इस्तीफे के बाद मांझी बोले, 'गुप्त मतदान हो तो मुझे अब भी बहुमत'

By: | Last Updated: Friday, 20 February 2015 6:39 AM

नई दिल्ली:बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया और आरोप लगाया कि उनके समर्थक विधायकों को जान से मारने की धमकी तक दी गई.

 

उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी पर भी पक्षपात का आरोप लगाया. मांझी ने एक संवददाता सम्मेलन में कहा कि उन्होंने सुबह करीब 10.30 बजे राजभवन में राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से मुलाकात कर अपना इस्तीफा दे दिया.

 

उन्होंने हालांकि अब भी अपने पास 140 विधायकों का समर्थन होने का दावा किया. लेकिन बकौल मांझी उन्होंने विधानसभा में पैदा हुए खराब हालात, समर्थकों को जान से मारने की धमकी, विधानसभा अध्यक्ष के पक्षपातपूर्ण रवैये के कारण इस्तीफा देने का निर्णय लिया.

 

मांझी ने 140 विधायकों का समर्थन होने का दावा किया. मांझी ने आरोप लगाया कि बिहार विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने गैर संवैधानिक और स्वेच्छाचारी आचरण किया. मेरे मंत्रियों तथा विधायकों को विश्वास मत से पहले जान से मार डालने की धमकी दी गई.

 

इस्तीफे के बाद प्रेस कांफ्रेंस में मांझी ने कहा कि विधानसभा की सीटिंग व्यवस्था समझ में नहीं आई. मेरे समर्थक विधायकों के लिए सीटिंग व्यवस्था नहीं थी.

 

मांझी ने स्पीकर के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि स्पीकर ने गलत फैसले लिए. मांझी ने कहा कि स्पीकर के आचरण पर संदेह हुआ और कहा कि पता नहीं स्पीकर ने यह किसके कहने पर किया. स्पीकर ने हमारी गुप्त मतदान की बात नहीं मानी. अगर गुप्त मतदान हो तो हमारे पास आज भी बहुमत है. उन्होंने कहा कि स्पीकर ने संविधान के तहत आचरण नहीं किया और हालात देखकर लगा कि हमें इस्तीफा दे देना चाहिए.

 

मांझी ने कहा कि, राज्यपाल किसी को सरकार के लिए बुलाएं, या अपने विवेक से इस्तीफा लें. जेडीयू के 40 से52 विधायक मेरे साथ हैं. मांझी ने कहा कि नीतीश कुमार खेमे की तरफ से विधायकों की खरीद-फरोख्त की गई, उन्हें मंत्री पद देने और इस वर्ष के अंत में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाए जाने का प्रलोभन दिया गया .

 

इसके साथ ही मांझी ने नीतीश कुमार को महाभारत के भीष्म पितामह की संज्ञा देते हुए कहा कि उनके साथ गलत व्य.वहार होने पर , गालियां मिलने पर भी नीतश कुमार सब कुछ चुपचाप देखते रहे. मैं नीतीश कुमार जी को आदर्श पुरुष मानता था, उन्होंने मिझे 15 महीनों के लिए सीएम की जिम्मेदारी थी लेकिन वो सब कुछ चुपचाप देखते रहे. मुझे ठीक से काम नहीं करने दिया गया.

 

संबंधित खबरें-

LIVE: मांझी ने दिया इस्तीफा, राज्यापाल ने किया इस्तीफा मंजूर 

जीतन राम मांझी ने बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया  

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: manjhi_after_resign
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017