मालिण हादसा: तीन महीने की बच्ची ने बचाई अपनी मां की जान

By: | Last Updated: Friday, 1 August 2014 2:04 AM
malin_incident

नई दिल्ली: पुणे जिले के मालिण गांव में अब भी जमीन के नीचे दबे लोगों को निकालने का काम जारी है. अब तक इसमें से 51 लोगों को निकाला गया है जिसमें से 9 लोग जिंदा है. इन जिंदा लोगों में एक तीन महीने की बच्ची भी है. 24 घंटे तक मलबे के नीचे दबे रहने के बाद इस बच्ची को राहतकर्मियों ने जीवित निकाला है. इस बच्ची की वजह से उसकी मां की भी जान बच गई  है. जिस इस वक्त इस बच्ची को बचाया गया उस वक्त उसकी मां वहां पर बेहोश पड़ी थी.

 

आपको बता दें कि यहां पर राहतकर्मी एक मशीन की सहायता से मलबे के नीचे दबे लोगों को ढ़ूढ़ रहे हैं. इसी दौरान राहतकर्मियों को बच्ची की रोने की आवाज सुनाई दी और उसे मां के साथ सुरक्षित निकाल लिया गया. एनडीआरएफ की नौ टीमें, जिनमें 378 बचावकर्मी हैं, खराब मौसम के बावजूद मलबे में दबे लोगों को बचाने में जुटे हैं.

 

आपको बता दें कि कल सुबह भूस्खलन में एक गांव के 44 घर दब गये थे और इनमें लगभग 160 लोगों के फंसे होने की आशंका है. जिला नियंत्रण कक्ष ने बताय है  कि 16 महिलाओं और छह बच्चों सहित 41 लोग मारे गए हैं.

 

हर मृतकों के रिश्तेदारों को उन्होंने प्रधानमंत्री राहत कोष से 2 लाख रुपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की है.

 

पुणे से 120 किलोमीटर की दूरी पर बसे 50 परिवारों वाले इस गांव में भूस्खलन की घटना के बाद बुधवार शाम मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, उप मुख्यमंत्री अजीत पवार, विधानसभा अध्यक्ष दिलीप वल्से-पाटिल और मंत्री हर्षवर्धन पाटिल एवं मधुकरराव पिछड़ ने दुर्घटनास्थल का दौरा किया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: malin_incident
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017