मैगी विवाद: विज्ञापन करके फंसे सितारे, अमिताभ, माधुरी और प्रीति पर दर्ज होगा केस

By: | Last Updated: Tuesday, 2 June 2015 7:14 AM

नई दिल्ली: मुजफ्फरपुर की एक अदालत ने मैगी का विज्ञापन करने को लेकर अमिताभ बच्चन, माधुरी दीक्षित और प्रीति जिंटा के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया है. कोर्ट ने इन तीनों बॉलीवुड सेलिब्रिटीज के अलावा नेस्ले ग्रुप के प्रबंधक मोहन गुप्ता, निदेशक शबाब आलम के खिलाफ भी मुजफ्फरपुर के काजी मोहम्मदपुर थाने में FIR दर्ज करने को कहा है.

गौरतलब है कल मुजफ्फरपुर के एक अधिवक्ता सुधीर ओझा ने CJM कोर्ट में इन सबों के खिलाफ एक complaint case फाइल किया था. CJM ने इस मामले को ACJM कोर्ट को ट्रांसफर कर दिया था.

 

आज ACJM वेदप्रकाश सिंह ने मामले के सुनवाई के बाद FIR दर्ज करने का आदेश दिया. IPC की धारा 270, 272, 273,275, 276, और 420 के तहत मामला दर्ज कराया गया था.

 

कल सरकार ने क्या कहा था?

सरकार ने कहा कि भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) विभिन्न राज्यों से इकट्ठा किए गए मैगी नूडल्स के कुछ और नमूनों का परीक्षण कर रहा है. यह जांच उत्तर प्रदेश के खाद्य सुरक्षा एवं दवा प्रशासन द्वारा मैगी इंस्टैंट नूडल्स के नमूनों में मोनोसोडियम ग्ल्यूटामेट और सीसे की मात्रा तय सीमा से अधिक पाए जाने के बाद की जा रही है.

 

इन परीक्षणों की पूरी रपट दो से तीन दिन में मिलने की उम्मीद है. सरकार ने कहा है कि यदि मैगी के विज्ञापन गुमराह करने वाले पाए जाते हैं तो मैगी के ब्रांड एंबेसेडरों पर भी कार्रवाई हो सकती है.

 

खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने यहां संवाददाताओं से हा ‘‘एफएसएसएआई इस मामले को देख रहा है और वह कार्रवाई करेगा. हमने एफएसएसएआई को पहले ही पत्र लिख दिया है.’’ उन्होंने हालांकि कहा कि उपभोक्ता मामले के विभाग को अब तक मैगी के मामले में किसी उपभोक्तां से कोई शिकायत नहीं मिली है.

 

सरकार द्वारा इस मामले पर उठाए गए कदमों का ब्योरा देते हुए उपभोक्ता मामलों के अतिरिक्त सचिव जी गुरचरण ने कहा ‘‘एफएसएसएआई ने सभी राज्यों से नमूना इकट्ठा किया है. परीक्षण किया जा रहा है. आज कुछ रिपोर्ट आने की उम्मीद है और अगले कुछ 2-3 दिनों हमें पूरी रपट मिल जाएगी.’’

 

अतिरिक्त सचिव ने कहा कि सभी मानकों के आधार पर इसका परीक्षण हो रहा है. उन्होंने कहा कि यदि कोई उल्लंघन हुआ हो तो एफएसएसएआई कार्रवाई करेगा और उपभोक्त मंत्रालय इस मामले में क्लास एक्सन का मुकदमा (उपभोक्ताओं के वर्ग विशेष की ओर से दवा) दायर कर सकता है.

 

यह पूछने पर कि क्या मैगी के ब्रांड एंबेसेडर की भूमिका निभाने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी, गुरचरण ने कहा ‘‘हां, यदि विज्ञापन गुमराह किए जाने वाले पाए जाते हैं तो उन पर कार्रवाई होगी.’’ उन्होंने कहा कि एफएसएसएआई अधिनियम के तहत सुधारात्मक पहल करने और दंड के प्रावधान हैं.

 

मैगी का काम करने वाली नेस्ले इंडिया से इस संबंध में कोई टिप्पणी नहीं मिल सकी. कंपनी के प्रवक्ता को भेजे गए ई-मेल का कोई जवाब नहीं मिला.

 

पिछले सप्ताह उत्तर प्रदेश के खाद्य नियामक ने राज्य के बाराबंकी जिले की अदालत में मैगी पर खाद्य सुरक्षा मानकों के संबंध में एक मामला दर्ज किया.

 

संबंधित खबरें-

मैगी के नमूनों का परीक्षण कर रहा है FSSAI, हो सकती है ब्रांड एंबेसेडरों पर भी कार्रवाई 

मैगी केस: बॉलीवुड महानायक अमिताभ बच्चन पर भी केस दर्ज 

माधुरी दीक्षित को मैगी मामले में हरिद्वार खाद्य विभाग ने भेजा नोटिस 

तो क्या मैगी हो जाएगी बैन! सैंपल में मिले हानिकारक कैमिकल 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: maggi_add_bollywood_celebrities_case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017