित सीमा से अधिक पाये जाने के बाद देश भर में मैगी नूडल्स के नमूने उठाये गये है ताकि खाद्य सुरक्षा मानकों में कथित चूक की जांच करवायी जा सके. बहरहाल, नेस्ले इंडिया ने दावा किया कि उसने नमूनों की जांच कंपनी की प्रयोगशाला के साथ ही बाहर भी करवायी है तथा उत्पाद को खाने के लिए सुरक्षित पाया गया है.

 

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि वह इन विभिन्न रिपोर्ट को ध्यान में रखते हुए मामले पर गौर करेगी जिनमें कहा गया है कि मैगी के नमूनों में मोनोसोडियम ग्लूटमेट एवं जस्ते की मात्रा स्वीकार्य योग्य मात्रा से अधिक पायी गयी.

 

मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘हमने घटनाक्रमों का संज्ञान लिया है और मामले पर गौर किया जायेगा.’’ नेस्ले इंडिया के लिए पैदा हुई एक नयी समस्या में केरल के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री अनूप जैकब के कार्यालय ने कहा कि एक आदेश जारी कर राज्य में उसकी खुदरा दुकानों से मैगी नूडल्स के वितरण को तब तक अस्थायी रूप से रोक देने के लिए कहा गया है जब तक कि सुरक्षा मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट न हो जाये.

 

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने चंडीगढ़ में बताया, ‘‘हमने मैगी नूडल्स में खाद्य सुरक्षा मानकों की कथित चूक की खबरों का संज्ञान लिया है. मैंने अपने विभाग को निर्देश दिया है कि राज्य भर से इन नूडल्स के नमूने उठाये जाये ताकि उनका प्रयोगशाला में परीक्षण हो सके.’’

 

कर्नाटक में स्वास्थ्य मंत्री यू टी खादेर ने को बताया कि अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि राज्य भर से निर्माण इकाइयों एवं खुदरा दुकानों से मैगी नूडल्स के नमूने बिना किसी क्रम के एकत्र किये जाये ताकि उनका प्रयोगशाला परीक्षण हो सके.

 

संबंधित खबरें-

दिल्ली में भी मैगी हुई फेल 

मैगी विवाद: विज्ञापन करके फंसे सितारे, अमिताभ, माधुरी और प्रीति पर दर्ज होगा केस 

मैगी के नमूनों का परीक्षण कर रहा है FSSAI, हो सकती है ब्रांड एंबेसेडरों पर भी कार्रवाई 

मैगी केस: बॉलीवुड महानायक अमिताभ बच्चन पर भी केस दर्ज 

माधुरी दीक्षित को मैगी मामले में हरिद्वार खाद्य विभाग ने भेजा नोटिस 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Maggi ban in delhi for 15 days
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017