युद्ध मशीनरी को तैयार रखना जरूरी: पर्रिकर

By: | Last Updated: Friday, 14 August 2015 3:28 PM

नयी दिल्ली: रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज कहा कि युद्ध मशीनरी को तैयार रखना और कम समय के भीतर अग्रिम मोचरें पर सैनिकों को जमा करने में सक्षम रहना सीमा पार से किसी भी दुस्साहस को रोकने के लिए जरूरी है.

 

देश के 69वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आकाशवाणी के जरिए सशस्त्र बलों को दिए अपने पहले संबोधन में पर्रिकर ने कहा कि हथियार प्रणाली एवं उपकरण को निरंतर उन्नत और आधुनिक बनाने की जरूरत है.

 

उन्होंने अपने पूर्व में रिकॉर्डेड संबोधन में कहा कि सरकार सीमा पार से किसी तरह के दुस्साहस को रोकने और देश की सीमाओं पर चौकसी बनाए रखने की जरूरत से पूरी तरह अवगत है.

 

पर्रिकर ने कहा, ‘‘ऐसे में अपनी युद्ध मशीनरी को तैयार रखना और कम समय के भीतर सैनिकों को अग्रिम मोर्चे पर जमा करने में सक्षम होना अनिवार्य है. इस समय हथियार प्रणाली एवं उपकरण को निरंतर उन्नत और आधुनिक बनाने की जरूरत है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘हमने अपने जवानों को सर्वश्रेष्ठ हथियारों से युक्त करने के लिए कई कदम उठाए हैं तथा निरंतर इसका प्रयास कर रहे हैं कि अधिकतम हथियार स्वदेशी हों. सत्तासीन होने के बाद से हमारी सरकार ने 1,60,000 करोड़ रूपये की खरीद के प्रस्तावों को हरी झंडी दी है.’’ मंत्री ने कहा कि सरकार युद्धपोतों, पनडुब्बियों और नौसैन्य हेलीकॉप्टरों के जरिए नौसेना को भी उन्नत बनाने के लिए कदम उठा रही है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Manohar Parrikar on security
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017