पीएम का विरोधियों को जवाब, कहा- मुंबई को महाराष्ट्र से कोई अलग नहीं कर सकता

By: | Last Updated: Tuesday, 7 October 2014 7:29 AM
maharashtra_pm

नई दिल्ली: महाराष्ट्र को विभाजित करने का प्रयास करने के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज आश्वस्त किया कि जब तक वह दिल्ली में हैं, जब तक कोई ताकत न तो राज्य का विभाजन कर सकती है और न ही मुम्बई को महाराष्ट्र से अलग कर सकती है.

 

आदिवासी बहुल जिले धुले में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ कांग्रेस के नेता कपास और प्याज के बारे में झूठ फैलाते रहे हैं. अब उन्होंने नया झूठ बोलना शुरू किया है. वे कह रहे हैं कि महाराष्ट्र को विभाजित कर दिया जायेगा. क्या देश में कोई ऐसा पैदा हुआ है जो शिवाजी की भूमि को बांट सके ?’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं आपको आश्वस्त करता हूं जब तक मैं दिल्ली में हूं, दुनिया की कोई ताकत न तो महाराष्ट्र को बांट सकती है और न ही मुम्बई को महाराष्ट्र से अलग कर सकती है.’’

 

प्रधानमंत्री की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब खबरों के अनुसार, मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने मोदी पर आरोप लगाया था कि महाराष्ट्र से मुम्बई को अलग करने का उनका छिपा एजेंडा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य है जिसमें देश को वृद्धि के पथ पर आगे ले जाने की क्षमता है और मुम्बई इसके केंद्र में है.

 

पिछले 15 साल से महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ कांग्रेस गठबंधन की किसानों के आत्महत्या करने की घटनाओं को घटित होने देने के लिए आलोचना करते हुए मोदी ने लोगों से 15 अक्तूबर को विधानसभा चुनाव में किसानों के ‘हत्यारों’ को दंडित करने की अपील की. मोदी ने कहा, ‘‘ 15 अक्तूबर को कमल के निशान पर बटन दबाएं और राज्य को कांग्रेस के कुशासन से मुक्ति दिलायें.’’ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर एक तरह से चुटकी लेते हुए मोदी ने कहा कि उन्हें (मोदी) गरीबों के घर जाकर एक गरीब व्यक्ति का भोजन ‘छीनने’ और फोटो खिंचाने की जरूरत नहीं पड़ती क्योंकि वह खुद एक गरीब परिवार से आते हैं.

 

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ मैं आपके बीच लोकसभा चुनाव के दौरान आया था. मैंने आपसे आग्रह किया था कि मुझ पर भरोसा करें. मैंने जो कहा, आपने उसपर भरोसा किया और धुले एवं नंदरबार से बीजेपी सांसद को विजयी बनाकर भेजा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ अब मैं आपके बीच चार महीने बाद फिर आया हूं. राजनीतिक अपना वादा पूरा करना भूल जाते हैं, लेकिन मैं राजनीतिक व्यक्ति नहीं हूं. मैं आपका सेवक हूं. मैं भारत का पहला सेवक हूं.’’ मोदी ने कहा कि जब हमारे कार्यकाल का 60 महीने का समय पूरा होगा, तब मैं हर पल और एक एक पैसे का हिसाब दूंगा. हमने विकास का वादा किया है और हम इसे पूरा करेंगे.

 

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ 15 अक्तूबर का इंतजार करें. जैसे ही बीजेपी सरकार सत्ता में आयेगी, हम पूर्ववर्ती कांग्रेस.एनसीपी सरकार की गलत नीतियों के कारण कपास और प्याज उत्पादकों को हुए नुकसान की भरपाई करेंगे.’’

 

मोदी ने कहा, ‘‘ हम ऐसे लोग नहीं है जो कांग्रेस की तरह गलत वादे करें.’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने मनमाड.इंदौर रेल लाइन का काम पूरा कराने का वादा करके कई चुनाव जीते लेकिन एक इंच लाइन नहीं बिछाई गई.

 

मोदी ने कहा, ‘‘ क्या उन्होंने (कांग्रेस) 60 वर्षों में कुछ भी किया ? पंचायत से संसद तक उनका शासन रहा लेकिन उन्होंने 60 वषरे के शासन का कोई हिसाब नहीं दिया. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ वे ऐसे निर्लज्ज लोग हैं कि वे इसकी बजाए मेरे 60 दिनों के शासन का हिसाब मांग रहे हैं. क्या यह अन्याय नहीं है ? ’’ कांग्रेस और एनसीपी पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ जो लोग हार की कगार पर है, वे अफवाहें फैला रहे हैं.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘ कांग्रेस-एनसीपी ने पिछले वषरे में महाराष्ट्र की पूरी पीढ़ी को बर्बाद कर दिया है. युवाओं के लिए कोई रोजगार नहीं है, महिलाओं को सुरक्षा नहीं है, ये उनके कृत्य हैं. किसान आत्महत्या कर रहे थे, जबकि राज्य एवं केंद्र में उस समय वे (कांग्रेस-एनसीपी) सत्ता में थे.’’

 

मोदी ने लोगों से पूछा, ‘‘ क्या किसानों की आत्महत्या के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित नहीं किया जाना चाहिए ? क्या आप उन्हें दंडित करेंगे ? क्या आप कमल पर वोट देंगे और भ्रष्टों को उखाड़ फेकेंगे ? ’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने 40 वर्ष पहले बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया. तब कांग्रेस के नेता कहते थे कि बैंकों के पैसे का उपयोग गरीबों के लिए होना चाहिए. लेकिन मैं अपने आदिवासी और गरीब मित्रों से पूछना चाहता हूं कि क्या आपने बैंक में किसी गरीब व्यक्ति को देखा है.

 

मोदी ने कहा, ‘‘ हमने प्रधानमंत्री जनधन योजना लागू की है ताकि बैंक के धन का उपयोग गरीबों के लिए हो सके.’’ मराठी में भाषण की शुरूआत करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ मुझे गरीबों के झोपड़े में फोटो खिंचवाकर यह जताने की जरूरत नहीं पड़ती कि मुझे गरीबों की चिंता है. मैं गरीबों के बीच से ही यहां आया हूं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे दो डाक्टर सांसद (धुले से सांसद डा सुभाष भामरे और नंदरबार से डा हिना गावित) हैं, ताकि गरीबी की बीमारी दूर हो सके.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: maharashtra_pm
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017