एबीपी एक्‍सक्‍लूसिव: दुबई, ड्रग्स, अंडरवर्ल्ड और एक हीरोइन, क्या है ममता के घर छापे का सच?

By: | Last Updated: Monday, 17 November 2014 3:48 PM
mamta kulkarni exclusive

नई दिल्ली : दुबई, ड्रग्स, अंडरवर्ल्ड और एक हीरोइन. बॉलीवुड इंडस्ट्री का जाना पहचाना चेहरा . 90 की दशक की सुपर स्टार ममता कुलकर्णी ने राज खोला. क्या ड्रग रैकेट चलाने वालों से जुड़े हैं ममता कुलकर्णी के तार. क्या अंडरवर्ल्ड की दुनिया से जुड़ा है ममता का नाम. क्यों आया अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम और छोटा राजन का नाम. क्या है ड्रग्स के आरोप में ममता के घर पर मारे गए छापे का सच.

 

क्या है बिंदास ममता की वह प्रेमकहानी जो उसे मुंबई से दुबई तक खींच ले गई. पिछले कई सालों से गुमनामी के अंधेरे में छिपा हुआ ममता कुलकर्णी का नाम एक बार फिर सुर्खियों में है. ड्रग तस्करी के आरोप में बॉलीवुड अदाकारा ममता कुलकर्णी के घर छापे की खबर से मानो हड़कंप मच गया था.

 

9 नवंबर की रात को केन्या की मोंबासा पुलिस और अमेरिका की ड्रग इनफोर्समेंट एजेंसी के ज्वाइंट ऑपरेशन में ये छापा मारा गया था. ड्रग्स तस्करी के इस मामले की जांच में FBI भी जुड़ चुकी है. ममता के घर पर जब छापा मारा गया तो ममता और उनके साथी विजयगिरि आनंदगिरि गोस्वामी उर्फ विकी. दोनों से पुलिस ने पूछताछ की थी. पूछताछ के बाद पुलिस ने ममता को तो छोड़ दिया था लेकिन ड्रग तस्करी के आरोप में गिऱफ्तार किए गए विकी गोस्वामी को 21 दिनों की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है. लेकिन एबीपी न्यूज से बात करते हुए ममता कुलकर्णी ने इन सारे आरोपों से इंकार किया है.

 

एबीपी से ममता ने कहा कि बिल्कुल गलत है कि मुझे किसी ने पकड़ा है . विकी के बारे में भी सब गलत है. आकासा ने फंसाया. कुछ नहीं मिला ना एवीडेंस ना पेपर. ममता विकी पर लगे आरोपों के लिए बकताश आकाशा अबद्ल्ला का नाम ले रही हैं पकड़े गए चार लोगों में बकताश आकाशा हैं केन्या के अखबारों के मुताबिक बकताश आकाशा केन्या का ड्रग माफिया कहा जाता है.

 

ममता अपने दोस्त को निर्दोष बता रहीं हैं. ममता का दावा है कि उन्होंने कभी शादी नहीं की और वह अपने पार्टनर विजयगिरि आनंदगिरि उर्फ विकी के साथ लिव इन में रहती हैं.

 

लेकिन क्या है वह कहानी जो ममता को मुंबई से पहले दुबई और फिर केन्या तक ले आई. क्या है वह कहानी जिसकी वजह से ग्लैमर की दुनिया में बड़ा नाम बन चुकी ममता योगिनी बन गईं. क्या है वह कहानी जो ममता को मुंबई की चकाचौंध से दुबई में गुमनामी तक खींच ले गई.

 

ममता कुलकर्णी ने ही बॉलीवुड में आइटम नंबर की शुरुआत की थी. ये 1996 का वक्त था एक तरफ बॉलीवुड में ममता मशहूर हो रही थीं तो वहीं फिल्मी दुनिया के लोगों के बीच एक नाम गूंज रहा था विजयगिरि आनंदगिरि गोस्वामी उर्फ विकी.

 

विकी जिसका रुतबा दाऊद इब्राहीम से कम नहीं था. कहा जाता है कि विकी के एक इशारे पर बॉलीवुड के सितारे मुंबई से दुबई चले आते थे. विकी स्टार पर पैसों की बारिश करता था. किसी को कार, किसी को सोने की चेन तो किसी को हीरों का हार. कहा जाता है कि विकी मुंबई में ड्रग सप्लाई करने के लिए मशहूर था वह MANDRAX TABLETS सप्लाई किया करता था.

 

1996-97 में ही विकी ने दुबई में एक होटल खोला था जिसमें बॉलीवुड के कई सितारें शामिल हुए थे. ममता कुलकर्णी का दावा है कि विकी ने बार-बार फोन करके ममता से मिलने की इच्छा जताई थी. ममता ने बताया कि वह फोन करता था मैं मिलती नहीं थी.

 

ममता कई महीनों बाद विकी से मिलीं थीं. और फिर उन्हें पता चला कि विकी को ड्रग तस्करी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है. विकी की गिरफ्तारी के दो साल बाद ममता के पास दुबई से फोन आया कि विकी ने खाना-पीना छोड़ दिया है और यही वह वक्त था ममता ने दुबई जाने का फैसला किया.

 

ममता ने एबीपी से बताया कि जब दुबई आई तो मुझे लगा ये आदमी गलत है. संकल्प लिया था जब तक इसे नहीं छुड़ाऊंगी भारत नहीं जाऊंगी. जब मैं एकदम अकेली थी तो ये आदमी साथ था.

 

ममता जिसकी मदद करने के लिए दुबई गई थीं उस पर छोटा राजन के साथ होने के भी आरोप लगते रहे हैं और विकी ही नहीं ममता कुलकर्णी के साथ भी छोटा राजन का नाम जोड़ा जा चुका है. साल 1998 में राजकुमार संतोषी की फिल्म चाइना गेट रिलीज हुई थी.

 

इसी फिल्म के साथ जुड़ा है ममता कुलकर्णी और अंडरवर्ल्ड के साथ उनके रिश्तों का विवाद. राजकुमार संतोषी की फिल्म घातक में ममता छोटे से रोल में नजर आई थी उसके बाद संतोषी ने उन्हें चाइना गेट में लिया और आइटम नंबर के साथ-साथ फिल्म में रोल भी ऑफर किया लेकिन कहा जाता है कि आधी फिल्म करने के बाद संतोषी ने ममता से कह दिया था कि तुम फिल्म नहीं करोगी और फिर छोटा राजन के फोन के बाद संतोषी ने ममता को फिल्म में लिया था.

 

साल 2002 के बाद ममता बड़े पर्दे से ही नहीं मुंबई से ही गायब हो गईं. वह विकी को जेल से बाहर निकालने की कोशिश करती रहीं और इस कोशिश में वह हीरोइन से योगिनी बन गईं.

 

क्या 12 साल तक आपने मेकअप नहीं किया .

 

ममता कुलकर्णी 12 साल तक गायब रहीं. लौटी तो संन्यासी बनकर और फिर सामने आई ड्रग्स कारोबार से जुड़े एक शख्स के साथ उनकी जिंदगी की ऐसी कहानी जो सुनकर आप चौंक जाएंगे.

 

ममता कुलकर्णी एक और विवाद के साथ लौटी हैं वो भी पूरे 12 साल बाद. ममता के दोस्त का नाम है विजयगिरी गोस्वामी उर्फ विकी गोस्वामी. आरोप संगीन है. विकी गोस्वामी पर आरोप है कि वह केन्या में ड्रग्स का काला कारोबार कर रहा है, एक बार जेल की सजा भी काट चुका है. खुद ममता से भी ड्रग्स कारोबार और विकी गोस्वामी से कनेक्शन को लेकर पूछताछ की खबरें सुर्खियां बनी हुई हैं.

 

ममता कुलकर्णी की जिस रंगबिरंगी दुनिया को आप अब तक जानते थे उस पर पड़ गई है कानून की नजर. ममता कुलकर्णी की खबरों में वापसी की ये कहानी इसलिए भी चौंका रही है क्योंकि पिछले 12 साल से ममता कुलकर्णी कहां थी. क्या कर रही थीं इसका पता किसी को नहीं था. ममता कुलकर्णी ने किसी को पता लगने ही नहीं दिया.

 

20 साल पहले रुपहले पर्दे पर ममता कुलकर्णी ने तमिल फिल्म ननबरगल से से इंट्री ली थी. साल 1992 में ममता कुलकर्णी ने तिरंगा फिल्म से बॉलीवुड का सफर भी शुरू कर दिया था. इसके साल भर बाद ही यानी 1993 में ममता ने आशिक आवारा के साथ न्यू फेस का फिल्म फेयर जीतकर फिल्मी दुनिया में मजबूत दावेदारी ठोक दी. मुंबई के यारी रोड पर रहने वाली ये मराठी बाला ठीक से हिंदी नहीं बोल पाती थी.

 

लेकिन ममता ने तरीका खोज लिया. एक फिल्मी मैगजीन पर छपी एक सनसनीखेज तस्वीर ममता को सुर्खियों में भी ले आई और विवाद में भी. 1993 में छपी एक तस्वीर के लिए ममता को साल 2000 में कोर्ट ने सजा भी सुनाई और 15 हजार रुपये का जुर्माना भी. लेकिन ग्लैमर गर्ल का खिताब ममता को मिल गया. करण अर्जुन, सबसे बड़ा खिलाड़ी, बाजी जैसी फिल्मों से अगले पांच साल तक ममता कुलकर्णी बॉलीवुड में मौके भी पाती रहीं और दर्शकों का प्यार भी.

 

1998 में आई राजकुमार संतोषी की चाइनागेट से ममता ने खुद को एक गंभीर हिरोईन की तरह पेश करने की पहल की लेकिन बात नहीं बनी. साल 2002 तक यानी ममता कुलकर्णी की आखिरी फिल्म कभी हम कभी तुम तक तक ममता की इमेज एक आयटम गर्ल की बनी रही.

 

लेकिन 2002 के बाद की कहानी में सस्पेंस शुरू हो गया. एक इश्क ने जिससे आज ममता कुलकर्णी इंकार करती हैं सब कुछ बदल दिया. विकी गोस्वामी से उनकी मोहब्बत की ये कहानी जिसे वो दोस्ती बताती हैं उन्हें दोबारा सुर्खियों में आई है.

 

ममता भले ही पर्दे पर बिंदास थीं लेकिन उनका दावा है कि वह निजी जिंदगी में किसी ऐसे शख्स से नहीं जुड़ना चाहती थीं जो शादीशुदा हो. ममता ने पिछले 12 बरसों में कभी नहीं बताया कि वो इस बीच कहां और कैसे रहीं. लेकिन वो ड्र्रग्स कारोबार के लिए गिरफ्तार विकी गोस्वामी को छुड़वाने के लिए दुबई चली गई थीं.

 

विकी गोस्वामी जेल से छूट गए और दूसरी तरफ ममता कुलकर्णी देश और फिल्मी दुनिया छोड़ चुकी थीं. दोनों की शादी की खबरें भी आने लगीं लेकिन ममता का दावा है कि उन्होंने शादी ही नहीं की.

 

ममता कुलकर्णी ने ग्लैमर की दुनिया से दुबई में गुमनामी की जिंदगी का ये सफर किन हालात में तय किया इसके बारे में ममता कुछ नहीं बोलतीं लेकिन पिछले साल आई एक खबर ने ग्लैमर बाला के एक और अवतार से पर्दा उठा दिया. खबर ये थी कि  ममता कुलकर्णी लेखक बन गई हैं और ‘एन ऑटोबायोग्राफी ऑफ एन योगिनी’ छप कर आ गई है.

 

इस किताब में जो खुलासा था वो और चौंकाने वाला था. किताब के मुताबिक रुपहले पर्दे की ये हिरोईन पिछले 12 साल से आध्यात्म की दुनिया में डूब गई थी. ममता की चुप्पी ने मीडिया में कई सवाल खड़े किए. ममता का पता तलाशते-तलाशते वाले शादी से लेकर बिग बॉस सीजन सेवन में ममता की इंट्री की खबरें भी छप गईं लेकिन ममता इससे भी इंकार करती हैं.

 

करीब 40 साल की हो चुकी ममता कुलकणी ने अपनी निजी जिंदगी पर पर्दा डाल दिया था. पर्दे पर उनकी अदाओं की परछाइयों के सिवा सच तलाशना मुश्किल हो गया था और अब उससे भी ज्यादा मुश्किल हो गया है ये जानना कि ममता कुलकर्णी जो दावे कर रही हैं उसमें कितनी हकीकत है और कितना फसाना.

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: mamta kulkarni exclusive
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017