मन की बात: फीफा के साथ पीएम ने देश को खेलों के रंग में रंगने को कहा

By: | Last Updated: Sunday, 27 March 2016 12:41 PM
Mann Ki Baat:  Mann ki baat: FIFA Under-17 an opportunity to revive interest in football: PM Modi

नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज बताया कि भारत फीफा अंडर 17 विश्व कप फुटबॉल प्रतियोगिता की अगले वर्ष मेजबानी करेगा. पीएम ने देश में फुटबाल के आधारभूत ढांचे का विकास करने और इस खेल को गांव-गांव, गली-गली तक पहुंचाने के सरकार के प्रयासों का जिक्र भी किया.

आकाशवाणी पर प्रसारित ‘मन की बात’ कार्यक्रम में अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने इस बात पर दुख व्यक्त किया कि पिछले कुछ दशकों में भारत फीफा फुटबॉल रैंकिंग में काफी निचले पायदान पर चला गया है जबकि 1951, 1962 एशियाई खेलों में भारत ने स्वर्ण पदक जीता था और 1956 ओलंपिक खेल में भारत चौथे स्थान पर रहा था. मोदी ने कहा, ‘‘ अंडर 17 विश्वकप एक ऐसा अवसर है जो इस एक साल के भीतर-भीतर चारों तरफ नौजवानों के अन्दर फुटबाल के लिए एक नया जोश, नया उत्साह भर देगा . इस मेजबानी का एक फायदा तो यह है ही कि हमारे यहां फुटबाल का आधारभूत ढांचा तैयार होगा. खेल के लिए जो आवश्यक सुविधाएं हैं उस पर ध्यान जाएगा. मुझे तो इसका आनंद तब मिलेगा जब हम हर नौजवान को फुटबॉल के साथ जोड़ेगें.

इस प्रतियोगिता के बारे में लोगों से सुझाव मांगते हुए उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपेक्षा करता हूं कि साल 2017 की मेजबानी का अवसर कैसा हो, साल भर का हमारा कैसा कार्यक्रम हो, प्रचार कैसे हो, व्यवस्थाओं में सुधार कैसे हो, खेल के साथ जुड़ने की स्पर्धा कैसे उत्पन्न हो, इस पर ध्यान दिया जाए . फीफा अंडर 17 विश्वकप के माध्यम से भारत के नौजवानों में खेल के प्रति रूचि कैसे बढ़े. इस बारे में सरकारों में, शैक्षिक संस्थाओं में, अन्य सामाजिक संगठनों के स्तर पर हमें चीजें लानी हैं. ’’

football

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ इससे हमारे यहां खेल के आधारभूत ढांचे का भी विकास हो सकेगा और हम सब की कोशिश है कि फुटबाल को गांव.गांव, गली.गली तक पहुंचाया जाए. जहां 65 प्रतिशत जनसंख्या नौजवान हों और खेलों की दुनिया में हम खो गए हों, वहां ऐसी स्थिति ठीक नहीं है. समय है, खेलों में एक नई क्रांति के दौर का. और हम देख रहे हैं कि भारत में क्रिकेट की तरह अब फुटबॉल, हॉकी, टेनिस, कबड्डी में मूड बनता जा रहा है. अगले वर्ष 2017 में भारत फीफा अंडर-17 विश्वकप की मेजबानी करने जा रहा है. विश्व की 24 टीमें भारत में खेलने के लिए आ रही हैं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ साल 1951, 1962 एशियाई खेलों में भारत ने स्वर्ण पदक जीता था और साल 1956 ओलंपिक खेलों में भारत चौथे स्थान पर रहा था. लेकिन दुर्भाग्य से पिछले कुछ दशकों में हम निचले पायदान पर ही चलते गए, नीचे ही गिरते गए, गिरते ही गए. आज तो फीफा में हमारी रैंकिंग इतनी नीचे है कि मेरी बोलने की हिम्मत भी नहीं हो रही है.’’ मोदी ने कहा कि इन दिनों भारत में युवाओं की फुटबॉल में रूचि बढ़ती जा रही है . ईपीएल हो, स्पैनिश लीग हो या इंडियन सुपर लीग के मैच हो . भारत का युवा उसके विषय में जानकारी पाने के लिए, टीवी पर देखने के लिए समय निकाल लेते है.

पीएम ने ‘मन की बात’ में जल संचरण की भी बात करते हुए कहा कि पुरानी पद्धति को नहीं अपनाने के कारण ही देश में कई जगह सूखा प्रभाव देखने को मिल रहा है. इससे निपटने के लिए पीएम मोदी ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि बरसात की पहली बूंदों को तालाबों एवं झीलों में संचारित किया जाए. तभी इस समस्या से निपटा जा सकेगा.

 पीएम मोदी ने पर्यटन को रोजगार देने वाली एक क्षेत्र रेखांकित करते हुए कहा कि भारत इस अवसर को भुनाने में काफी पीछे रह गया है. विश्व को आर्कषित करने के लिए यह जरुरी है कि खेलों सहित पर्यटन में देश आने वाले पर्यटकों को भारत की सांस्कृतिक पहचान उजागर किया जाए, इससे रोजगार सहति संपूर्ण विश्व में भारत का नाम रोशन होगा. जो काम टूरिस्ट डिपार्टमेंट, कल्चर डिपार्टमेंट नहीं कर सकते, वो काम देश के करोड़ों प्रवासियों ने कर दिया.

उन्होंने कहा कि जब मुख्यमंत्री नहीं था, प्रधानमंत्री नहीं था और आप ही की तरह छोटी उम्र थी, मैंने बहुत भ्रमण किया, शायद हिन्दुस्तान का कोई जिला नहीं होगा, जहां मुझे जाने का अवसर न मिला हो. ज़िन्दगी को बनाने के लिए प्रवास की एक बहुत बड़ी ताक़त होती है और अब भारत के युवकों में, प्रवास में साहस जुड़ता चला जा रहा है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Mann Ki Baat: Mann ki baat: FIFA Under-17 an opportunity to revive interest in football: PM Modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017