महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना, कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन टूटा, चारों पार्टियां अलग-अलग लडेंगी चुनाव

By: | Last Updated: Friday, 26 September 2014 2:21 AM

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में लंबे समय से चल रहे राजनीति गठबंधन गुरुवार को आखिरकार खत्म हो गए. बीजेपी ने जहां शिवसेना के साथ 25 वर्ष पुराना गठबंधन तोड़ दिया वहीं एनसीपी ने कांग्रेस एवं राज्य में सरकार से भी अलग होने की घोषणा कर दी. इसके साथ ही महाराष्ट्र में कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ गई.

 

महाराष्ट्र में आगामी 15 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों में अब चतुष्कोणीय मुकाबला होने की संभावना प्रबल हो गयी है.

 

बीजेपी ने शिवसेना के साथ गठबंधन तोड़ने की घोषणा की क्योंकि सीट बंटवारे को लेकर वार्ता असफल हो गई. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि शिवसेना छोटी सहयोगियों के लिए सीटें छोड़ने के लिए तैयार नहीं हुई और पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे कथित तौर पर मुख्यमंत्री पद को लेकर अडे हुए थे.

 

टूट गया 25 साल पुराना रिश्ता, बीजेपी बोली-सीएम की कुर्सी के लिए अड़ी रही शिवसेना

 

सबसे पहले बीजेपी-शिवसेना गठबंधन टूटने की खबर आयी जो शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे और बीजेपी नेताओं प्रमोद महाजन और गोपीनाथ मुंडे के प्रयासों से बना था और जो समय की कसौटी पर खरा उतरा. यह गठबंधन इसलिए टूटा क्योंकि कई दौर की वार्ता के बावजूद सीट बंटवारे को लेकर कोई हल नहीं निकल पाया.

 

 

कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन भी टूटा

इसके बाद नम्बर एनसीपी का था जो कि संप्रग में कांग्रेस की सबसे पुरानी सहयोगी पार्टी थी. एनसीपी ने 15 वर्ष पुराना गठबंधन तोड़ने की घोषणा की और इसके लिए मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण की उपेक्षा को जिम्मेदार ठहराया. एनसीपी ने इसके साथ ही सरकार से समर्थन वापसी की भी घोषणा कर दी.

 

वैचारिक स्तर पर दो हिन्दुत्व समर्थक पार्टियों शिव सेना और बीजेपी ने अपने और कुछ छोटी पार्टियों के लिये कई दिनों तक सीटों के बंटवारे के मसले पर बातचीत की. हालांकि कांग्रेस और रांकापा का गठबंधन दोनों ओर से रूखेपन के कारण टूटा.

 

15 साल पुराना एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन भी टूटा 

 

गत लोकसभा चुनावों के परिणाम से उत्साहित बीजेपी ने सीटों की अपनी मांग थोडी उंची करते हुये 135 सीटें देने की मांग की थी जिसे शिवसेना मानने को तैयार नहीं हु . शिवसेना बीजेपी को वही 119 सीटें देने पर तैयार थी जिस पर बीजेपी पूर्व में चुनाव लड़ चुकी थी हालांकि बाद में शिवसेना कुछ और सीटें देने पर राजी हो गयी थी. बीजेपी ने बाद में अपनी मांग को कम करते हुये 130 सीटें देने को कहा लेकिन इस पर भी दोनों पार्टियों में समझौता नहीं हो सका. महाराष्ट्र में पार्टी के प्रभारी राजीव प्रताप रूडी ने आरोप लगाया कि शिवसेना के अड़ियल दृष्टिकोण के चलते गठबंधन टूटा.

 

इन घटनाक्रमों से महाराष्ट्र में राजनीतिक परिदृश्य में नाटकीय बदलाव आया है जहां पहले दो धड़े हुआ करते थे. शिवसेना-बीजेपी और कांग्रेस-एनसीपी.

 

वरिष्ठ बीजेपी नेता एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता एकनाथ खडसे ने इस निर्णय की घोषणा करते हुए कहा, ‘‘25 वर्ष तक चलने वाला शिवसेना-बीजेपी गठबंधन टूट गया है.’’

 

फडनवीस और खडसे ने कहा कि बीजेपी छोटी पार्टियों जैसे स्वाभिमान शेतकारी संगठन और राष्ट्रीय समाज पक्ष के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी. फडनवीस ने कहा, ‘‘हमने आरएसपी और एसएसएस के साथ सीट बंटवारा तय कर लिया है. इसी तरह से हमने शिवसंग्राम के साथ भी कर लिया है.’’ राष्ट्रीय समाज पार्टी (आरएसपी), स्वाभिमान शेतकारी संगठन (एसएसएस) और मराठा नेता विनायक मेते नीत शिव संग्राम गठबंधन का हिस्सा हैं और उनका महाराष्ट्र के हिस्सों में प्रभाव हैं.

 

चुनाव बाद के परिदृश्य में शिवसेना के लिए एक विकल्प खुला छोड़ते हुए बीजेपी नेताओं ने कहा कि वे चुनाव प्रचार के दौरान उसकी आलोचना नहीं करेंगे और ‘‘मित्र’’ रहेंगे.

 

यद्यपि गठबंधन टूटने के तत्काल बाद शिवसेना ने अपनी पूर्व सहयोगी बीजेपी पर तीखा हमला करते हुए कहा, ‘‘यह घटनाक्रम बीजेपी और शरद पवार नीत एनसीपी के बीच मौन सहमति का परिणाम है.’’ शिवसेना सांसद आनंद अदसुल ने कहा, ‘‘बीजेपी और एनसीपी के बीच एक गुप्त समझौता हुआ है. बीजेपी का गठबंधन तोड़ने का नतीजा उसी का परिणाम है.’’ उद्धव के पुत्र आदित्य ने गठबंधन टूटने पर प्रतिक्रिया में कहा, ‘‘बहुत दुख की बात है कि प्रदेश बीजेपी ने शिवसेना के साथ 25 वर्ष पुराना गठबंधन तोड़ने का निर्णय किया जबकि हम उनके बुरे दिनों में भी बिना शर्त उनके साथ रहे.’’

 

 

पिछले महीने कराए गए एबीपी न्यूज-नीलसन के ओपिनियन पोल के मुताबिक शिवसेना-बीजेपी के अलग अलग चुनाव लड़ने पर बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेगी. इस महीने की शुरुआत में कराए गए एबीपी न्यूज- नीलसन के ओपिनियन पोल में हमने लोगों से पूछा था कि अगर बीजेपी और शिवसेना समेत सभी पार्टियां अलग अलग चुनाव लड़े तो फिर किसे वोट देंगे. ओपिनियन पोल के मुताबिक ऐसी स्थिति में बीजेपी को 103 सीट, शिवसेना को 64, एनसीपी को 40 और कांग्रेस को 49 सीटें, एमएनएस को 11 और अन्य दलों को 21 सीटें मिल सकती हैं.

 

जब ये सर्वे कराया गया था तब दोनों पार्टियां साथ थी. अगर आज की ताजा स्थिति के आधार पर कोई ओपिनियल पोल होता है तो आंकड़े बदल भी सकते हैं.

 

एबीपी न्यूज़ संवाददाता उमेश कुमावत का कहना है कि दोनों पार्टियों के बीच असल झगड़ा सीएम के पद को लेकर था. फार्मूला ये तय हुआ कि जिसकी ज्यादा सीटें होंगी उसका सीएम होगा. इसलिए शिवसेना 151 सीटों से कम पर तैयार नहीं थी और बीजेपी को 130 से कम सीटें कम मंजूर नहीं था.

 

याद रहे कि बीजेपी उन 78 सीटों पर शिवसेना से विचार करने की मांग कर रही थी जिन सीटों पर शिवसेना और बीजेपी कभी नहीं जीती. गठबंधन खाते की 56 सीटें ऐसी हैं जिसपर शिवसेना कभी नहीं जीती. बीजेपी उन सीटों में कुछ पर अपनी दावेदारी की मांग कर रही थी.

 

क्या हरा पाएंगे एनसीपी-कांग्रेस को?

महाराष्ट्र में शिवसेना-बीजेपी की राहें अलग हो जाने के बाद एक सवाल अहम है कि क्या शिवसेना और बीजेपी अलग-अलग लड़कर एनसीपी और कांग्रेस को हरा पाएगी.  एबीपी न्यूज़ संवाददाता उमेश कुमावत का कहना है कि शिवसेना और बीजेपी के लिए अब रास्ते मुश्किल दौर में हैं.

 

महाराष्ट्र राजनीति के एक्सपर्ट अशोक वानखेड़े का कहना है कि इस गठबंधन के टूटने के बाद ज्यादा नुकसान बीजेपी को हो सकता है.  वानखेड़े का कहना है कि बहुत हद तक एमएनसी के रुख से तय होगा कि महाराष्ट्र की राजनीति किस करवट जाएगी.

 

अनंत गीते का भविष्य क्या होगा?

शिवसेना कोटे से अनंत गीते मोदी कैबिनेट में मंत्री हैं. जैसे ही बीजेपी ने गठबंधन टूटने का एलान किया. भारी उद्योग मंत्री अनंत गीते मुंबई के लिए रवाना हो गए. खबरें हैं कि बहुत ही जल्द अनंत गीते की किस्मत का फैसला हो जाएगा कि वो मोदी कैबिनेट के सदस्य बने रहेंगे या नहीं.

 

शिवसेना नेता आनंदराव अडसूल का कहना है कि अनंत गीते कैबिनेट में रहेंगे या नहीं, इसका फैसला उद्धव ठाकरे करेंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: maharashtra_alliances_ends
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017