महा शिवरात्रि: हर हर महादेव के जयकारो से गूंज उठे शिवालय

By: | Last Updated: Tuesday, 17 February 2015 1:28 PM
maha shivaratri_temple

फोटो क्रेडिट- त्रिनाथ त्रिपाठी

नई दिल्ली: महाशिवरात्रि के मौके पर देशभर में करोड़ों भक्तों ने मंगलवार को भगवान महादेव की पूजा अर्चना की. इसी दिन भगवान शिव का देवी पार्वती से विवाह हुआ था.

 

कई भक्त इस अवसर पर उपवास रखते हैं और रात्रि में शिव विवाहोपरांत व्रत तोड़ते हैं. इस मौके पर शिव विवाह और लोक भाषा में रचित शिव अराधना के गायन की परंपरा है. इसके अतिरिक्त शिव तांडव स्तोत्रम व अन्य स्तोत्रम का पाठ होता है.

 

सुबह से ही मंदिरों में श्रद्धालुओं की लंबी कतार देखी गई और भक्तों ने फूल बेलपत्र एवं फलों के साथ भगवान शिव की पूजा की.

 

पूर्वी दिल्ली में रहने वाले माही मित्तल पिछले पांच वर्षो से महाशिवरात्रि मनाते आ रहे हैं. उन्होंने बताया, “मैं सुबह 6 बजे से ही कतार में खड़ा था. मैं जानता था कि कतार लंबी होगी इसलिए में अत्यंत सुबह ही पूजा करने के लिए आ गया था.”

 

सिविल सेवा के अभिलाषी बृजेश चतुर्वेदी ने कहा कि यह पहला मौका है जब मैंने भगवान शिव के लिए उपवास रखा है.

 

उन्होंने कहा, “चूंकि मेरे दोस्तों ने मुझसे कहा कि दिल्ली के लोकप्रिय मंदिर में भीड़ उमड़ती है इसलिए मैं अपने आवास के नजदीक के शिव मंदिर में गया और 6:30 बजे पूजा की. मैंने केवल फलाहार किया है. पूजा करने के बाद मैं बेहतर अनुभव कर रहा हूं.”

 

राष्ट्रीय राजधानी के कुछ महत्वपूर्ण मंदिरों में 800 वर्ष पुराना गौरी शंकर मंदिर और श्री शिव मंदिर है. दोनों मंदिरों में सुबह 4 बजे से ही लंबी कतार लगी हुई थी.

 

शैला मेहरोत्रा ने कहा कि महा शिवरात्रि के मौके पर हर वर्ष आम दिनों से पृथक इस दिन की सुबह होती है और इस दिन वह उपवास रखती हैं.

 

शैला (57) ने कहा, “मैं नहीं जानती कि कितने अरसे से मैं शिवरात्रि के दिन उपवास रखती आ रही हूं. मैं शिव चालीसा का पाठ करती हूं और शिवलिंग पर दूध, बेलपत्र और फूल अर्पित करती हूं.”

 

उन्होंने कहा, “भगवान शिव और पावर्ती का इसी दिन विवाह हुआ था. विवाहित महिलाएं अपने पति के दीर्घ और सफल जीवन के लिए तो युवतियां बेहतर जीवन साथी, एकदम भगवान शिव के ही जैसे पति के लिए व्रत रखती हैं.”

 

यह त्योहार हिंदुओं के फाल्गुन माह के 13वें या 14वें दिन पड़ता है.

 

उत्तराखंड में धूमधाम से मनायी गयी शिवरात्रि

 

उत्तराखंड में आज महाशिवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया गया और शिव मंदिरों में ‘हर हर महादेव’ के जयघोष के बीच श्रद्घालुओं ने पूजा अर्चना की.

 

हरिद्वार में भी मुख्य स्नान घाट हर की पौड़ी सहित अन्य घाटों पर लाखों श्रद्घालुओं ने गंगा नदी में डुबकी लगायी.

 

मंदिरों में तड़के से ही श्रद्घालुओं की लंबी कतारें देखने को मिलीं और पूजा अर्चना के लिये श्रद्घालुओं को कई घंटों तक अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा.

 

राजधानी देहरादून के प्रसिद्घ टपकेश्वर महादेव मंदिर में भी श्रद्घालुओं की भारी भीड़ उमड़ी. रूद्रप्रयाग जिले में स्थित बाबा केदारनाथ के शीतकालीन प्रवास केंद्र उखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर में भी भारी संख्या में श्रद्घालुओं ने पूजा अर्चना की.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: maha shivaratri_temple
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP India lord shiva maha shivaratri temple
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017