याकूब के तरफदारों से एक बेटे की आह- ब्लास्ट में मेरी मां के चिथड़े-चिथड़े उड़ गए

By: | Last Updated: Wednesday, 29 July 2015 8:32 AM

नई दिल्ली: याकूब की फांसी को लेकर कहीं उसके पक्ष में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं तो कहीं याकूब के पक्ष में बोलने वालों के खिलाफ निशाना साधा जा रहा है. बैंगलोर में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर फांसी का विरोध किया है.

 

जबकि महाराष्ट्र विधानसभा के बाहर मुंबई में शिवसेना के विधायक प्रदर्शन कर रहे है और याकूब का समर्थन करने वालों की तस्वीर पर चप्पलों से पिटाई कर रहे है.

 

1993 के ब्लास्ट के पीड़ित तुषार देशमुख आज महाराष्ट्र विधानभवन पहुंच गए. तुषार अपने साथ 1600 लोगो के साइन वाला पत्र लेकर पहुंचे. तुषार मांग की है कि याकुब मेमन को जल्द फांसी दी जाए.

तुषार का कहना है, ”आज विधानभवन की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि मैंने बम ब्लास्ट में अपनी मां को गंवाया है. जब एक बम ब्लास्ट में एक 13 साल का लड़का अपनी मां के टुकड़े-टुकड़े देखता है तब उसे पता चलता है कि 1993 में हुआ ब्लास्ट कितना भयंकर था. आज याकूब के फांसी पर हमें विश्वास था. जो इस पर कोई बवाल उठाना चाहते हैं उनसे कहना चाहता हूं कि उस ब्लास्ट में अलग-अलग बहुत सारे धर्म के लोग थे. जो न्याय हुआ है अच्छा हुआ है.”

 

तुषार की मांग है कि जो जनता चाहती है वही हो. तुषार ने कहा, ”नितिन गडकरी से मिला हूं, मुख्यमंत्री से मिला हूं. तुषार का कहना है कि जो भी आज न्याय का उल्लंघन कर रहा है उनपर देशद्रोह लगना चाहिए, ऐसे लोग देश में रहने लायक नहीं हैं. जो जनता चाहती है वही होना चाहिए.”

 

पीड़ित बेटे ने कहा- मुंबई ब्लास्ट में मेरी मां के चिथड़े-चिथड़े उड़ गए 

 

आपको बता दें कि 1993 में मुंबई में हुए सीरियल ब्लास्ट में तुषार की मां की मौत हो गई थी. तुषार ,सीएम, राज्यपाल से भी मिलेंगे. समर्थन के लिए विधायकों के दस्तखत भी ले रहे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Man who lost mother in 1993 Bomb blasts wants Yakub Memon hanged
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: 1993 blast mumbai blast Yakub Memon
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017