संस्मरण: जब मैंने कैलाश जी से यह पूछा तो उन्होंने दिया दिलचस्प जवाब

By: | Last Updated: Saturday, 11 October 2014 10:50 AM

नई दिल्ली : आज का दिन मेरे लिए भी काफी खुशी का है. जिन कैलाश सत्यार्थी को शांति का नोबेल पुरस्कार मिला है उनके साथ मुझे भी करीब एक साल तक काम करने का मौका मिला था.

 

भारत के कैलाश सत्यार्थी और पाकिस्तान की मलाला यूसुफजई को मिला शांति नोबेल पुरस्कार 

1997-98 की बात है, बचपन बचाओ आंदोलन की अगुवाई में बाल मजदूरी के खिलाफ पूरी दुनिया में ग्लोबल मार्च आयोजित किया गया था. बाल मजदूरी की समस्या का सबसे बड़ा क्षेत्र दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया के देशों में है. कैलाश जी के साथ बात हो रही थी उसी दरम्यान मैंने उनसे पूछा कि अमेरिका और यूरोप में बाल मजदूरी की समस्या जब नहीं है फिर हम ग्लोबल मार्च क्यों निकाल रहे हैं?

 

कौन हैं नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी? 

मैंने ये भी कहा कि बाल मजदूरी के खिलाफ पूरी दुनिया में अलख जगाने की चुनौती काफी बड़ी होगी लिहाजा हम दक्षिण एशिया के देशों मसलन भारत, बांग्लादेश, नेपाल और श्रीलंका पर ज्यादा ध्यान दें. कैलाश जी ने बड़ा दिलचस्प जवाब दिया. उनका कहना था कि अगर संसाधनों की कमी की वजह से ग्लोबल मार्च को सीमित करना पड़े तो हम एशिया के बजाय यूरोप और अमेरिका में बाल मजदूरी के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाएंगे.

 

मैंने पूछा ऐसा क्यों, उनका जवाब था जिस दिन यूरोप और अमेरिका में लोग भारत में बाल मजदूरों के बनाए सामान खरीदना छोड़ देंगे हमारे यहां के बच्चे मजदूरी के बोझ से अपने आप मुक्त हो जाएंगे. बहरहाल पैसे की कमी नहीं रही. कनाडा की डोनर एजेंसी मदद के लिए आगे आई. बाल मजदूरी के खिलाफ पूरी दुनिया में ग्लोबल मार्च निकाला गया. पहली बार यूरोप और अमेरिका के लोग दिल्ली, कोलकाता, लाहौर, सियालकोट, ढाका और काठमांडू की सड़कों पर उन बच्चों के साथ कतमताल करते देखे गए जिन्हें बंधुआ मजदूरी से मुक्ति दिलाई गई थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Manoj Malayanil worked with kailash satyarthi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Kailash Satyarthi nobel
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017