अरुंधति रॉय ने दिया विवादित बयान, कहा- महात्मा गांधी जातिवादी थे

By: | Last Updated: Friday, 18 July 2014 2:52 PM
mahatma gandhi_arundhati roy

नई दिल्ली : मशहूर लेखिका अरुंधति रॉय ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है. अरुंधति रॉय ने कहा है कि महात्मा गांधी जातिवादी थे.

 

जानी-मानी लेखिका अरुंधति रॉय ने गुरुवार को केरल यूनिवर्सिटी में ये बयान देकर खलबली मचा दी कि महात्मा गांधी जातिवादी थे. एक अखबार के मुताबिक अरुंधति यहीं नहीं रुकी- उन्होंने यहां तक कह डाला कि अब वक्त आ गया है कि गांधी के नाम पर बने यूनिवर्सिटीज के नाम बदल देने चाहिए. अरुंधति ने ये भी कहा कि नाम बदलने की शुरुआत महात्मा गांधी यूनिवर्सिटी से ही करनी चाहिए.

 

 

ये बातें अरुंधति ने जाने-माने दलित नेता महात्मा अय्यनकलि के स्मृति समारोह में कही. बुकर पुरस्कार विजेता अरुंधति रॉय ने 1936 में महात्मा गांधी के एक लेख का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने सलाह दी थी कि सफाई करने वाले मल-मूत्र को खाद में बदल दें. इससे उनके दलितों के प्रति व्यवहार और जाति प्रथा के समर्थन की बात पता चलती है.

 

अरुंधति के इस बयान की कड़ी आलोचना करते हुए महात्मा गांधी के परपोते तुषार गांधी ने कहा है कि अरुंधति रॉय बापू को समझ नहीं पाईं. दूसरी तरफ बीजेपी नेता और दलित चिंतक ने अरुंधति राय के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि ये एक सच्चाई है कि महात्मा गांधी जाति व्यवस्था में यकीन रखते थे.

 

 

 

 

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: mahatma gandhi_arundhati roy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017