पहली बार सीमा पार कार्रवाई कर सेना ने उग्रवादियों को मार गिराया!

By: | Last Updated: Tuesday, 9 June 2015 12:55 PM

नई दिल्ली: देश की सेना ने पहली बार सीमा पार जाकर म्यांमार की सेना के साथ मिलकर उग्रवादियों को मुंहतोड़ जवाब दिया है. म्यांमार सेना के साथ मिलकर भारतीय सेना ने उग्रवादगियों के दो ठिकाने पर हमला करते हुए कई उग्रवादियों को मार गिराया.

 

आपको बता दें कि भारतीय सेना की तरफ से यह हमला हाल ही में म्यांमार सीमा पर भारतीय सैनिकों पर उग्रवादियों की तरफ से किए गए हमले के जवाब में किया गया जिसमें 18 भारतीय सैनिकों की मौत हो गई थी.

 

सेना को खबर मिली थी कि वही गुट फिर से हमले की साजिश रच रहा है लेकिन सेना ने सीमा पार करके उग्रवादियों के मंसूबों को नाकाम कर दिया. मंगलवार की सुबह नागालैंड और मणिपुर की सीमा से सटे म्यांमार के दो इलाकों में सेना की टुकड़ियां घुसीं और उग्रवादियों को खत्म किया.

 

हर टुकड़ी में 25-30 कमांडो मौजूद थे. हेलिकॉप्टर से पैरा कमांडो फोर्स के सैनिक म्यांमार की सीमा में घुसे और कम से कम 15 उग्रवादियों को मार गिराया.

 

बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद सेना ने म्यांमार की सेना से बातचीत की और भरोसे में लिया और सीमा पार गई भारतीय सेना.

इकनॉमिक टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक मणिपुर के चंदेल में हमले के बाद करीब दर्जन भर उग्रवादी म्यामार की सीमा में वापस लौट गए थे. म्यांमार से सटी भारत की सीमा 1643 किलोमीटर लंबी है और दोनों सीमाओं के बीच आज तक फेंसिंग नहीं हुई. इसलिए सेना को पार कर ऑपरेशन को अंजाम देने में ज्यादा दिक्कत नहीं हुई.

 

4 जून को 6 डोगरा राइफल्स की एक कंपनी के काफिले पर उग्रवादियों ने पहले आईईडी से धमाका किया था और फिर रॉकेट लॉन्चर और गोलियां दागी थीं. हमले में अठारह जवान शहीद हुए थे.एनएससीएन (खापलांग) ने हमले की जिम्मेदारी ली थी और अब चार दिन के भीतर ही सेना ने करारा जवाब दे दिया.

 

म्यामांर में सेना के ऑपरेशन की पूरे देश में तारीफ हो रही है. सरकार ने कहा है कि इस ऑपरेशन से आतंकियों में सख्त संदेश जाएगा. म्यांमार की सीमा में घुसकर पैरा कमांडो ने किया आपरेशन. सूत्रों के मुताबिक हेलिकॉप्टर से म्यांमार में घुसे एलिट कमांडो फोर्स ने कम से कम 15 आतंकियों को मार दिया.  इनमें उल्फा, एनएससीएन, पीएलए और मणिपुर के मैती ग्रुप के आंतकी शामिल थे.

 

इससे पहले मणिपुर में सक्रिय 34 संगठनों ने मिलकर यूनाइटेड नेशनल लिब्रेशन फ्रंट ऑफ वेस्ट ऑफ साउथ ईस्ट एशिया unlfwse बनाया है और इनकी मांग अलग राष्ट्र की है. इसी मोर्चे ने 33 सालों में सेना पर सबसे बड़े हमले को अंजाम दिया था. अब शहीदों के परिवार को सेना के ऑपरेशन से संतोष मिला है.

यह भी पढ़ें:-

मणिपुर में उग्रवादियों के किया घात लगाकर हमला, सेना के 20 कर्मियों की मौत और 10 घायल

मणिपुर में सेना पर हुए हमले की चार उग्रवादी संगठनों ने ली जिम्मेदारी, कल हुए हमले में शहीद हो गए थे 18 जवान

पीएम मोदी ने की मणिपुर में हुए हमले की कड़ी निंदा

उग्रवादियों के हमले में सेना के चार जवान घायल 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: MANIPUR attack
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Army attack Indian manipur terrorist
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017